इस मानसून हेल्दी स्नैक्स के साथ आजमाएं ये हेल्दी बिहारी स्टाइल चटनियां, हम बता रहे हैं बनाने का तरीका

यदि पुदीना और धनिया पत्ते की चटनी खा कर थक चुकी हैं, तो चिंता न करें हम लेकर आए हैं आपके लिए आम चटनी से हटकर बिहारी स्टाइल चटनी की 3 खास रेसिपी। इन्हें आज ही ट्राई करें।
bihari style chutney recipe
यहां है बिहारी स्टाइल चटनी की 3 स्वादिष्ट रेसिपी। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 16 Jul 2023, 03:30 pm IST
  • 135

बरसात, चाय और पकोड़े के कॉन्बिनेशन का कोई तोड़ नहीं है। यदि रिमझिम बारिश में पकोड़े के साथ स्वादिष्ट चटनी सर्व कर दी जाए तो व्यक्ति को और क्या चाहिए। पुदीना और धनिया पत्ते की चटनी तो आपने बहुत खाई होगी तो आज हमने सोचा क्यों न आपके लिए कुछ हटके तैयार किया जाए। बिहार के मशहूर डिश लिट्टी चोखा के बारे में आप सभी ने सुना होगा, परंतु वहां की चटनी भी काफी प्रचलित है। इन्हें बनाने में इस्तेमाल किए गए सामग्री से लेकर इन्हें बनाने के तरीके में भी एक अलग सा स्वाद है। बरसात में पकोड़े के साथ इन चटनी का सेवन बेहद आनंदित रहेगा।

मैं बिहार से हूं और हम सालों से इन चटनी का आनंद लेते आ रहे हैं। यह खाने में जितने स्वादिष्ट लगते हैं, उतने ही सेहत के लिए भी फायदेमंद होते हैं। इन्हें बनाने में इस्तेमाल हुई सभी सामग्री पूरी तरह से हेल्दी है। तो मैंने सोचा क्यों न इनकी रेसिपी को आपके साथ भी शेयर किया जाए, ताकि आप भी इस बरसात खुलकर इनका आनंद ले सके। तो चलिए आज हेल्थ शॉट्स के साथ बनाते हैं, बिहारी स्टाइल इन 3 खास चटनी की रेसिपी (bihari style chutney recipe)।

coconut chutney ke fayde
नारियल की गुडनेस इस सफेद चटनी में समा गई है। चित्र: शटरस्‍टॉक

यहां है बिहारी स्टाइल चटनी की 3 स्वादिष्ट रेसिपी (bihari style chutney recipe)

1. चना दाल की लाजवाब चटनी

फाइबर से भरपूर चना दाल पाचन क्रिया के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इसमें प्रोटीन, पोटेशियम और आयरन जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो इसे सेहत के लिए अधिक फायदेमंद बनाते हैं। इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी बहुत कम होता है। इस प्रकार यह ब्लड ग्लूकोस लेवल को भी संतुलित रखता है। फाइबर और कॉन्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट क्रेविंग्स को कम कर देते हैं और फैट बर्न करने में मदद करते हैं।

इसे बनाने के लिए आपको चाहिए

चना दाल
अदरक
लहसुन
हरी मिर्च
कड़ी पत्ता
लाल मिर्च
नमक
राई
सूखी लाल मिर्च
सरसो का तेल

इस तरह तैयार करें

सबसे पहले चना दाल को भिगोकर 5 से 6 घंटे के लिए रख दें।

अब एक ब्लेंडिंग जार में भिगोए हुए चना दाल, लहसुन, अदरक, हरी मिर्च, कड़ी पत्ता डालकर सभी को अच्छी तरह ब्लेंड कर लें।

कंसिस्टेंसी गाढ़ी रखनी है इसलिए इसमें ज्यादा पानी न मिलाएं।

यदि आपके पास सिलबट्टा है तो चना दाल को उसपे पीसें।

तैयार की गई चटनी में स्वादानुसार नमक मिला लें।

एक पैन में सरसों का तेल डालें उसमें राई, सुखी लाल मिर्च और कड़ी पत्ता डालकर 30 सेकंड तक भूने, फिर इससे चटनी में तड़का लगाएं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

आप की चटनी बनकर तैयार है इसे अपने पसंदीदा पकड़ो के साथ सर्व करें।

sattu ke fayde
चने का सत्तू आपके बहुत काम आ सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

2. सत्तू की कूलिंग चटनी

सत्तू बिहार के काफी प्रचलित सामग्री में से एक है। इसे खासकर गर्मियों में बेहद पसंद किया जाता है। परंतु ऐसा नहीं है कि आप इसे केवल गर्मियों में ही खा सकती हैं। यह प्रोटीन और फाइबर जैसे पोषक तत्वों का एक बेहतरीन स्रोत है, साथ ही इसमें कूलिंग प्रॉपर्टी पाई जाती है, जो आपके शरीर को अंदर से ठंडक प्रदान करती है। इसका नियमित सेवन ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखता है, साथ ही ब्लड प्रेशर को भी रेगुलेट करता है।

इसमें मौजूद फाइबर पाचन क्रिया तथा कोलेस्ट्रॉल के स्तर के लिए प्रभावी रूप से कार्य करते हैं। वहीं इसका सेवन पेट के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। यदि आप वेट लॉस डाइट पर हैं, तो यह आपके लिए एक प्रभावी विकल्प साबित हो सकता है।

सत्तू चटनी बनाने के लिए आपको चाहिए

सत्तू
प्याज (बारीक कटा हुआ)
हरी मिर्च (बारीक कटी हुई)
धनिया की पत्तियां
नींबू का रस
पानी
सरसों का तेल
नमक (स्वादानुसार)

इस तरह तैयार करें

एक बाउल में सत्तू डालें, उसमें प्याज, हरी मिर्च और धनिया की पत्तियों को डालकर एक साथ अच्छी तरह मिला लें।

इसमें नमक और नींबू का रस डालें अब धीरे-धीरे पानी डालते हुए सत्तू को मिलाएं।

इसकी कंसिस्टेंसी को अपने अनुसार सेट कर लें।

अब एक पैन में सरसों का तेल डालें और इसे गुनगुना कर लें। फिर इसे चटनी के ऊपर डाल दें और अच्छी तरह से मिला लें।

आप की चटनी बनकर तैयार है। इसे धनिया पत्ते से गार्निश करें और पराठा, रोटी पकौड़े किसी भी चीज के साथ एंजॉय कर सकती हैं।

tomato chutney ki recipe
जानिए हेल्दी और टेस्टी टोमेटो चटनी तैयार करने की विधि। चित्र : एडॉबीस्टॉक

3. टमाटर की खट्टी मीठी चटनी

विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर टमाटर तमाम स्वास्थ्य समस्याओं में प्रभावी रूप से कार्य करता है। इसका सेवन इम्यूनिटी बूस्ट करने के साथ ही पाचन क्रिया के लिए भी बेहद फायदेमंद हो सकता है। इतना ही नहीं यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को सामान्य रखते हुए दिल की सेहत को बढ़ावा देता है।

टमाटर त्वचा के लिए भी कमाल का होता है। टमाटर में मौजूद लाइकोपिन मसूड़ों से जुड़ी समस्या में प्रभावी रूप से काम करते हैं और ओरल हेल्थ बनाए रखते हैं। इस चटनी को बनाने में इस्तेमाल होने वाली अन्य सभी सामग्री को पूरी तरह से सेहत को ध्यान में रखते हुए चुना गया है।

बिहारी स्टाइल टमाटर की चटनी बनाने के लिए आपको चाहिए

टमाटर
लहसुन
हरी मिर्च (बारीक कटी हुई)
धनिया की पत्तियां (बारीक कटी हुई)
प्याज (बारीक कटा हुआ)
नमक
सरसों का तेल
जीरा पाउडर

यह भी पढ़ें : सबसे पौष्टिक पेय है नारियल का पानी, इन 6 आसान तरीकों से करें इसे अपनी डेली डाइट में शामिल

इस तरह तैयार करें

गैस स्टोव को जलाकर उसपर टमाटर और लहसुन रखें। इन्हें सभी ओर से अच्छी तरह रोस्ट कर लें।

जब यह रोस्ट हो जाए तो टमाटर को हल्का ठंडा कर लें और इसकी ऊपर की त्वचा को उतार दें। ठीक इसी प्रकार लहसुन की भी त्वचा को भी उतार लें।

अब एक बाउल में टमाटर और लहसुन की कलियां डाल कर दोनों को एक साथ अच्छी तरह से मसल लें।

फिर इसमें बारीक कटी धनिया की पत्तियां, हरी मिर्च और प्याज डालकर एक साथ अच्छी तरह मिला लें।

फिर इसमें स्वाद अनुसार नमक और जीरा पाउडर मिलाएं।

एक पैन में बिल्कुल थोड़ा सा सरसों का तेल गर्म कर लें और इसे चटनी के ऊपर डाल दें।

चटनी को अच्छी तरह मिला लें और इस स्वादिष्ट चटनी को पकोड़े, रोटी या पराठे के साथ इंजॉय करें।

यह भी पढ़ें : Healthy Eating Habits : वेट लॉस में जिम या एक्सरसाइज से भी ज्यादा मददगार हो सकती हैं खानपान की ये 5 आदतें

  • 135
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख