इमोशनल हेल्थ को नुकसान पहुंचाते हैं अकसर बॉसी पार्टनर, जानिए इनसे कैसे डील करना है

आप चाहें तो खुद को और अपने पार्टनर को बिना किसी प्रकार की हानि पहुंचाए भी एक हेल्दी रिलेशनशिप मेंटेन कर सकती हैं। इसके लिए आपको कुछ चीजों पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।

bossy partner se kaise niptein
यहां जानिए एक बॉसी पार्टनर के साथ कैसे करना है व्यवहार। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 22 May 2023, 20:00 pm IST
  • 120

यदि आपके पार्टनर बॉसी हैं तो आप दोनों के बीच बहस और अनबन होना एक सामान्य बात बन जाती है। परंतु यह दोनों ही लोगों के मानसिक स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी उचित नहीं है। साथ ही इसका रिश्ते पर भी नकारात्मक असर पड़ता है। वे बात को समझे बिना आपसे उनके अनुसार चलने को कह सकते हैं, और आप उसकी अनुचित इच्छाओं के आगे नहीं झुकना चाहती। यह बिल्कुल सही है, परंतु हर चीज पर आक्रोश दिखाने की जगह आप उसे अन्य तरीके से भी डील कर सकती हैं (How to deal with bossy partner)।

बॉसी पार्टनर को डील करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है परंतु यह नामुमकिन नहीं है। आप चाहें तो खुद को और अपने पार्टनर को बिना किसी प्रकार की हानि पहुंचाए भी एक हेल्दी रिलेशनशिप मेंटेन कर सकती हैं। इसके लिए आपको कुछ चीजों पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।

हेल्थ शॉट्स ने इस विषय पर राजकीय मेडिकल कालेज हलद्वानी में मनोवैज्ञानिक डॉ युवराज पंत से बातचीत की। उन्होंने धैर्य के साथ काम लेने की सलाह देते हुए बॉसी पार्टनर को डील करें के कुछ प्रभावी टिप्स सुझाए हैं। आइये जानते हैं इस बारे में विस्तार से।

unrealistic expectations in relationship
रिश्ते को नुकसान पहुंचा सकती हैं आपकी अनरियलिस्टिक एक्सपेक्टेशन्स। चित्र : शटरस्टॉक

यहां जानें बॉसी पार्टनर को किस तरह डील करना है (How to deal with bossy partner)

1. खुद को शांत रखें

आपके पार्टनर बॉसी हैं तो उनके साथ बात और व्यवहार करते वक़्त आपको शांत और धैर्य रखने की कोशिश करनी चाहिए। यदि आप अपने रिश्ते को स्वस्थ रखना चाहती हैं और अपने मन को ठेस नहीं पहुंचाना चाहती हैं, तो उनकी बातों पर आक्रोश दिखाने की जगह उनसे आराम से उस बात पर चर्चा करें। यदि आप उनकी किसी बात से सहमत नहीं हैं, तो धीमी आवाज में शांति से अपने दृष्टिकोण को उनके सामने प्रकट करें।

यदि आप उनके साथ वैसा ही व्यवहार करती हैं जैसा कि वे आपके साथ किया करते हैं, तो ऐसे में बात बिगड़ सकती हैं और इसका रिश्ते पर भी नकारात्मक असर पड़ता है।

2. व्यवहार के पीछे के कारणों को समझने की कोशिश करें

एक बॉसी पार्टनर से निपटने के लिए, यह जानना अधिक महत्वपूर्ण है कि उन्हें किस तरह हैंडल किया जा सकता है। क्या आपके पति ने किसी दुर्घटना में किसी प्रियजन को खोया है? उनका बचपन कैसा था? क्या यह दर्दनाक था? क्या उसके माता-पिता का व्यवहार कंट्रोलिंग था? यदि उनके साथ कोई भी समस्या रही हैं तो समय निकालकर उसपर चर्चा करें। प्यार और सहानुभूति के साथ आप एक हेल्दी रिलेशनशिप मेंटेन करने में सक्षम हो सकती हैं।

यह भी पढ़ें : सुखासन और बालासन, आपकी मेंटल हेल्थ के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद हैं ये 2 बेसिक योगासन

3. खुद के लिए स्टैंड लेना है जरूरी

जब आपके पति आपके हर कदम की लगातार आलोचना करते हैं और चाहते हैं कि आप उनके अनुसार चलें, तो महिलाएं अक्सर अपने असल व्यक्तित्व को पीछे छोड़ बदलने की कोशिश करना शुरू कर देती हैं। यह स्थाई है क्योंकि कोई भी व्यक्ति अपने असल व्यक्तित्व को कभी नहीं बदल पता इसलिए बदलने की जरूरत नहीं है।

अक्सर महिलाएं जब किसी कंट्रोलिंग पार्टनर के साथ होती हैं वह कुछ इस तरह से सोचना शुरू कर देती हैं, “मुझे वह काम करने से बचना चाहिए जो मेरे पार्टनर को पसंद नहीं है क्योंकि यह उन्हें परेशान करता है।”

अपने स्वयं के जीवन पर नियंत्रण रखें। यदि आप कुछ नया सीखना चाहती हैं, लेकिन आपके पति इसकी अनुमति नहीं देते हैं तो शांति से बातचीत कर मसले को हल करने का प्रयास करें। अपनी बातों को तवज्जो दें ताकि आपके पार्टनर को भी लगे कि आपकी भी कोई जिंदगी है।

toxic partner ke sign
अगर आप किसी व्यक्ति को प्यार तो करते हैं और उसे अपनी मुट्ठी में कैद करना चाहते है, तो ये ऑब्सेसिव लव डिसऑर्डर कहलाता है। चित्र- शटरस्टॉक।

4. सामने वाले व्यक्ति से बदलने की अपेक्षा न रखें

यदि आपको लगता है की आपके पार्टनर बॉसी हैं तो उनके व्यवहार में बदलाव की अपेक्षा न रखें। यह उम्मीद आपकी भावनाओं को बार-बार चोट पहुंचा सकती है। एक्सपर्ट की माने तो इस स्थिति में बदलाव की अपेक्षा रखने से बेहतर है खुदमें बदलाव लाना। ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है जो परफेक्ट होता है इसलिए अपनी गलतियों को भी पहचाने और उसपर काम करें।

5. एक उचित सीमा निर्धारित करें

आप सोच रही होंगी की एक बॉसी पार्टनर के सामने अपनी सीमाओं को कैसे प्रकट करें? सबसे पहले, आपको उनसे शांति से बात करने की कोशिश करनी है और उन चीजों को समझना है जो आपको सही नहीं लगते हैं। अपनी सीमाओं के बारे में खुलकर बात करें क्रोधित नहीं होना है, बिलकुल शांति से अपने मन की बातों को प्रकट करें।

यदि आपके पार्टनर इसके बाद भी आपकी सीमाओं का उलंघन कर रहें हैं, तो 2-4 बार उनकी बातों को नजरअंदाज कर दें और शांति से उन्हें अपनी सीमाओं की याद दिलाएं, कुछ दिनों बाद वे इस पर ध्यान देना शुरू कर देंगे। ऐसा करने से आपके व्यक्तित्व की पहचान बनती है।

यह भी पढ़ें : उम्र के साथ ताकत और धैर्य हो रहे हैं कम, तो अपने वर्कआउट रुटीन में शामिल करें ये 4 व्यायाम, एक्सपर्ट बता रहे हैं फायदे

  • 120
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें