सबके लिए नहीं है मेथी का पानी, यहां जानिए इसके 9 साइड इफेक्ट

Published on: 11 May 2022, 19:53 pm IST

मेथी का पानी पीना कई समस्याओं का समाधान है। पर यह सभी के लिए काम करे, यह जरूरी नहीं है। इसलिए आप उन साइड इफैक्ट्स को भी नजरअंदाज नहीं कर सकते, जो मेथी का पानी आपको दे सकता है।

methi pani nuksan bhi pahuncha sakta hai
मेथी पानी आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

डायबिटीज हो, बाल झड़ रहे हों, भूख न लगे या कब्ज की शिकायत हो, तो ज्यादातर लोग आपको मेथी का पानी (Methi water) पीने की सलाह देते हैं। पेट दर्द की शिकायत होने पर मेरी मम्मी भी हर बार मुझे यही पानी पीने की सलाह दिया करती हैं। वे ऐसा सिर्फ मेरे लिए नहीं करती, बल्कि घर में किसी को भी ये ऐसी कोई भी शिकायत हो, तो वे मेथी के पानी की ही सिफारिश करती हैं। हालांकि सीमित मात्रा में और विशेषज्ञ सलाह पर मेथी का पानी (Fenugreek seeds water) फायदा ही करता है। पर यह भी सच है कि हर चीज, हर एक को सूट नहीं करती। यह हाल मेथी के पानी का भी है। कुछ लोगों को मेथी का पानी पीने से फायदे से ज्यादा नुकसान देखने को मिलते हैं। आज हम उन्हीं चीजों की पड़ताल करने वाले हैं। आइए जानते हैं मेथी के पानी के कुछ साइड इफैक्ट्स (Methi water side effects)।

कैसे तैयार किया जाता है मेथी का पानी

अमूमन वेट लॉस, फैट बर्न, जोड़ों के दर्द और हाजमे के लिए मेथी का पानी पीना फायदेमंद माना जाता है। मेथी पानी आसानी से बनाया जा सकता है। शरीर के ज्यादा फायदा और कम नुकसान होने के कारण मेथी पानी को लेने के लिए वरीयता दी जाती है। इसे बनाने के दो तरीके हैं। तैयार करने से पहले जाने किन सामग्रियों की जरुरत पड़ती है।

मेथी पानी बनाने के लिए सामग्री

मेथी के बीज या दाने
पानी

पहला तरीका

सबसे पहले एक चम्मच मेथी बीज और एक गिलास पानी एक बर्तन में मिलाकर रात भर करीब 12 से 14 घंटा भिगों लें। फिर इस्तेमाल करने से पहले उसे छान लें।
इस तरह आपका मेथी पानी बनकर तैयार है।
अब सुबह खाली पेट इसे लिया जा सकता है।

यह भी पढ़ें :- इस शोध के अनुसार दाल-चावल, साग-सब्जी भी दे सकते हैं आपके बच्चे को पूरा पोषण

दूसरा तरीका

तवे पर हल्का सा तेल डालकर एक चम्मच मेथी बीच को फ्राई कर लें फिर उसे पीस लें।
अब एक गिलास गर्म पानी में तैयार किया गया पाउडर मिलाकर अच्छे से घोल लें।
आपका मेथी पानी बनकर तैयार हैं।

कब नुकसान देता है मेथी का पानी

इतनी सारी सलाह पाकर कभी-कभार ऐसा लगता यदि हर रोज मेथी का पानी पिया जाए, तो शायद ये समस्याएं हो ही नहीं। लेकिन जब मेरी छोटी बहन ने हर रोज मेथी का पानी लेना शुरू किया, तो उसे इसके बिल्कुल उलट प्रभाव देखने को मिले। मेथी का पानी पीने के बाद उसे घबराहट महसूस होने लगती है या फिर वोमिटिंग। एक बार तो ऐसा भी हुआ कि मेथी पानी लेने के बाद खट्टी डकार और पेट में बार-बार गैस बनने की शिकायत शुरु हो गई।

यानी यह जरुरी नहीं कि हर किसी को मेथी पानी लेने से फायदा ही होगा। कई लोगों को ये नुकसान भी पहुंचाती है। इसलिए आज हम आपको बता रहे हैं मेथी का पानी पीने के कुछ साइड इफैक्ट्स (Side effects of methi water)।

यह भी पढ़ें :- इन टेस्टी ड्रिंक्स के साथ बनाएं अपने बच्चे के डाइजेस्टिव सिस्टम को हैप्पी और हेल्दी

यहां हैं लगातार मेथी का पानी पीने के साइड इफेक्ट (Side effects of methi water)

1 गर्भपात होने का खतरा (Miscarriage)

प्रेगनेंट महिलाओं को मेथी पानी लेने से बचना चाहिए। क्योंकि कुछ महिलाओं में यह गर्भपात (Miscarriage) का कारण बन जाता है। बॉयोमेड सेन्ट्रल प्रेगनेंसी एंड चाइल्डबर्थ में छपे एक शोध के मुताबिक, प्रेगनेंट महिलाओं में गर्भपात (Miscarriage) उनके खानपान सहित तमाम पहलुओं पर निर्भर करता है। कई बार मेथी से बने आहार देने के कारण भी गर्भपात (Miscarriage) हो सकता है।

2 एलर्जी की प्रतिक्रिया (Allergic Reaction)

कुछ लोगों को मेथी पानी लेने से त्वचा संबंधी परेशानी शुरु होने लगती है। उनकी त्वचा पर सूजन या दर्द एलर्जी के रूप में उभरता है। ऐसे लोगों को मेथी पानी से परहेज करनी चाहिए। अमेरिकन कालेज ऑफ एलर्जी, अस्थमा एंड इम्युनोलॉजी द्वारा त्वचा संबंधी मरीजों की स्किन खरोचकर टेस्ट किए जाने पर पता चला कि उन्हें मेथी से एलर्जी की शिकायत होने के कारण बीमारियां पैदा हुई हैं।

3 दमा (Asthma)

मेथी पानी लेने से कई लोगों को सांस लेने में दिक्कत महसूस होने लगती है। ऐसे लोगों को डॉक्टर से परामर्श लेने के बाद ही मेथी पानी लेने पर विचार करना चाहिए।

methi pani pine se ho sakati hai dast
मेथी पानी पीने से दस्त भी हो सकती है। शटरस्टॉक

4 दस्त (Diarrhea)

कई लोगों को मेथी पानी लेने के बाद खट्टी डकार आनी शुरु हो जाती हैं। ऐसे में शरीर असहज होने लगता है और कुछ लोगों को इसे लेने के बाद दस्त शुरु हो जाते हैं। अगर आप के साथ भी ऐसा कुछ हो रहा है, तो मेथी पानी लेने से परहेज करें।

यह भी पढ़ें :- कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल रखना है तो खाएं लहसुन का अचार, नोट कीजिए रेसिपी

5 आंत में गैस बनने के कारण पेट फूलना (Flatulence)

मेथी पानी लेने के बाद कुछ लोगों को अपच होने की शुरुआत हो जाती है। ऐसे लोगों के आंत में मौजूद बैक्टीरिया गैस बनाना शुरु कर देते हैं। जिसकी वजह से वे असहज महसूस करने लगते हैं।

6 लो ब्लड शुगर यानी हाइपोग्लाइसीमिया (Low blood sugar or hypoglycemia)

लो ब्लड शुगर यानी हाइपोग्लाइसीमिया एक प्रकार की डॉयबिटीज है। डॉयबिटीज के मरीजों को मेथी पानी की मात्रा पर विशेष ध्यान देने की जरुरत होती है। ऐसे लोगों को मेथी पानी लेने से हमेशा सावधान रहना चाहिए।

7 सांस लेते समय घरघराहट (Wheezing)

कुछ लोगों में मेथी पानी की वजह से सांस लेने के दौरान गले से घरघराहट की आवाज सुनाई देने लगती है। दरअसल ऐसे लोगों में सांस लेने में मदद करने वाले प्रमुख अंगो में एलर्जी होने लगती है। जिससे वे अंग असहज होने लगते हैं और घरघराहट की आवाज आने लगती है।

यह भी पढ़ें ;- सुपरफूड है तरबूज, पर क्या आप जानती हैं इसे खाने का सही समय और तरीका?

8 बच्चों के शरीर से अजीबोगरीब गंध आने लगती है (Unusual body odor)

बच्चों को मेथी पानी देने से परहेज करना चाहिए। बिना डॉक्टर (पीडियाट्रिशन) की सलाह के उन्हें ये देने से बचना चाहिए। क्योंकि मेथी पानी लेने के बाद ज्यादातर बच्चों के शरीर से अजीबोगरीब गंध आनी शुरु हो जाती है।

9 बच्चों में चेतना का नुकसान (Loss of consciousness)

मेथी पानी कुछ बच्चों में चेतना की कमी का कारण बन जाता है। बिना डॉक्टर (पीडियाट्रिशन) से सलाह लिए उन्हें इसे देने से बचना चाहिए।

डॉयबिटीज के मरीज, प्रेगनेंट महिला, बच्चे और जिन्हें मेथी पानी से एलर्जी की शिकायत हो वे सभी बिना डॉक्टर के परामर्श के मेथी का पानी पीने से परहेज करें।

यह भी पढ़ें :- पेट की गैस ने कर दी है गड़बड़, तो इन 5 तरीकों से पाएं इंस्टेंट रिलीफ

मिथिलेश कुमार पटेल मिथिलेश कुमार पटेल

भारतीय जनसंचार संस्थान, नई दिल्ली से पत्रकारिता में डिप्लोमा कर चुके मिथिलेश कुमार सेहत, विज्ञान और तकनीक पर लिखने का अभ्यास कर रहे हैं।