वैलनेस
स्टोर

वजन घटाने के लिए डाइटिंग करना हो सकता है नुकसानदेह, हम बता रहे हैं इसके 6 वैज्ञानिक कारण

Updated on: 17 February 2021, 14:33pm IST
वजन घटाने के लिए आपको अपने आहार को कंट्रोल करने की जरूरत है पर इसका अर्थ डायटिंग पर चले जाना नहीं है।
विनीत
  • 87 Likes
डाइटिंग आपके स्वास्थ्य को कई तरह से प्रभावित कर सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

कई लोग वजन घटाने के लिए डाइटिंग करने के बारे में सोचते हैं। पर विशेषज्ञों का दावा है कि यह वास्तव में लोगों के स्वास्थ्य और मानसिक कल्याण पर भारी पड़ सकता है। डायटिंग पर जाने का चयन करने के अपने नियम हो सकते हैं, लेकिन यह हानिकारक और खतरनाक दुष्प्रभावों से रहित नहीं है। चाहे आप एक इंटरमिटेंट फास्टिंग या लो कार्ब डाइट पर हों, कैलोरी को एक निश्चित स्तर तक सीमित करना या आपके कार्ब और वसा का सेवन कम करना लंबे समय में आपके स्वास्थ्य को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है।

हम यहां विज्ञान समर्थित 6 ऐसे कारणों के बारे में बता रहे हैं, कि आपको डाइटिंग का सहारा क्यों नहीं लेना चाहिए।

  1. मांसपेशियों में कमी

रिसर्च से पता चला है कि डाइटिंग वास्तव में वजन बढ़ाने और मांसपेशियों में कमी को जन्म दे सकती है। अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रीशन में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, 32 गैर-मोटापे से ग्रस्त पुरुषों ने, जब तीन हफ्तों के लिए औसतन 1,300 की औसत से कैलोरी के सेवन को कम किया, तो उनका वजन बढ़ा और उन्होंने मांसपेशियों के द्रव्यमान में गिरावट का अनुभव किया।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

  1. थकावट के स्तर में वृद्धि

कम भोजन खाने से आपके शरीर की ऊर्जा को जलने की क्षमता समाप्त हो जाएगी, जिससे थकावट होगी। जबकि यह एक ज्ञात तथ्य है, एनल्स ऑफ इंटरनल मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया है कि कम कार्ब डाइट आपके शरीर को थकान की एक उच्च भावना से ग्रस्त करती है। इसलिए, अपने आहार से कार्ब्स को पूरी तरह से काटना हानिकारक हो सकता है।

थकान इंसुलिन प्रतिरोध का लक्षण है। चित्र: शटरस्‍टॉक
थकान इंसुलिन प्रतिरोध का लक्षण है। चित्र: शटरस्‍टॉक

हालांकि, आप उन खाद्य पदार्थों में लिप्त हो सकते हैं, जो जटिल या अच्छे कार्ब्स से भरपूर होते हैं। इससे आपके शरीर को कुशलता से कार्य करने की ऊर्जा मिलेगी।

यह भी पढ़ें: ये 5 एक्‍सरसाइज आपकी वेट लॉस यात्रा में ले आएंगी तेजी, यहां जानिए करने का सही तरीका

  1. शारीरिक कमजोरी का कारण बन सकता है

थका हुआ महसूस करने के अलावा, डाइटिंग पर जाना आपको लंबे समय में कमजोर और बीमार बना सकता है। हार्वर्ड मेडिकल स्कूल के विशेषज्ञों के अनुसार, लंबे समय तक फास्टिंग से लोगों को “सिर दर्द, सुस्ती, तनाव  और कब्ज” जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

इसलिए, वे “वैकल्पिक दिन के उपवास” (alternate-day fasting) को “आवधिक उपवास” (periodic fasting) करने की सलाह देते हैं।

  1. शरीर में आवश्यक पोषक तत्वों की कमी

डाइटिंग पर जाना आपके शरीर को आवश्यक पोषक तत्वों और विटामिन से वंचित कर सकता है। डाइटिंग के दौरान आमतौर पर कार्ब्स, वसा और कैलोरी का कम सेवन करने की मांग की जाती है। इससे फाइबर, ओमेगा -3 फैटी एसिड जैसे अच्छे पोषक तत्वों की मात्रा कम हो सकती है। जो कि खाद्य पदार्थों के साथ आते हैं। विशेषज्ञ ऐसी स्थिति में पोर्शन कंट्रोल (portion control) का सुझाव देते हैं। इसका मतलब है कम खाना, लेकिन हर चीज को थोड़ा-थोड़ा खाना।

  1. आपको बाल झड़ने का अनुभव हो सकता है

विशेषज्ञों के अनुसार, लो कार्ब डाइट बालों के भारी नुकसान से जुड़ी हुई है। डर्मेटोलॉजी प्रैक्टिकल एंड कॉन्सेप्चुअल जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, उचित पोषण की कमी आपके बालों के रोम को कमजोर करती है। जिससे आपके बाल झड़ने लगते हैं। एक शोधकर्ता के अनुसार, “पोषण की कमी बालों की संरचना और बालों के विकास दोनों को प्रभावित कर सकती है।” यही कारण है कि अपने आहार में समृद्ध खाद्य पदार्थों को शामिल करना महत्वपूर्ण है।

आयरन की कमी हो सकती है हेयर फॉल के लिए जिम्‍मेदार। चित्र: शटरस्टॉक
आयरन की कमी हो सकती है हेयर फॉल के लिए जिम्‍मेदार। चित्र: शटरस्टॉक
  1. ईटिंग डिसऑर्डर का विकास हो सकता है

जबकि वजन घटाने के लिए डाइडिंग करना अच्छा हो सकता है, लेकिन इससे लंबे समय में खाने की अस्थिरता हो सकती है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ ईटिंग डिसऑर्डर के अनुसार, “35% सामान्य डाइटर्स ‘पैथोलॉजिकल डाइटर्स बन सकते हैं, और 20% से अधिक में ईटिंग डिसऑर्डर विकसित होने की संभावना है।

यह भी पढ़ें: वजन कम कर रही हैं, तो डाइटीशियन के बताए इन 5 सुझावों के बारे में भी जान लें

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।