और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

आप वेट लॉस कर रही हैं या फैट लॉस? जानिये इन दोनों के बीच का अंतर और क्या है आपके लिए सबसे सही

Published on:20 February 2021, 09:30am IST
खुद को शेप में और फि‍ट रखने के लिए वेट लॉस कर रहीं हैं तो पहले फैट लॉस और वेट लॉस के बीच के अंतर को समझ लेना जरूरी है।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
वेट लॉस या फैट लॉस क्या बेहतर है? चित्र : शटरस्टॉक
वेट लॉस या फैट लॉस क्या बेहतर है? चित्र : शटरस्टॉक

क्या आप भी यही सोच रही हैं कि इतना वज़न कम करने के बावजूद आपकी बॉडी किसी एक्ट्रेस की तरह टोंड क्यों नही है? तो हो सकता है कि आप फैट लॉस नहीं वेट लॉस कर रही हैं और वज़न घटने का मतलब ये नहीं कि आप फिट हैं! असल में फैट लॉस, वेट लॉस से ज्यादा जरूरी है। हम यहां बता रहे हैं इन दोनों के बीच का अंतर और कैसे पा सकती हैं आप अपना मनचाहा आकार।

वेट लॉस और फैट लॉस के बीच का अंतर

वज़न घटाने का मतलब है आपके शरीर के पूरे वज़न को कम करना। जिसमें मसल मास, वॉटर लॉस और फैट लॉस सभी कुछ शामिल है। लेकिन फैट लॉस का मतलब होता है सिर्फ बॉडी फैट से वज़न कम करना। हालांकि यह जानना मुश्किल हो सकता है कि आप बॉडी फैट कम कर रही हैं या मसल मास!

एक फिट शरीर में वसा का स्तर कम होता है। पुरुषों के लिए 10% से 15% और महिलाओं के लिए 15% से 20%। आपका वसा प्रतिशत इस बात का सही माप है कि आपका शरीर कितना फिट और किस आकार का है।

पुरुषों के मुकाबले महिलाओं के शरीर में वसा का स्तर ज्यादा होता है। चित्र-शटरस्टॉक।
पुरुषों के मुकाबले महिलाओं के शरीर में वसा का स्तर ज्यादा होता है। चित्र-शटरस्टॉक।

बॉडीवेट अनिवार्य रूप से आपके शरीर द्वारा वहन किए जाने वाले पानी का वजन होता है। इसलिए, डाइटिंग के बाद आपको लगता है कि आपका वजन कम हो रहा है जबकि आप पानी का वजन कम कर रही होती हैं। इसके अलावा, कार्बोहाइड्रेट पानी को बांधते हैं, जिससे वजन बढ़ता है। इसलिए कार्बोहाइड्रेट के स्तर में कमी से वजन में भी कमी होती है।

वज़न घटाना कभी-कभी उल्टा पड़ सकता है। क्योंकि जब बॉडी से वेट लॉस होता है तो मसल मास भी कम होने लगता है, जिसकी वजह से वज़न बढ़ सकता है। इसलिए वेट लॉस की बजाए फैट लॉस पर ज्यादा ध्यान दें।

अब जानिए फैट लॉस करने का तरीका

अच्छी मात्रा में प्रोटीन लें

विभिन्न प्रकार के शारीरिक कार्यों के लिए प्रोटीन एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है। यह एंजाइम बनाने के लिए आवश्यक है जो पाचन और ऊर्जा उत्पादन में मदद करते हैं, द्रव संतुलन को विनियमित करते हैं और अन्य कार्यों के लिए इम्युनिटी भी बढ़ाता है। आपके पास मांसपेशियों को बनाए रखने और नई मांसपेशियों के विकास करने के लिए प्रोटीन महत्वपूर्ण है, खासकर जब आप फैट लॉस कर रही हों।

फैट लॉस करने के लिए वेट ट्रैनिंग ज़रूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक
फैट लॉस करने के लिए वेट ट्रैनिंग ज़रूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

वेट ट्रेनिंग करें

अपने मसल मास को बनाये रखने के लिए वेट ट्रेनिंग ज़रूर करें, क्योंकि हमारी मांसपेशियां मेटाबोलिकली एक्टिव होती हैं। मतलब आराम के वक़्त भी ये ऊर्जा का उपयोग करती हैं। तो जितनी ज्यादा आपकी मांसपेशियां होंगी उतना ही ज्यादा आप फैट लॉस कर पाएंगी।

अगर वेट ट्रेनिंग आपकी एक्सरसाइज का हिस्सा नहीं है, तो 2 से 3 सेशन इसके ज़रूर करें। इससे आपके मसल मास में वृद्धि होती है और मांसपेशियां मज़बूत हो जाती हैं। अमेरिकन कॉलेज ऑफ स्पोर्ट्स मेडिसिन (American College of Sports Medicine) एक से दो मिनट के लिए मध्यम वज़न के 6 से 12 रेप्स करने की सलाह देता है।

आखिरी बात

फैट लॉस का मतलब यह नहीं है कि आपको वेट लॉस नहीं करना चाहिए। यदि आपका वज़न ज्यादा हैं, तो आपके शरीर के पुनर्गठन के लिए कुछ वजन घटाने की आवश्यकता है। पर साथ ही फैट लॉस पर भी ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

यह भी पढ़ें : वजन घटाने के लिए डाइटिंग करना हो सकता है नुकसानदेह, हम बता रहे हैं इसके 6 वैज्ञानिक कारण

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।