Mandukasana : टांगों को मजबूत कर डायबिटीज़ से राहत दिलाता है मंडूकासन, जानिए इसके फायदे और अभ्यास का सही तरीका

योग में कुछ ऐसे आसन हैं, जो अकेले ही आपकी बहुत सारी समस्याओं का समाधान कर सकते हैं। फ्रॉग पोज या मंडूकासन ऐसा ही एक आसन है। जिन लोगों को पाचन संबंधी समस्या या डायबिटीज़ है, उनके लिए यह आसन वरदान साबित हो सकता है।
जिन लोगों को पाचन संबंधी समस्या या डायबिटीज़ है, उनके लिए यह आसन वरदान साबित हो सकता है । चित्र : अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Updated: 21 Nov 2023, 18:53 pm IST
  • 140

खुद को एक्टिव रखने की चाहत तो हर किसी की होती है। मगर कुछ अनहेल्दी आदतें और लॉंग सिटिंग दिनचर्या को प्रभावित कर कई परेशानियों का कारण बनने लगती है। दरअसल, लंबे वक्त तक बैठने से कमर में होने वाली ऐंठन, मोटापा मानसिक तनाव और डाइजेशन संबधी समस्यांए बढ़ने लगती हैं। ऐसे में खुद को हेल्दी रखने और मांसपेशियों में आने वाली ऐंठन को दूर करने के लिए शरीर का स्वस्थ होना ज़रूरी है। नियमित योगाभ्यास ऐसी स्थिति में आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मददगार साबित होता है। मंडूकासन इन सभी समस्याओं का एक समाधान है। जानते हैं मंडूकासन के फायदे (Benefits of mandukasana) और इसे करने का तरीका भी।

मंडूकासन क्या है

मंडूकासन यानि मेंढ़क के समान बैठकर किया जाने वाला योगाभ्यास। फ्रॉग पोज़ के नाम से प्रचलित इस योगासन को किसी भी उम्र वर्ग के लोग कर सकते हैं। वाह लाइफ की फांउडर और योग प्रेक्टिशनर सुमिता गुप्ता ने हेल्थशॉटस को मंडूकासन से हाने वाले फायदों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि ये हिम ओपनिंग योगासन शरीर को हृदय संबधी रोगों और खासतौर से डायबिटीज़ से बचाता है। इससे शरीर का ब्लड सर्कुलेशन नियमित बन जाता है और शरीर हेल्दी व एनर्जेटिक बना रहता है।

जानते हैं मंडूकासन के फायदे

1. डायबिटीज़ के रोगियों के लिए फायदेमंद

इस योगासन को नियमित तौर पर करने से पैनक्रियाज एक्टिव होने लगतीं है और उससे शरीर में इंसुलिन बनता है। दिनभर में 2 से 3 बार इसका अभ्यास शरीर को फायदा पहुंचाता है। इससे मांसपेशियों में होने वाली ऐंठन से भी मुक्ति मिल जाती है।

Diabetes ko mandukasana se karein control
मंडूकासन को नियमित तौर पर करने से पैनक्रियाज एक्टिव होने लगतीं है और शरीर में इंसुलिन बनता है। चित्र: शटरस्टॉक

2. टांगों की मज़बूती बढ़ती है

रोज़ाना 2 से 3 बार कुछ सेकण्ड के लिए मुडूकासन का अभ्यास करने से टांगों की मसल्स को मज़बूती मिलती है। इससे घुटनों का दर्द कम होने लगता है और शरीर का स्टेमिना बढ़ने लगता है। ये योगासन पैरों में होने वाले दर्द और ऐंठन को भी दूर करता है। लंबे वक्त तक बैठकर अगर आपकी टांगों में भी खिंचाव महसूस हसेने लगता है, तो इस योगासन का अभ्यास फायदेमंद साबित होता है।

3. वेटलॉस में सहायक

पेट व लव हैंडल पर जमा चर्बी को बर्न करने के लिए इस योगासन को अवश्य चुनें। इससे घुटनों को मोड़कर किए जाने वाले इस योगासन से पेट के मसल्स में खिंचाव आता है। इससे पेट पर जमी अतिरिक्त चर्बी दूर होने लगती है। इसके अलावा थाइज और टांगें भी टोन होने लगती हैं।

4. डाइजेशन को करें इंप्रूव

इस योगासन को करने से पेट की मांसपेशियों को मज़बूती मिलती है। जिससे पाचन में सुधार होने लगता है। पेट संबधी समस्याएं जैसे कब्ज, ब्लोटिंग और एसिडिटी जैसी परेशानियों से राहत मिल जाती है। इससे मेटाबॉलिज्म बूस्ट होता है। जो खाने को पचाने में मदद करता है।

5. मानसिक तनाव से रहेंगे मुक्त

इस योगासन को करने के लिए सिर को जमीन पर टिकाना पड़ता है। इससे मांसपेशियों में ब्लड फ्लो बेहतर हो जाता है। जो मानसिक तनाव और थकान को दूर करके शरीर को तरोताज़ा रखने में मदद करता है। इससे आप खुद को फ्रेश महसूस करते हैं और किसी भी चीज़ पर फोक्स करने में दिक्कत नहीं आती है।

Jaanein Mandukasana ke fayde
मंडूकासन को नियमित रूप से योगाभ्यास में शामिल किया जा सकता है।चित्र अडोबी स्टॉक

मंडूकासन कैसे करें (The right way to do Mandukasana)

इसे करने के लिए मैट पर घुटनों के बल बैठ जाएं। इस दौरान कमर को एक दम सीधा रखें और हिप्स को पैरों के उपर टिका लें।

योगासन के दौरान दोनों टांगों के मध्य दूरी न बनाकर रखें। अब दोनों हथेलियों को उलटाकर मिलाएं और मुट्ठी बनाकर नाभि के पास रखें।

अब धीरे धीरे आगे की ओर झुकें। अपनी चिन को जमीन पर लगाएं और गहरी सांस लें व छोड़ें। सांस पर अपना पूरा ध्यान केद्रित कर लें।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

इसी योग मुद्रा में 30 सेकण्ड से 1 मिनट तक बैठें और फिर उपर की ओर उइें और वज्रासन में बैठ जाएं।

दिनभर में 2 से 3 बार इस योगासन का अभ्यास कई शारीरिक समस्याओं को दूर रखने में मददगार साबित होगा।

ये भी पढ़ें- Yoga for peace of mind : तन को फ्लैक्सिबल और मन को शांत करते हैं ये 4 योगासन, फिटनेस एक्सपर्ट बता रहे हैं अभ्यास का तरीका

  • 140
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख