न्यू जॉब एंग्जाइटी किसी को भी हो सकती है, जानते हैं इस मानसिक स्थिति को डील करने का तरीका

नई जगह पर लोगों का साथ जहां मनोबल बढ़ाता है, तो वहीं खुद को एडजस्ट करने में आने वाली छोटी मोटी परेशानियां टेंशन की वजह बन जाती है। जानते हैं नई जॉब में एंग्जाइटी के कारण और बचने के उपाय।
extrovert hone ke liye chhote notes banayen.
नई जॉब में एंग्जाइटी से कैसे बचें। चित्र : एडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Published: 28 Aug 2023, 04:27 pm IST
  • 140

इसमें कोई दोराय नहीं कि मन मुताबिक नई जॉब मिलने से मन में उत्साह और खुशी बनी रहती है। नए एंप्लाई पूरी मेहनत से हर काम को बेहतर तरीके से करने की कोशिश करते हैं। बावजूद इसके उन्हें वर्क प्लेस पर एंग्जाइटी का सामना करना पड़ता है। दरअसल, ज्यादा एक्पेक्टेशंस, काम करने के ढ़ंग में आने वाला बदलाव, वर्किंग आवर्स का बढ़ना और बार बार होने वाली मीटिंगस से थकान महसूस होने लगती है। हांलाकि नई जगह पर लोगों का साथ जहां आपका मनोबल बढ़ाता है, तो वहीं खुद को एडजस्ट करने में आने वाली छोटी मोटी परेशानियां आपकी टेंशन की वजह बन जाती है। जानते हैं नई जॉब में एंग्जाइटी (new job anxiety) के कारण और उससे बचने के उपाय भी।

जानते हैं नई जॉब की शुरूआत के साथ होने वाली एंग्जाइटी के कारण

तनाव का बढ़ जाना
नींद पूरी न होना
खान पान का ख्याल न रख पाना
इनसिक्योरिटी की भावना महसूस होना
खुद को सैटल करने के लिए चिंतित रहना
अन्य लोगों का विश्वास जीतने की कोशिश करना
वर्क प्लेस पर किसी का साथ न मिल पाना

new job anxiety se kaise nibatein
देर रात बैठकर काम करना भी एंग्जाइटी का एक मुख्य कारण है। चित्र शटरस्टॉक।

इस बारे में बातचीत करते हुए राजकीय मेडिकल कालेज हल्द्वानी में मनोवैज्ञानिक डॉ युवराज पंत का कहना है कि ऑफिस पहुंचने की जल्दी, प्रोडक्टिविटी की फिक्र और बार बार होने वाली मीटिंग्स एंग्जाइटी का कारण बनने लगती है। इससे कोई भी न्यू जॉइनी खुद को थका हुआ महसूस करने लगता है। देर रात बैठकर काम करना भी इसका एक मुख्य कारण है। नई जॉब ज्वाइन करने के बाद लोग अक्सर आसपास के माहौल को लेकर ज्यादा विचार करने लगते हैं। जो उनकी चिंता का मुख्य कारण बन जाती है। अच्छा दिखने और ज्यादा प्रोडक्टिव होने के चलते वे सेल्फ केयर नहीं कर पाते हैं। जानते हैं न्यू जॉब एंग्जाइटी के लक्षण।

न्यू जॉब एंग्जाइटी के लक्षण

हर दम सिर में दर्द रहना
भूख कम लगना
लोगों से बात करने से कतराना
खुद को कम आंकना
अपने बॉस से दूरी बनाकर रखना
अपने आप को कमज़ोर महसूस करना

जानते हैं न्यू जॉब एंग्जाइटी से बचने के उपाय

1. समय से सोना और उठना

अगर आप वक्त के पांबद हो जाएंगे, तो इसका असर आपकी ओवारऑल हेल्थ पर दिखने लगेगा। बात बात पर होने वाले तनाव से मुक्त हो जाएंगे। साथ ही फोक्स के अलावा याददाश्त भी बढ़ने लगेगी। समय से सोने से आपकी नींद पूरी हो पाएंगी। वहीं जल्दी उठने से आपको अपने लिए कुछ वक्त मलि पाएगा। इससे आप दिनभर एक्टिव बने रहते हैं।

neend poori lein
शरीर की थकान को दूर करने और तरोताज़ा रहने के लिए पूरी नींद लेना ज़रूरी है। चित्र : एडॉबीस्टॉक

2. कुछ वक्त एक्सरसाइज के लिए निकालें

चाहे वॉक करें, जिम जाएं या योगासनों को दिनचर्या का हिस्सा बनाएं। अपने शरीर को एक्टिव बनाए रखने के लिए कुछ देर वर्कआउट करना आपकी सभी चिंताओं को दूर करने में आपकी मदद करेगा। एक्सरसाइज़ को बॉडी के स्टेमिना के हिसाब से ही चुनें। इससे आपकी बॉडी टोन और फ्लैक्सिबल होने लगती हैं।

3. दूसरों को खुश रखने का प्रयास न करें

अपना ध्यान आप सिर्फ अपने काम पर ही केद्रित रखें। इससे आपकी वर्क प्रोडक्टिविटी बढ़ने लगेगी। अन्य लोगों को खुश करने के चलते आप अपनी राहत से भटक सकते हैं। काम को बेहतर बनाने के अलावा कुछ क्रिएटिव आइडियाज़ पर भी ध्यान दें। इस बात को समझें कि काम पर पूरी तरह से फोक्स करके ही आप खुद को साबित कर पाएंगी। दूसरों को अपने व्यवहार और ब्यूटी की बजाएं काम से प्रभावित करने का प्रयास करें।

4. रिएक्ट न करें

जब आप किसी नए कार्य को आरंभ करते हैं, तो एसमें कई उतार चढ़ाव आने लगते हैं। ऐसे में नई जगह काम करते वक्त इस बात का ख्याल रखें कि ये आपका लर्निंग पीरियड है। अगर आप एचित तरीके से चीजों को सीख लेंगे, तो लंबे वक्त तक वो आपको याद रहेंगी। ऐसे में किसी की बातों पर गुस्सा जाहिर करने की बजाय खुद पर मेहनत करें और अपनी प्रतिभा को निखारने का प्रयास करें। दूसरों पर गुस्स करके आप अपनी इमेज को खराब कर सकती हैं।

5. डर की भावना को मन से निकाल दें

न्यू जॉब में अगर आप हर वक्त् डरी और सहमी रहेंगी, तो खुद को साबित करना आपके लिए उतना ही मुश्किल होता चला जाएगा। चीजों को पूरे आत्महिवश्वास से स्वीकार करें। अपनी गलतियों को एक्सेप्ट करके आगे बढ़ें। कुछ गलत न हो जाने के डश्र से हर काम में पीछे रहना आपके लिए परेशानी का कारण बन सकता है। अपने माइंड को मेकअप करें और बिना डरे आगे अवश्य बढ़ें।

Anxiety ke kaaran kya hain
कुछ गलत न हो जाने के डर से हर काम में पीछे रहना आपके लिए परेशानी का कारण बन सकता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

6. हेल्दी डाइट लें

अच्छा खाना आपके मूड को हैप्पी और हेल्थ को फिट रखता है। हर वक्त ऑयली और मसालेदार खाना खाने के अलावा पौष्टिक आहार लें। इस बात का ख्याल रखें कि आपकी सेहत किसी भी प्रकारे से नज़रअंदाज़ न हो पाएं। खुद को हेल्दी बनाए रखने के लिए प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम और मिनरल्स को अपनी डाइट का हिस्सा ज़रूर बनाएं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

ये भी पढ़ें- सुबह उठते ही माेबाइल देखती हैं, तो आपके लिए बढ़ सकती हैं मेंटल हेल्थ संबंधी समस्याएं, जानिए क्यों

  • 140
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख