लक्ष्य तक पहुंचना मुश्किल लग रहा है, तो इन 9 टिप्स के साथ बनाएं सही रणनीति

बिना लक्ष्य के जीवन निरर्थक हो जाता है। पर्सनल लाइफ हो या प्रोफेशनल, एक सही लक्ष्य आपको पॉजीटिव और प्रोडक्टिव बनाए रखता है। पर कुछ लोग चाहते हुए भी अपने तय लक्ष्य तक नहीं पहुंच पाते। उनकी मदद करने के लिए हम यहां कुछ टिप्स बता रहे हैं।
Lakshya tak pahunchne ke liye inn baaton ka rakhein khayaal
लाइफ कोच और मनोविज्ञान के विशेषज्ञ बता रहे हैं लक्ष्य तक पहुंचने में मददगार टिप्स (tips to achieve gaols)। चित्र: अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Published: 11 Dec 2023, 02:00 pm IST
  • 140
मेडिकली रिव्यूड

नकारात्मक विचार और निराशा उस अंधेरे के समान है, जिसमें आपको न तो आगे का रास्ता दिखाई देता है और न ही अपने आसपास का माहौल। अगर आप देर तक नकारात्मक विचारों से घिरे रहते हैं, तो ये आपके तन और मन दोनों को ही नुकसान पहुंचाता है। ऐसा अकसर उन लोगों के साथ होता है, जो सही रणनीति या सही मार्गदर्शन के अभाव में अपने लक्ष्य तक नहीं पहुंच पाते। इसका प्रभाव आपकी पर्सनल लाइफ से लेकर प्रोफेशनल लाइफ पर भी दिखने लगता है। अगर आप भी बार-बार असफल होते हैं और लक्ष्य तक नहीं पहुंच पाते, तो आपकी मदद करने के लिए यहां कुछ टिप्स दिए गए हैं। लाइफ कोच और मनोविज्ञान के विशेषज्ञ बता रहे हैं लक्ष्य तक पहुंचने में मददगार टिप्स (tips to achieve goals) ।

लक्ष्य की प्राप्ति के लिए पॉजिटिव रहना है ज़रूरी

मनोवैज्ञानिक डॉ युवराज पंत का कहना है कि जब हम एक ही काम को लंबे वक्त तक करते चले जाते हैं, तो उससे बोरियत महसूस होने लगती है। डे टू डे लाइफ में एक ही कार्य को करके व्यक्ति परेशान हो जाता है। इसके चलते काम में भी डलनेस महसूस होने लगती है। ऐसे में खुद को पॉजिटिव बनाए रखें। इसके अलावा अपनी मील्स में पोषक तत्वों को अवश्य शामिल करें। रूटीन एक्टिविटीज़ में हिस्सा लें।

डॉ युवराज के अनुसार जिस प्रकार मशीन को समय समय पर ल्यूब्रिकेंटस की आवश्यकता होती है। ठीक उसी प्रकर से मनुष्य को भी खुद को रिचार्ज करने और मनो स्थिति को उचित बनाए रखने के लिए कुछ चीजों को अपने लाइफस्टाइल का हिस्सा बनाएं और नकारात्मकता से दूर रहें।

Goals ko acheive krne ke liye kya hai zaruri
मनो स्थिति को उचित बनाए रखने के लिए कुछ चीजों को अपने लाइफस्टाइल का हिस्सा बनाएं और नकारात्मकता से दूर रहें। चित्र: अडोबी स्टॉक

इन टिप्स को अपनाकर आपके लिए भी आसान हो सकता है लक्ष्य तक पहुंचना (tips to achieve goal)

1 छोटी उपलब्धियों से करें शुरुआत

हर बार कुछ बड़ा पाने की चाह आपको जीवन में अकेला और नाखुश बना देती है। ऐसे में जीवन में होने वाली छोटी छोटी बातों में ही खुशियों की तलाश करना शुरू करें। किसी बड़ी खुशी का इंतज़ार आपके जीवन के खूबसूरत लम्हों से आपको दूर कर सकता है। सकारात्मक बनें और अपने अंदर सेटिसफैक्शन लेकर आएं। हर वक्त बड़ी उपलब्धियों के पीछे भागना छोड़ दें।

2 पॉजिटिव लोगों से मिले जुलें

नकारात्मक लोगों की संगति आपके जीवन में कई बाधाओं को कारण बनने लगती है। वे आपके थॉटस और प्लान को बेस्ट करने की जगह आपके कार्यों में कमियां तलाशने लगते हैं। इस तरह की परिस्थिति जीनव में तनाव का कारण बनने लगती है। निगेटिव लोगों के साथ रहकर आप अपनी राह से भटकने लगते हैं।

3 अपने मन की बात को साझा करें

दिल की बात को दिल में रखने से आप दिन ब दिन नकारात्मकता की ओर बढ़ने लगते हैं। साथ ही दूसरों के प्रति आपके मन में दुश्चिंताएं बढ़ने लगती है। ऐसे में जो बात आपके मन में है, उसे अपने किसी करीबी मित्र के साथ साझा करें। ऐसा करने से आपका मन रिलैक्स महसूस करने लगता है।

4 मी टाइम है ज़रूरी

अपने लिए समय निकालें और उसका सदुपयोग करें। घूमने फिरने जाएं और पसंदीदा एक्टिविटीज़ को अपने जीवन का हिस्सा बनाएं। किताबें पढ़ें और कोई नई भाषा भी सीखें। म्यूजिक और डांस भी आपके तन मन को रिलैक्स करने में मदद करते हैं। इसके अलावा मेडिटेशन भी आत्म नियंत्रण के लिए आवश्यक है।

5 पर्याप्त नींद लें

नींद पूरी न होना तनाव का मुख्य कारण बन जाता है। इससे व्यक्ति के व्यवहार में चिड़चिड़ापन बढ़ने लगता है। हर वक्त थकान और कमज़ोरी महसूस होने लगती है। ऐसे में सोने और उठने का समय बनाएं। दरअसल, क्वालिटी स्लीप आपकी मेंटल हेल्थ को उचित बनाए रखती है। इसके लिए 7 से 8 घण्टे की नींद अवश्य लें।

Yahaan jaanein neend ke fayde
नींद पूरी न होना तनाव का मुख्य कारण बन जाता है। इससे व्यक्ति के व्यवहार में चिड़चिड़ापन बढ़ने लगता है। चित्र : एडॉबीस्टॉक

6 आत्मविश्वास बढ़ाने वाली एक्टिविटीज़ में पार्टिसिपेट करें

चाहे सामाजिक हो या पारिवारिक हर प्रकार की गतिविधि में हिस्सा लें। इससे आत्मविश्वास बढ़ने लगता है। जो आपको जीवन में आगे बढ़ने में मददगार साबित होता है। दोस्तों या ऑफिस क्लीगस के साथ आउटिंग आपके ब्रेन को रिलैक्स और बूस्टअप करने में मदद करती है।

7 योगा या मेडिटेशन करें

हाई इंटैसिटी एक्सरसाइज़ के साथ साथ कुछ वक्त योग व मेडिटेशन के लिए भी निकालें। इससे शरीर पर आत्म नियंत्रण बढ़ने लगता हैंं। साथ ही शरीर का इम्यून सिस्टम भी मज़बूत बनने लगता है। ब्रीदिंग एक्सरसाइज़ में सांस पर फोकस करने से आपका माइंड हेल्दी और सुकून महसूस करने लगता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

8 खुद को हाइड्रेट रखें

भरपूर मात्रा में पानी पीएं इससे शरीर हाइड्रेट रहता है। शरीर में पानी की कमी के चलते ब्रेन तक ऑक्सीजन पहुंचने में बाधा आती है। इससे आप दिनभर खुद को कमज़ोर और कम एर्नजाइज्ड फील करते है। इसके चलते आप किसी भी कार्य में ध्यान केंद्रित करने में असमर्थ महसूस करते हैं।

9 पोषक तत्वों का सेवन करें

अपनी डाईट में कार्ब्स, प्रोटीन और विटामिन जैसे पोषक तत्व ज़रूर शामिल करें। इससे मांसपेशियों को मज़बूती प्राप्त होती है और शरीर हेल्दी व फिट बना रहता है। शरीर को मिलने वाले पोषक तत्वों के चलते आप खुद को एनर्जेटिक महसूस करते हैं। इसके अलावा विटामिन डी की प्राप्ति के लिए कुछ देर धूप में भी बैठें। विटामिन डी मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने में मददगार साबित होता है।

ये भी पढ़ें- हर छोटी-बड़ी बात पर आने लगते हैं आंसू, तो जानिए क्या है इनका कारण

  • 140
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख