खाने के बाद गैस और अपच को दूर करने के लिए ट्राई करें ये 4 योगासन

Published on: 29 June 2022, 21:00 pm IST

आपने कई लोगों से सुना होगा कि खाना खाकर टहलना चाहिए, यह पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद होता है। मगर क्या आप जानती हैं कि आप खाने के बाद योग भी कर सकती हैं? चलिये जानते हैं पाचन तंत्र के लिए कुछ योगासन।

digestion ke liye yogasana
पीरियड्स में एक्सरसाइज करना आपको दर्द और तनाव से राहत दिला सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

बरसात के मौसम में गर्मा गर्म कचौड़ी, समोसे, और पकौड़े खाये बिना मन भरता नहीं है। मगर फिर उसके बाद पेट में गैस, अपच, दर्द और पेट फूलने जैसी समस्याएं होने लगती हैं। तभी आपने अपने बड़े – बुजुर्गों और डॉक्टर्स को यह कहते हुए सुना होगा कि खाना खाकर बैठना- या तुरंत लेटना नहीं चाहिए। खाने को शरीर में पचने के लिए कुछ समय चाहिए होता है।

इतना ही नहीं खाना खाने के बाद टहलने की सलाह दी जाती है कि खाना अच्छे से पच सके और आपको किसी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े। खाना खाने के बाद हम एक्सरसाइज़ तो नहीं कर सकते, लेकिन योग ज़रूर कर सकते हैं।

कुछ योग आसन हैं, जिन्हें आप रात के खाने के बाद कर सकते हैं क्योंकि वे भोजन के बेहतर पाचन में मदद कर सकती हैं। इन्हें करने से पेट में हल्कापन महसूस होता है। मूल रूप से, यह आपके शरीर के पाचन को बढ़ाता है और अन्य अंगों के स्वास्थ्य में भी सुधार करता है।

जब हम खाते हैं, तो भोजन पेट में चला जाता है, जहां पाचन एंजाइम स्राव के लिए भोजन को तोड़ते हैं। योग में स्ट्रेचिंग, ताकत और लचीलेपन का लक्ष्य होता है जो आपके पेट पर दबाव डाल सकता है।

तो पाचन में सुधार करने के लिए कुछ योगासनों के बारे में जानें

1. वज्रासन

वज्रासन रात के खाने के बाद सबसे अच्छे योगासन में से एक है। यह आसन मुख्य रूप से ऊपरी शरीर और पेट को स्ट्रेच करने पर केंद्रित होता है, जो आपकी श्वास को भी आराम देता है और पाचन में मदद करता है। यह आसन रात के खाने के बाद आसानी से किया जा सकता है, क्योंकि यह पाचन को बढ़ावा देता है।

इस योग मुद्रा को करने के लिए आपको अपने दोनों पैरों को मोड़कर अपने नितंबों पर रखना है। और हाथों को घुटनों पर रखें। अपनी पीठ को सीधा रखें और गहरी सांस लें। बस इसी योगासन में कम से कम 10-15 मिनट तक रहें।

yoga digestion ke liye
वज्रासन का नियमित अभ्यास करें। चित्र : शटरस्टॉक

2. गोमुखासन (Cow Face Pose)

गोमुखासन पाचन में मदद करता है और खाना खाने के बाद आपके पेट का इलाज कर सकता है। यह आपकी रीढ़ और पेट की मांसपेशियों को फ्लेक्स करने में मदद करता है, जिससे पाचन प्रक्रिया आसान हो जाती है।

सबसे पहले आपको अपना बायां पैर लेना है और अपने टखने को बाएं नितंब के पास रखना है। फिर अपने दाहिने पैर को लेकर बाएं पैर पर इस तरह रखें कि दोनों पैरों के दोनों घुटने एक दूसरे को छू रहे हों। अपने दोनों हाथों का प्रयोग करें और उन्हें पीछे की ओर रखें ताकि दायां हाथ बाएं हाथ से मिल जाए। याद रखें इसे करते समय अपनी पीठ सीधी रखें। इस योग मुद्रा में कम से कम 30 सेकेंड से 1 मिनट तक रहें।

paachan tantr ke liye faydemand
ये आसान पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद है। चित्र : शटरस्टॉक

3. धनुष मुद्रा

धनुष मुद्रा आपके पाचन अंगों के कार्य को बढ़ाने में मदद करती है। इस आसान को करने के लिए आप अपने पेट के बल लेट सकते हैं और अपने पैरों को मोड़ लें। वापस छूने की कोशिश करें और अपनी बाहों और हाथों का उपयोग करके टखनों को पकड़ें। अपने शरीर को ऊपर उठाने के बजाय, आप अपनी टखनों को पीछे की ओर रखें। आप अपने कंधों को जितना हो सके खींचें।

4. माला मुद्रा

यदि आप ब्लोटेड और अपच महसूस कर रही हैं तो माला मुद्रा मदद कर सकती है। यह मुद्रा आपके द्वारा खाए गए अतिरिक्त भोजन को हटाने में मदद करती है। अपच से लड़ने के लिए माला मुद्रा एक प्राकृतिक तरीका है।

आप अपने पैरों को अपने कंधों जितना चौड़ा रखते हुए स्क्वाट कर सकती हैं। यदि आपकी एड़ी फर्श को नहीं छू रही है, तो इस मुद्रा में उचित संतुलन बनाए रखने और अपने पैरों को सहारा देने के लिए अपनी एड़ी के नीचे एक कंबल रखें। आप अपनी रीढ़ को फैला सकती हैं और गहरी सांस लेती रहें।

यह भी पढ़ें ; 5 सेलेब फिटनेस इंफ्लुएंसर जिन्हें आपको तुरंत इंस्टाग्राम पर फॉलो करना चाहिए

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें