सर्दी के मौसम में ड्राई बालों की समस्या को सुलझाने के लिए लें इन हर्ब्स की मदद, जानें अप्लाई करने का तरीका

सर्दियों के मौसम में शुष्क हवाओं की चपेट में आने से बालों में रूखापन बढ़ने लगता है। जानते हैं वो कौन सी हर्ब्स हैं, जो बालों को सेहतमंद बनाने में फायदा पहुंचाती हैं (Benefits of herbs for hair) ।
herbs to maintain body heat
बॉडी हीट को मैनेज करने में मदद करेंगे ये खास हर्ब्स। चित्र अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Published: 25 Dec 2023, 06:30 pm IST
  • 140

लंबे और घने बाल किसे पसंद नहीं है। ऐसे में बालों की खूबसूरती को बढ़ाने के लिए अक्सर लोग कई प्रकार के शैम्पू, कंडीशनर और सीरम का प्रयोग करते हैं। मगर कई बार आवश्यकता से अधिक केमिकल युक्त प्रोडक्टस का इस्तेमाल करने से हेयरफॉल और ग्रे हेयर की समस्या का सामना भी करना पड़ता है। इन दिनों हेयर कलरिंग भी खूब चलन में है, जो बालों के टैक्सचर को प्रभावित करती है। सर्दियों के मौसम में शुष्क हवाओं की चपेट में आने से बालों में रूखापन भी बढ़ने लगता है। ऐसी स्थिति में बालों को नेचुरली हेल्दी और मुलायम बनाने के लिए बगीचे में मौजूद इन हर्ब्स का इस्तेमाल कारगर साबित हो सकता है। जानते हैं वो कौन सी हर्ब्स हैं, जो बालों को सेहतमंद बनाने में फायदा पहुंचाती हैं (benefits of herbs for hair)।

बालों को हेल्दी रखने के लिए इन हर्ब्स का करें प्रयोग

1. नीम है बेहद गुणकारी (Neem)

सर्दी के मौसम में स्कैल्प का रूखापन बढ़ता है, जो खुजली और रूसी का कारण साबित होता है। नीम में मौजूद विटामिन ई, फैटी एसिड, लीमोनॉइडस और एंटीऑक्सीडेंटस बालों के टैक्सचर को हेल्दी बनाते हैं। इससे हेयर फॉलिकल्स को मज़बूती मिलती है, जो बालों को टूटने और झड़ने से भी बचाते हैं।

कैसे करें इस्तेमाल

नीम की पत्तियों को धोकर 1 कटोरी सरसों के गर्म तेल में डालें और रंग बदलने तक पकने दें। तेल के हल्का ठण्डा होने के बाद उसे छालकर बालों की जड़ों में लगाएं। इससे बालों का रूखापन कम होने लगता है। इसके अलावा नीम के पेस्ट को एलोवेरा तेल में मिलाकर बालों के बीचों बीच लगाएं। उससे बालों में किसी भी प्रकार की एलर्जी से राहत मिलती है।

dandruff ke liye gharelu upaay
हाइड्रेटिंग गुणों से भरपूर नीम का तेल बालों को पोषण प्रदान करता है। चित्र : शटरस्टॉक

2. रोज़मेरी (Rosemary)

हाइड्रेटिंग गुणों से भरपूर रोज़मेरी का तेल बालों को पोषण प्रदान करता है। इससे समय से पहले सफेद होने वाले बालों की समस्या भी हल हो जाती है। सुईनुमा आकार की इन पत्तियों में कार्नोसिक एसिड पाया जाता है। इससे बालों की तमाम समस्याओं को हल किया जा सकता है।

कैसे करें प्रयोग

रोज़मेरी ऑयल को नारियल के तेल में मिलाकर स्कैल्प पर लगाने से बालों की ग्रोथ बढ़ने लगती है। इसके अलावा रोजमेरी तेल की कुछ बूंदों को शैम्पू में डालकर हेयरवॉश करने से बालों का रूखापन दूर होने लगता है। सप्ताह में रोज़मेरी ऑयल का प्रयोग अवश्य करें।

3. पुदीना (Mint leaves)

बालों को मॉइस्चराइज करने के लिए पुदीने से बेहतर कोई भी नहीं है। एंटी माइक्रोबियल और एंटी बैक्टीरियल गुणों से भरपूर पुदीने की मदद से स्कैल्प पर रूखेपन के कारण होने वाली ख्ुजली और किसी भी प्रकार की एलर्जी से बचा जा सकता है। इसके अलावा बालों की चिपचिपाहट को भी पुदीने की पत्तियों की मदद से दूर किया जा सकता है।

कैसे करें प्रयोग

सबसे पहले मुट्ठी भर पुदीने की पत्तियां लेकर उन्हें धो ले और ग्राइंड करें। अब उस पेस्ट में लेमन जूस मिलाकर बालों में लगाएं। इससे स्कैल्प की चिपचिपाहट दूर होने लगती है। वहीं पुदीने की पत्तियों में एलोवेरा जेल मिलाकर लगाने से समय से पहले बढ़ने वाली ग्रे हेयर की समस्या और बालों का रूखापन दूर होने लगता है।

mint essential oil ke hair benefits
बालों को मॉइस्चराइज करने के लिए पुदीने से बेहतर कोई भी नहीं है। चित्र:शटरस्टॉक

4. मोरिंगा (Moringa)

मोरिंगा प्रोटीन का रिच सोर्स है, जो बालों में बढ़ने वाली रूसी की समस्या को कम करता है और रूखापन भी हटाता है। बालों को मॉइश्चराइज़ करने के साथ हेयरफॉल की समस्या भी दूर करता है। मोरिंगा की पत्तियों में विटामिन, मिनरल और अमिनो एसिड पाए जाते हैं, जो बालों के टैक्सचर को मज़बूत बनाते हैं।

कैसे करें प्रयोग

मोरिंग पाउडर में समान मात्रा में मेथीदाना पाउडर डालें। इन मिश्रण को पेस्ट की फॉर्म में लाने के लिए आवश्यकतानुसार दही को मिलाएं। इस पेस्ट को बालों की जड़ों में लगाएं। इसके अलावा मोरिंगा ऑयल को बालों में लगाने के 30 मिनट के बाद बालों को धोएं। इससे भी बालों की शाइन बरकरार रहती है।

ये भी पढ़ें- हेयर फॉल से लेकर डैंड्रफ तक से छुटकारा दिला सकती है गाजर, जानिए इस्तेमाल का सही तरीका

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

  • 140
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख