टेंशन से लेकर हाइपरटेंशन तक की छुट्टी कर सकते हैं योग के ये 4 बेसिक आसन, जानिए सही तरीका

अगर आप हाइपेरटेंशन से ग्रस्त है और मुक्ति पाना चाहती हैं, तो इन योगासनों के माध्यम से अपनी इस समस्या को सुलझा सकती है। जानते हैं ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने वाले ये 4 योगासन।
bhramari pranayama shanti pradan karta hai.
योग से करें अपने शरीर को 7 चक्रों को संतुलित। चित्र : अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Updated: 18 Oct 2023, 10:16 am IST
  • 141

शरीर को हेल्दी रखने के लिए खान पान के अलावा फिजिकल एक्टिविटी भी बेहद ज़रूरी है। उम्र के साथ वर्कआउट की आवश्यकता भी बढ़ने लगती है। अन्यथा हमारा शरीर हृदय रोग, ब्लड प्रेशर, डायबिटीज़ और डिप्रेशन जैसी समस्याओं का शिकार होने लगता है। अगर आप भी हाइपेरटेंशन से ग्रस्त है और उससे मुक्ति पाना चाहती हैं, तो इन योगासनों के माध्यम से अपनी इस समस्या को सुलझा सकती है। जानते हैं खुद को फिट रखने और ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने वाले ये 4 योगासन (yoga for hypertension) ।

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन की एक स्टडी की मानें, तो वे लोग जो हाइपरटेंशन से ग्रस्त है। उन्हें दिन में 3 बार योगाभ्यास करना चाहिए। वे लोग जो इस रूटीन को फॉलो कर रहे थे। उनके शरीर में ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है। इसके अलावा मेडिटेशन और ब्रीदिंग एक्सरसाइज़ की अपेक्षा योग मुद्राओं से ब्ल्ड प्रेशर को आसानी से बढ़ने से रोका जा सकता है।

हाइपेरटेंशन की समस्या को दूर करने के लिए ये योगासन करें अपने रूटीन में शामिल

1. बालासन

मानसिक परेशानी हमारे पूरे शरीर को नुकसान पहुंचाती है। इस योगासन को करने से हमारा माइंड रिलैक्स और मन संतुलित रहता है। इसके अलावा घुटनों के बल बैठकर किए जाने वाले इस योग के कारण हिप्स और स्पाइन में भी लचीलापन बढ़ने लगता है। इसे नियमित तौर पर करने से हाइपरटेंशन की समस्या से बचा जा सकता है।

जानते हैं बालासन को करने का तरीका

इस योगासन को करने के लिए मैट पर सीधा खड़े हो जाएं। अब दोनों घुटनों को मोड़ते हुए बैठें। इस दौरान कमर को एक दम सीधा रखें।
एड़ियों पर बैठते हुए दोनों पैरों को एक दूसरे से चिपका लें। इसके बाद दोनों हाथों को थाइज़ पर टिकाएं और गहरी सांस लें।
इसके बाद दोनों हाथों को नमस्कार की मुद्रा में लेकर आएं और बाजूओं को एकदम सीधा रखते हुए ज़मीन पर रखें ।
अपने चेहरे को ज़मीन से छूएं और हाथों को आगे की ओर खींचें। आप चाहें, तो सिर के नीचे तकिया भी टिका सकती है।
इस योगासन के दौरान गहरी सांस लें और छोड़ें। इस योगमुद्रा में शरीर को 30 सेकण्ड तक बनाए रखें। इस प्रकार 2 से 3 बार इस योग मुद्रा को दोहराएं।

Hypertension ko dur krne ke liye yoga
इसे नियमित तौर पर करने से हाइपरटेंशन की समस्या से बचा जा सकता है।
। चित्र : शटरस्टॉक

2. पश्चिमोतानासन

वे लोग जो हाइपरटेंशन का शिकार है। उनके लिए इस योग को करना बेहद ज़रूरी है। ज़मीन पर बैठकर किए जाने वाले इस योग को करने से मांसपेशियों की ऐंठन दूर होती है। साथ ही ब्लड फ्लो बेहतर बना रहता है। इसका नियमित अभ्यास शरीर को कई प्रकार के लाभ पहुंचाता है।

जानते हैं पश्चिमोतानासन को करने का तरीका

इस योग को करने के मैट पर सीधा बैठ जाएं। अब दोनों टांगों को आगे की ओर रखें और घुटनों को भी सीधा रखें। अब गहरी सांस लें।
योग के दौरान रीढ़ की हड्डी का सीधा रहना आवश्यक है। इस दौरान दोनों हाथों से पैरों को छूएं। अब सांस को छोड़ते हुए सिर को घुटनों पर रखें।
दोनों हाथों से पैरों को पकड़े रखें। इस दौरान आंखें भी बंद रखें। इस मुद्रा में 30 सेकण्ड से लेकर 1 मिनट तक बने रहे।
दिन में 2 से 3 बार इस योगासन का अभ्यास आवश्यक है। इससे आप खुद को टेंशन और तनाव से दूर रख पाती है।

3. बद्धकोणासन

शरीर में लचीलापन लाने और रक्त प्रवाह को नियमित रखने के लिए बद्धकोणासन एक बेहतरीन विकल्प है। इस योगासन को आप कहीं भी और किसी भी उम्र के लोग आसानी से कर सकते हैं। इसे करने से सीने में जलन, एसिडिटी और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या दूर हो जाएगी।

जानते हैं बद्धकोणासन को करने का तरीका

इस योग को करने के लिए मैट पर बैठ जाएं। अब दोनों पैरों के पंजों को आपस में जोड़ लें। इस दौरान घुटनों को मोड़े।
दोनों हाथों से पंजों को पकड़ लें। इसके बाद थाइज़ को उपर नीचे करें। बटरफ्लाई पोज़ के नाम से मशहूर इस योग को नियमित तौर पर करें।
इसे करने से मांसेपशियों को सुकूल मिलता है। इस योगासन को 1 से 2 मिनट तक करें। इससे टांगों में दर्द और बैक पेन की समस भी हल हो जाती है।
इस योग को रोज़ाना करने से ब्लड प्रेशर नियंत्रित बना रहता है।

Hypertension se bachne ke liye karein yeh yog
इस योगासन को आप कहीं भी और किसी भी उम्र के लोग आसानी से कर सकते हैं। चित्र : एडोबी स्टॉक

4. वीरासन

इस योग को करने से पाचन संधी समस्याएं दूर होती है। साथ ही घुटनों और हाई बीपी की समस्या हल होने लगती है। इसे नियमित तौर पर करने से याददाश्त कम होने की परेशानी से राहत मिल जाती है। इसके अलावा पैरों का दर्द भी इस योग को करने से ठीक होने लगता है।

जानते हैं वीरासन को करने का तरीका

इस योग को करने के लिए मैट पर वज्रासन में बैठ जाएं। उसके बाद दोनों पंजों को पीछे की ओर लेकर जाएं।
योगासन को करने के लिए दोनों पैरों को हिप्स से न छूते हुए नीचे की ओर रख लें। अब दोनों पैरों की उंगलियों को एक दूसरे से छूएं।
अब दोनों हाथों को घुटनों पर रखें और गहरी सांस लें व छोड़े। इस प्रक्रिया को 1 मिनट तक दोहराएं। इससे शरीर में ब्लड फ्लो बेहतर होने लगता है।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

ये भी पढ़ें- डेस्क जॉब के कारण बढ़ रहा है लोअर बॉडी फैट, तो इन 4 इफेक्टिव स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज से करें बर्न

  • 141
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख