Banana Bread Pudding : केले और ब्रेड से बनाएं पुडिंग और एन्जॉय करें अपना चीट डे

हम सभी कितने भी फिटनेस फ्रीक क्यों न हो कभी न कभी मीठे की क्रेविंग के कारण कुछ अनहेल्दी खा लेने से बैंड जरूर बज सकती है। जो लोग डायबिटीज के रोगी है उन लोगों के लिए भी पुडिंग का सेवन कुछ ही अनहेल्दी मीठा खाने से ज्यादा सेफ है।
bread pudding
केले कार्बोहाइड्रेट का एक प्राकृतिक स्रोत हैं, जो शरीर के लिए ऊर्जा का प्राथमिक स्रोत हैं। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published: 12 May 2024, 11:00 am IST
  • 134
Preparation Time
Preparation Time 15 mins
Cook Time
Cook Time 10 mins
Total Time
Total Time 30 mins
Serves
Serves 03

अगर आपको मीठा खाने का शौक है, तो स्वादिष्ट पुडिंग और स्वादिष्ट मिठाइयों का विरोध करना असंभव काम लग सकता है। सौभाग्य से, ब्रेड और बनाना जैसी कई स्वस्थ पुडिंग रेसिपी हैं जिन पर आप अपनी मीठी की क्रेविंग को संतुष्ट करने के लिए भरोसा कर सकते हैं। शाम के स्नैक्स में भी आप इन हेल्दी पुडिंग का आनंद ले सकते है। इस पुडिंग को किसी भी समारोह में भी मिठाई के अनहेल्दी विकल्प की जगह पर इस्तेमाल कर सकते है। ये तो हम सभी जानते है कि शाम के लिए तले हुए स्नैक्स खाने से स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं बढ़ सकती हैं। शाम के नाश्ते को स्वादिष्ट और सेहतमंद बनाने के बीच सही संतुलन बनाना असली चुनौती है। इसलिए आज हम आपके लिए केले और ब्रेड से बनने वाली ये टेस्टी पुडिंग की रेसिपी लेकर आएं है।

हम सभी कितने भी फिटनेस फ्रीक क्यों न हो कभी न कभी मीठे की क्रेविंग के कारण कुछ अनहेल्दी खा लेने से बैंड जरूर बज सकती है। जो लोग डायबिटीज के रोगी है उन लोगों के लिए भी पुडिंग का सेवन कुछ ही अनहेल्दी मीठा खाने से ज्यादा सेफ है। मीठा खाना वजन बढ़ने का भी बहुत बड़ा कारण होता है, इसलिए अगर आप वजन कम कर रहीं है औऱ अपनी डाइट से शुगर को कट कर रहीं है तो भी ये पुडिंग आपके लिए काफी अच्छा हो सकती है।

केले में डाइट्री फाइबर होता है। इसमें घुलनशील फाइबर की मात्रा अधिक होती है। चित्र- अडोबी स्टॉक

केला-ब्रेड पुडिंग के फायदे (Benefits of banana bread pudding)

1 इंस्टेंट एनर्जी का स्रोत है

केले कार्बोहाइड्रेट का एक प्राकृतिक स्रोत हैं, जो शरीर के लिए ऊर्जा का प्राथमिक स्रोत हैं। बनाना पुडिंग का सेवन करने से ऊर्जा का एक त्वरित और आसानी से पचने वाला स्रोत मिल सकता है, जो इसे प्री- या पोस्ट-वर्कआउट स्नैक या दोपहर के समय के लिए एक बेहतरीन विकल्प बनाता है।

2 पाचन क्रिया में मददगार

केले में डाइट्री फाइबर होता है। इसमें घुलनशील फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जो मल त्याग को आसान करता है और पाचन स्वास्थ्य को बेहतर करने में मद करता है। ब्रेड पुडिंग का सेवन करने से कब्ज को रोकने में मदद मिल सकती है।

3 वजन बनाए रखने में मदद करता है

बनाना पुडिंग एक संतोषजनक और कम कैलोरी वाला मिठाई का विकल्प हो सकता है जब इसे केले, दूध और दही जैसी पौष्टिक सामग्री से बनाया जाता है। बनाना पुडिंग में मौजूद फाइबर और प्रोटीन आपके पेट को भरा हुआ और संतुष्ट महसूस कराने में मदद कर सकते हैं, ।

जानिए कैसे बनानी है बनाना ब्रेड पुडिंग (Banana bread pudding recipe)

बनाना ब्रेड पुडिंग बनाने के लिए आपको चाहिए

पुडिंग बनाने के लिए

पाव ब्रेड 3
केला 1
काजू ¼ कप
कस्टर्ड पाउडर 2 बड़े चम्मच
चीनी 2 बड़े चम्मच
दूध 1 कप
दालचीनी पाउडर – ½ छोटा चम्मच
चॉकलेट चिप्स – ¼ कप
ब्लूबेरी मुट्ठी भर
बटर पिघला हुआ 2 बड़े चम्मच

सजाने के लिए चाहिए

चॉकलेट चिप्स
ब्लूबेरी
किशमिश
पुदीने की पत्ती

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
kela sehat ke liye faydemand hai
केला सेहत के लिए है फायदेमंद। चित्र- शटरस्टॉक।

चलिए आब जानते हैं कैसे बनाएं पुडिंग

  1. एक बेकिंग ट्रे में आइसिंग शुगर डालें, पाव ब्रेड काटें और उन्हें 140 डिग्री सेल्सियस पर 10 से 15 मिनट तक बेक करें।
  2. इसके साथ ही अलग से केले छीलकर काट लें और काजू, कस्टर्ड पाउडर, चीनी, दूध और दालचीनी पाउडर के साथ ब्लेंडर में मोटा-मोटा पीस लें।
  3. पके हुए ब्रेड को एक कटोरे में डालें और उस पर चॉकलेट चिप्स और ब्लूबेरी छिड़कें।
  4. केले के मिश्रण को कटोरे में डालें और ब्रेड के साथ मिक्स कर लें।
  5. फिर पुडिंग की कटोरी में पिघला हुआ बटर लगाएं और इसमें पुडिंग डालें।
  6. पुडिंग के ऊपर चॉकलेट चिप्स और ब्लूबेरी डालें।
  7. पुडिंग की कटोरी को बेकिंग ट्रे पर रखें और ट्रे में पानी डालें।
  8. फिर उन्हें 180 डिग्री सेल्सियस पर लगभग 35 से 40 मिनट तक बेक करें।

ये भी पढ़े- Mother’s day special : ऑल टाइम फेवरिट हैं मम्मी की बनाई और सिखाई ये 5 कूलिंग रेसिपीज

  • 134
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख