बालों में डैंड्रफ की समस्या से हैं परेशान, तो इन नुस्खों का करें प्रयोग

बालों में डैंड्रफ़ के चलते स्कैल्प का नेचुरल ऑयल कम होने लगता है। जानते हैं कैसे आसान और घरेलू उपायों की मदद से बालों की रूसी को दूर किया जा सकता है।
dandruff bhi kisi beemari ka sanket ho sakta hai.
घी जरूरी फैटी एसिड, विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट होते है और यह बालों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। चित्र शटरस्टॉक।
ज्योति सोही Published: 8 Aug 2023, 16:17 pm IST
  • 144

बालों में डैंड्रफ का होना एक आम समस्या है। स्कैल्प का रूखापन बालों में रूसी का कारण बनने लगता है। दरअसल, स्कैल्प मालासेज़िआ ग्लोबोसा नाम की फंगस की चपेट में आ जाता है। इसके चलते बाल कमज़ोर होने लगते है और बालों में डैंड्रफ़ बढ़ने लगती है। इसका प्रभाव आपके चेहरे पर भी दिखने लगता है। इसके चलते चेहरे पर मुहांसों की समस्या बढ़ जाती है। दरअसल डैंड्रफ़ के चलते स्कैल्प का नेचुरल ऑयल कम होने लगता है। जानते हैं कैसे आसान और घरेलू उपायों की मदद से बालों की रूसी (hair dandruff) को दूर किया जा सकता है।

जानें कैसे रखें बालों को डैंड्रफ से मुक्त

1. नीम का तेल (Neem oil)

बालों में बढ़ रही रूसी स्कैल्प पर खुजली का कारण बनने लगती है। इस समस्या को दूर करने के लिए 8 से 10 नीम की पत्तियों को धोकर पानी में उबाल लें। जब पत्तियां नर्म हो जाएं, तो उन्हें पीसकर उन से एक लेप तैयार कर लें। अब उस लेप को पूरे स्कैल्प पर लगाएं और 10 से 15 मिनट तक लगा रहने दें। इसमें मौजूद एंटी बैक्टीरियल गुण (anti bacterial properties) बालों में बढ़ने वाले संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं। अब बालों को साधारण पानी से धो लें।
इससे बालों को इंफेक्शन देर होने के अलावा बाल मुलायम होने लगेंगे।

Tea-tree-oil-for-hair
जानिए रूसी से छुटकारा दिलाने में कैसे मददगार है टी ट्री ऑयल। चित्र शटरस्टॉक

2. टी ट्री ऑयल

एंटीबैक्टीरियल और एंटी फगंल प्रापर्टीज़ से भरपूर टी ट्री ऑयल बालों को हेल्दी और स्कैल्प के नरिशमेंट के लिए फायदेमंद है। टी ट्री ऑयल में समान मात्रा में नारियल का तेल मिला दें। इसके बाद इसे रूई की मदद से बालों के बीचों बीच पूरी तरह से लगा दें। 1 घण्टा बालों में लगे रहने के बाद बालों को माइल्ड शैम्पू से धो लें। इससे बालों का टैक्सचर भी इंप्रूव होने लगता है।

3. रतनजोत

बालों और स्किन के लिए फायदेमंद रत्नजोत को स्कैप्ल पर लगाने से रूसी की समस्या हल हो जाती है। इसे बालों में लगाने के लिए 2 चम्मच रत्नजोत को नारियल के तेल में डालें। उसके बाद उसमें 1/4 चम्मच कैस्टर ऑयल (castor oil) और 1/2 चम्मच मेथीदाना मिलाकर कुछ देर के लिए धूप में रख दें। आप चाहें, तो ये सामग्री पैन में डालकर कुछ देरे के लिए गर्म भी कर सकते हैं। इस तेल को हल्का गुनगुना होने पर बालों की जड़ों में लगाएं और फिर 40 से 50 मिनट के बाद बालों को हर्बल शैम्पू से धो लें।

4. मोरिंगा पाउडर (Moringa powder)

औषधीय गुणों से भरपूर मोरिंगा की पत्तियां, फूल और फल हमारी सेहत से लेकर बालों तक हर चीज़ के लिए लाभदायक है। प्रोटीन से भरपूर मोरिंगा पाउडर में विटामिन, कॉपर और जिंक की मात्रा पाई जाती है। इसे बालों पर लगाने के लिए दो चम्मच मोरिंगा पाउडर में समान मात्रा में मेथीदाना पाउडर को डालें। अब इसमें 1 चम्मच दही और एक चम्मच नारियल का तेल मिलाकर पेस्ट बनाकर पूरे बालों में लगा ले। इस पेस्ट को आधे घंटे तक बालों में लगाए रखे। जब ये पूरी तरह से सूख जाए, तो बालों को धो लें। इससे रूसी की समस्या हल हो जाएगी। साथ ही बालों में माइश्चर बरकरार रहेगा।

moringa ke fayde
औषधीय गुणों से भरपूर मोरिंगा की पत्तियां, फूल और फल हमारी सेहत से लेकर बालों तक हर चीज़ के लिए लाभदायक है। चित्र : एडोबी स्टॉक

5. लहसुन

लहसुन में एंटी माइक्रोबियल गुण पाए जाते हैं। इससे बालों में मौजूद फंगस दूर होने लगती है। 2 से तीन लहसुन की कलियों को सरसों के तेल में डालकर कुछ देर पकाएं। इसमें जैतून का तेल मिलाएं। अब हल्का गुनगुना होने पर बालों में लगा दें। आधे घण्टे तक बालों में लगे रहने दें। इससे बालों में मौजूद रूसी और रूखे स्कैल्प की समस्या खुद ब खुद समाप्त होने लगती है। सप्ताह में दो बार इस तेल को बालों में लगा सकते हैं।

इन बातों का रखें ख्याल

बालों को धोने के बाद साफ कंघी या हेयर ब्रश का इस्तेमाल करें। इसके अलावा अपना हेयर ब्रश किसी के साथ शेयर न करें।

हेयरवॉश के लिए कैमिकल मुक्त शैम्पू प्रयोग करें। साथ ही शैम्पू को रोज़ाना इस्तेमाल करने से बचे। इससे भी रूखे स्कैप्ल की समस्या बढ़ जाती है।

combing hair
गीले बालों में कॉम्ब न करें। इससे बालों के टूटने और झड़ने की समस्या बढ़ने लगती है। चित्र : एडॉबीस्टॉक

गीले बालों में कॉम्ब न करें। इससे बालों के टूटने और झड़ने की समस्या बढ़ने लगती है।

अपने बालों के टैक्सचर के हिसाब से ही सीरम और लीव इन कंडीशनर का इस्तेमाल करें। इससे भी बालों को नुकसान पहुंचता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

ये भी पढ़ें- मैनीक्योर में उपयोग किया जाने वाला नेल ड्रायर डीएनए को नुकसान पहुंचा सकता है: शोध

  • 144
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख