काम करते हुए ध्यान भटक जाता है, तो जानिए डिस्ट्रेक्शन को कैसे करना है डील

पढ़ाई करते हुए मोबाइल फोन की याद आना और इधर उधर की बातें सोचने की आदत आपको लगभग सभी बच्चों में देखने को मिल जाएगी। ऐसे में हम सभी को डिस्ट्रेक्शन से डील करना आना चाहिए।
distraction
यहां जानें डिस्ट्रेक्शन से कैसे डील करना है। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 30 Jul 2023, 03:30 pm IST
  • 136

इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में 9 से 5 ऑफिस ऑवर पूरा करने के बाद सोशल मीडिया स्क्रोल करना, रात को देर तक जागना और असमय भोजन करने की आदत लोगों के नियमित दिनचर्या का हिस्सा बन चुकी है। इन सभी के बीच हम किसी भी कार्य पर पूरी तरह से ध्यान केंद्रित नहीं रख पा रहे हैं। हम काम कुछ और कर रहे होते हैं और हमारा ध्यान कहीं और होता है। यहां तक कि बच्चों में भी डिस्ट्रक्शन काफी ज्यादा बढ़ गया है। पढ़ाई करते हुए मोबाइल फोन की याद आना और इधर उधर की बातें सोचने की आदत आपको लगभग सभी बच्चों में देखने को मिल जाएगी। ऐसे में हम सभी को डिस्ट्रेक्शन (Distraction) से डील करना आना चाहिए।

जब आप डिस्ट्रेक्शन को खुद पर हावी नहीं होने देना सीख जाएंगी, तब आप अपने बच्चों को भी इसके प्रति जागरूक कर सकती हैं। डिस्ट्रक्शन पर काबू पाना इतना भी मुश्किल नहीं है, कुछ जरूरी बातों को ध्यान में रखते हुए आप इससे आसानी से निपट सकती हैं। तो चलिए आज हेल्थ शॉट्स के साथ जानते हैं डिस्ट्रक्शन (Distraction) से बचने के कुछ प्रभावी तरीके।

distraction
डिस्ट्रेक्शन से डील करना आना चाहिए। चित्र : एडॉबीस्टॉक

यहां जानें डिस्ट्रेक्शन से डील करने के टिप्स (how to deal with distraction)

1. एक दिन पहले ही नए दिन की योजना बना लें

अपने दिन को उत्पादक बनाने के लिए पहले से ही योजनाएं बना लें, ताकि क्या करना है और क्या नहीं यह सोचते हुए पूरा दिन व्यर्थ न हो जाए। हर दिन एक निश्चित कार्य के साथ एक वैकल्पिक कार्य को दिमाग में जरूर रखें। यदि पहले कार्य को करने में किसी प्रकार की रुकावट आती है, तो दूसरे कार्य पर शिफ्ट हो जाएं।

ईमेल चेक करने, फ़ोन कॉल करने या सोशल मीडिया फ़ीड पढ़ने से पहले अपने इन कामों को खत्म करने का लक्ष्य बनाए। ऐसा करने से आप बिना डिस्ट्रेक्शन के सभी कार्य को समय पर पूरा कर पाएंगी। हालांकि, शुरुआत में आपके लिए अपने इन लक्ष्यों को पूरा करना मुश्किल हो सकता है, परंतु नियमित रूप से इन्हें अपनी आदतों में शामिल करने से आपको इसकी आदत हो जाएगी।

2. मेडिटेशन में भाग लें

मेडिटेशन आपके दिमाग के बीच में आने वाले विचारों को छोड़ आपको एक चीज़ पर केंद्रित होने की अनुमति देता है। शुरुआत करने के लिए, दिन में तीन से पांच मिनट तक एक जगह पर चुपचाप बैठने का प्रयास करें फिर अपनी आंखें बंद करें और 34 तक गिनें।

यह शुरुआत में कठिन हो सकता है क्योंकि मन अन्य विचारों की ओर भटकता है जो आपको 34 की गिनती तक पहुंचने से रोक सकता है। इस अभ्यास को करते वक्त किसी तरह की भावना या संवेदना पर ध्यान केंद्रित करें। यह जितना प्रतीत होता है उससे कहीं अधिक कठिन कार्य है, इसलिए इसमें समय लग सकता है।

sleep
नींद की कमी से शरीर का सर्केडियन सिस्टम भी प्रभावित हो जाता है ।चित्र : एडोबी स्टॉक

3. नींद पूरी करें

7 से 9 घंटे की स्लीप साइकिल को हेल्दी माना जाता है, डॉक्टर भी 7 घंटे से अधिक और 9 घंटे से कम सोने की सलाह देते हैं। कई लोग घूमने फिरने के लिए तो कुछ लोग काम पूरा करने के लिए देर रात तक जागते हैं और सुबह जल्दी उठ जाते हैं, जिसकी वजह से अगले दिन की पूरी दिनचर्या अस्त-व्यस्त हो जाती है। साथ ही वे किसी भी चीज पर ध्यान केंद्रित नहीं रख पाते। हालांकि, इसका नुकसान लॉन्ग टर्म में आपकी सेहत को भुगतना पड़ सकता है। ऐसे में उचित नींद लेने और थोड़ा आराम करने से आपको ध्यान बढ़ाने और अपने समग्र स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद मिलेगी।

4. अपने नियमित गतिविधियों में लाएं सकारात्मक बदलाव

यदि आप पूरे दिन फोन चलाती रहती हैं और स्क्रीन पर काम करती हैं, तो यह आपके लिए बेहद खतरनाक हो सकता है। यह न केवल आपका फोकस बढ़ाता है, बल्कि आपको अन्य कई रूपों में नुकसान पहुंचा सकता है। दिन में कम से कम 30 मिनट के लिए, एक्सरसाइज करें, जॉगिंग और वॉकिंग भी अच्छा विकल्प है साथ ही बाइक पर खुले वातावरण में आसपास कहीं जा सकती हैं साथ ही पसंदीदा खेल खेलें, खासकर इस स्थिति से बाहर आने के लिए शतरंज खेलने पर विचार करें।

हमेशा याद रखें कि स्वस्थ शरीर का मतलब स्वस्थ दिमाग है। जब शरीर बीमार हो या मन उदास हो तो ध्यान केंद्रित करना बेहद मुश्किल हो सकता है।

यह भी पढ़ें : कॅार्टिसोल हाॅर्मोन बढ़ाता है आपका स्ट्रैस, जानिए इसे कैसे कंट्रोल करना है

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

5. मल्टी-टास्किंग से बचें

यदि आप मल्टी-टास्किंग को खत्म कर दें तो आप किसी भी कार्य पर अपना ध्यान अधिक केंद्रित रख सकती हैं। ऐसे में लक्ष्यों को प्राप्त करने की अधिक संभावना है। मल्टी-टास्किंग को खत्म करने से आपको अपने सबसे महत्वपूर्ण काम पर ध्यान केंद्रित करने में मदद मिलती है, और आप सुनिश्चित रूप से उस कार्य को अधिक प्रभावी या उत्पादक तरीके से करती हैं।

यदि आप लगातार कार्यों के बीच स्विच करती रहती हैं तो आपके लिए सबसे महत्वपूर्ण काम पर ध्यान केंद्रित करना मुश्किल हो सकता है। ध्यान केंद्रित रखने के लिए, दैनिक प्राथमिकताओं की एक सूची बनाएं और एक समय में एक कार्य पर ध्यान केंद्रित करें।

happy-woman
कभी कभी ब्रेक लेना हेल्दी है. चित्र : एडॉबीस्टॉक

6. ब्रेक लेने से मिलेगी मदद

डिस्ट्रेक्शन को पीछे छोड़ अपने प्रदर्शन और उत्पादकता को बढ़ाने के लिए ब्रेक लेना महत्वपूर्ण है। दिन भर में ब्रेक लेने से वास्तव में आप किसी भी कार्य पर ध्यान केंद्रित रख पाती हैं और इससे आपको ऊर्जा बढ़ाने में भी मदद मिलेगी।

यदि आप कार्यों के बीच ब्रेक नहीं लेती हैं तो आपको अधिक थकान महसूस होता है जिसकी वजह से आप किसी भी एक कार्य पर लंबे समय तक ध्यान केंद्रित नहीं रख पाती। बिना ब्रेक के लंबे समय तक काम करने से फोकस कम हो जाता है, एकाग्रता सीमित हो जाती है और थकान हो जाती है।

जब आप पूरे दिन नियमित रूप से ब्रेक लेती हैं, तो आप अधिक केंद्रित रहती हैं और अधिक उत्पादक रूप से काम कर पाती हैं।

यह भी पढ़ें : क्या आप फबिंग के बारे में जानते हैं? ज्यादातर रिश्तों के टूटने का कारण बन रही है यह आदत

  • 136
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख