Childhood obesity : बच्चों की पसंदीदा ये 4 चीजें बढ़ा रही हैं उनका वज़न, आज ही से करें कंट्रोल

बच्चों में उम्र से पहले वजन बढ़ना कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण हो सकता है। साथ ही अनहेल्दी डाइट भी इसका मुख्य कारण हो सकती है। हेल्थ शॉट्स के इस लेख में जानिए उन खाद्य पदार्थो के बारें में, जो आपके बच्चे के वजन बढ़ने का कारण बन सकती है।
Childhood obesity
डीप फ्राइड और जंक फूड को बच्चे की मील में शामिल न करें। चित्र : अडोबी स्टॉक
ईशा गुप्ता Published: 16 Jan 2023, 19:17 pm IST
  • 148

बच्चें की छोटी से छोटी चीज का ख्याल रखने के साथ उनकी डाइट पर ध्यान देने की जिम्मेदारी सिर्फ एक मां ही उठा सकती है। साथ ही फास्ट फूड ट्रेंड के चलते सबसे मुश्किल काम होता है बच्चों की डाइट में पोषण शामिल करना। घर के खाने से ज्यादातर बच्चे आना-कानी करते हैं। जिसके कारण हम उन्हें बाहर की चीजें खाने की इजाजत दे देते हैं। हमारी यही गलती बच्चों में चाइल्डहुड ओबेसिटी (Childhood obesity) और अन्य बड़ी स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकती है। हेल्थ शॉट्स के इस लेख में जानिए उन खाद्य पदार्थो के बारें में, जो आपके बच्चे के वजन बढ़ने का कारण बन सकती है।

सबसे पहले जानते हैं बच्चों में बढ़ते वजन के मुख्य कारण

मायो क्लीनिक की रिसर्च के मुताबिक खाद्य पदार्थो से जरूरत से ज्यादा कैलोरी का सेवन या फिजिकल एक्टिविटी को अवॉइड करना बच्चों में वजन बढ़ने का मुख्य कारण पाया गया है। रिसर्च में यह भी पाया गया कि जेनेटिक और होर्मोनल बदलाव भी छोटी उम्र में वजन बढ़ने का कारण बन सकता है।

ये चीजें बन सकती है बच्चों में वजन बढ़ने का कारण

1. सॉफ्ट ड्रिंक्स

किसी भी जंक फूड को पूरा करने के लिए सॉफ्ट ड्रिंक्स का सहारा जरुर लिया जाता है। साथ ही बच्चों में सॉफ्ट ड्रिंक्स को लेकर भी बहुत ज्यादा क्रेज रहता है। जबकि यह चीज बच्चों के लिए धीमा जहर साबित हो सकती है।

इसमें ज्यादा मात्रा में शुगर होने के साथ कैलोरी की मात्रा भी लिक्विड फॉर्म में होती है। कई अध्ययनों में पाया गया है कि हमारा शरीर लिक्विड कैलोरी को ज्यादा जल्दी सोखता है। जो तेजी से वजन बढ़ने का कारण बन सकता है। सॉफ्ट ड्रिंक्स का सेवन बच्चों में कैलोरी बढ़ाकर नेचुरल वेट को डिस्टर्ब कर सकता है।

यह भी पढ़े – क्या घी खाने से नॉर्मल डिलीवरी आसान हो जाती है? एक्सपर्ट से जानते हैं प्रेगनेंसी से जुड़ी ऐसी ही 8 बातों का सच

सीरीयल्‍स में बहुत सारी चीनी और प्रीजर्वेटिव्‍स होते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
सीरीयल्‍स में बहुत सारी चीनी और प्रीजर्वेटिव्‍स होते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

2. ब्रेकफास्ट सीरीयल्स

ब्रेकफास्ट जल्दी तैयार करने के लिए ब्रेकफास्ट सीरीयल्स एक अच्छा ऑपशन हो सकता है, लेकिन इसका रोज सेवन करना आपके बच्चों के लिए नुकसानदायक भी हो सकता है। ब्रेकफास्ट सीरीयल्स को रिफाइंड ग्रेंस के साथ तैयार किया जाता है। इसे हाई प्रोसेस्ड फूड माना जाता है जो आपके बच्चें के वजन बढ़ने का कारण भी बन सकता है।

पबमेड सेंट्रल की एक रिसर्च के मुताबिक ब्रेकफास्ट सीरीयल्स मे रिफाइंड कार्ब के साथ शुगर की ज्यादा मात्रा हो सकती है। जो मोटापा, डायबीटीज, कैंसर और हार्ट डिजीज का कारण हो सकता है।

3. पैकेज्ड फूड्स

पैकेज्ड फूड्स जैसे कि चिप्स, चॉकलेट का सेवन भी बच्चों में वजन बढ़ने का कारण बन सकता है। इनमें कैलोरी, शुगर, रिफ़ाइंड कार्बोहाइड्रेट्स, अर्टिफिशियल केमिकल्स की अधिक मात्रा होने के साथ न्यूट्रिएंट्स और फाइबर की मात्रा कम होती है।

सेल प्रोसेस्ड जर्नल की मुताबिक ज्यादा मात्रा में प्रोसेस्ड और पैकेज फूड्स का सेवन वजन बढ़ने का कारण बन सकता है।

फ्रोजन फूड्स आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं. चित्र : शटरस्टॉक
फ्रोजन फूड्स बच्चों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं. चित्र : शटरस्टॉक

4. फ्रोजन फूड्स

फ्रोजन फूड्स यानी रेडी टू ईट फूड जिसे कुछ मिनटों में ही तैयार किया जा सकता है। फ्रोजन फूड्स से जिंदगी को जितना आसन बना दिया है, उतना ही इसके कारण स्वास्थ्य समस्याओं का जोखिम बढ़ा है। इसमें रिफ़ाइंड कार्बोहाइड्रेट्स, अर्टिफिशियल केमिकल्स के साथ सोडियम की मात्रा भी अधिक पाई जाती है, जो हाई ब्लड प्रेशर के साथ हार्ट डिजीज और वजन बढ़ने का कारण भी बन सकता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

क्लीवलैंड क्लिनिक के मुताबिक फ्रोजन फूड्स में कैलोरी, सोडियम ज्यादा होने के साथ आवश्यक पोषक तत्व जैसे कि प्रोटीन, विटामिन की मात्रा कम होती है। इसका लम्बे समय तक सेवन कई खतरनाक बिमारियों का कारण बन सकता है।

यह भी पढ़े – वेट लॉस करना चाहती हैं, तो उत्तरायण के बाद का समय है बेस्ट, एक एक्सपर्ट से जानिए जरूरी डाइट टिप्स

  • 148
लेखक के बारे में

यंग कंटेंट राइटर ईशा ब्यूटी, लाइफस्टाइल और फूड से जुड़े लेख लिखती हैं। ये काम करते हुए तनावमुक्त रहने का उनका अपना अंदाज है। ...और पढ़ें

अगला लेख