जन्माष्टमी पर धनिया पंजीरी से सजाएं भोग प्रसाद का थाल, पाचनतंत्र और ब्लड शुगर लेवल रहेगा दुरुस्त

जन्माष्टमी के दिन नन्हे बाल गोपाल को भोग लगाने के लिए धनिया पंजीरी को विशेषतौर से तैयार किया जाता है। जानते हैं इस पारंपरिक व्यंजन को बनाने की रेसिपी और इसके फायदे भी।
Dhaniya panjiri banane ki recipe
जानते हैं इस पारंपरिक व्यंजन को बनाने की रेसिपी और इसके फायदे भी। चित्र- अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Updated: 6 Sep 2023, 04:39 pm IST
  • 141

व्रत और त्योहारों की श्रृखंला में अब बारी आई है श्री कृष्ण जन्माष्टमी (Shri Krishna Janmashtami) की। त्योहारों की बात हो और भोग प्रसाद (Bhog prasad) के बिना ही समाप्त हो जाए ऐसा नामुमकिन है। इस त्योहर को खास बनाने के लिए आज हम तैयार करेंगे धनिया पंजीरी, जो सदियों से दादी और नानी बनाती आ रही हैं। उसी कड़ी में अब मां भी बनाती हैं। मां की रसोई में पकने वाले इस खास व्यंजन को जन्माष्टमी (Janmashtami) के दिन नन्हे बाल गोपाल को भोग लगाने के लिए विशेषतौर पर तैयार किया जाता है। जानते हैं इस पारंपरिक व्यंजन को बनाने की रेसिपी और इसके फायदे भी (Janmashtami Prasad health benefits)

मसालों में खास धनिया पाउडर में आयरन, कॉपर, कैल्शियम, पोटेशियम और जिंग की भरपूर मात्रा पाई जाती है। धनिया के पाउडर से पंजीरी का प्रयाद तैयार किया जाता है। जो बेहद पौष्टिक आहार माना जाता है। दिनभर उपवास (Janmashtami fast ) में रहने के बाद धनिया से तैयार पंजीरी के प्रसाद (Dhaniya panjiri prasad) को खाकर व्रत खोला जाता है। इसे खाने के बाद पेट फूलने और दर्द की समस्या नहीं रहती है। डाइजेशन को मज़बूत करने के अलावा इसका सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा भी कम हो जाती है। जानते हैं धनिया पंजीरी (Dhaniya panjiri) के कुछ अन्य फायदे।

आपकी सेहत के लिए क्या हैं धनिया पंजीरी के फायदे

1 ब्लड शुगर लेवल कंट्राेल करे

एनसीबीआई के मुताबिक धनिया में पाए जाने वाले एंजाइम्स ब्लड में शुगर के स्तर को कम कर देते हैं। इससे बॉडी का ब्लड शुगर लेवल नियमित रहता है। ऐसे में अपनी डाइट में धनिया पाउडर को अवश्य प्रयोग करें। इसके अलावा सूखे मेवे भी शरीर को ताकत प्रदान करते हैं। साथ ही शुगर को बढ़ने से राकते हैं।

2 हड्डियां बनाए मज़बूत

एंटीऑक्सीडेंटस से भरपूर धनिया के पाउडर का सेवन करने से शरीर का इम्यून सिस्टम मज़बूत होने लगता है। इसके अलावा हड्डियों को भी मज़बूती मिलती है। ड्राई.फ्रूट खाने से आप दिनभर एनर्जी से भरपूर रहते हैं। इससे वर्क प्रोडक्टिविटी भी बढ़ने लगती है।

3. घुटनों के दर्द से राहत देता है

धनिया का प्रसाद बनाने में धनिया पाउडर, पांच मगज और सूखे मेवों को प्रयोग किया जाता है। इसका सेवन करने से घुटनों और कमर में होने वाले दर्द से मुक्ति मिलती है। साथ ही आपकी शरीर तंदरूस्त बना रहता है। इससे ओवरवेट की समस्या भी कम हो जाती है।

4. पाचन संबधी समस्याएं होगीं हल

डाइटरी फाइबर रिच होने के चलते धनिया का सेवन करने से मेटाबॉलिज्म बढ़ने लगता है। पाचन शक्ति बढ़ती है। साथ ही कुछ भी खाने के बाद एसिडिटी और ब्लोटिंग की समस्या का जोखिम भी कम हो जाता है।

Dhaniya panjiri ke fayde
डाइजेशन को मज़बूत करने के अलावा इसका सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल की मात्रा भी कम हो जाती है। चित्र- अडोबी स्टॉक

अब नोट कीजिए धनिया पंजीरी प्रसाद बनाने का तरीका

इसे बनाने के लिए हमें चाहिए

सूखा धनिया 1 कटोरी
बादाम 100 ग्राम
मखाने 100 ग्राम
काजू 100
किशमिश 100 ग्राम
गोंद 100 ग्राम
घी 4 बड़े चम्मच
दानेदार मिशरी 2 बड़े चम्मच
बूरा या ब्राउन शुगर – 50 ग्राम
नारियल 250 ग्राम

dhaniya panjiri recipe
धनिया पंजीरी के स्वास्थ्य लाभ और रेसिपी. चित्र : शटरस्टॉक

जन्माष्टमी प्रसाद के लिए इस तरह तैयार करें धनिया पंजीरी

सबसे पहले 2 कटोरी सूखा धनिया लेकर उसे ग्राइड कर लें और पाउडर बनाएं। इसके बाद काजू, किशमिश और बादाम को देसी घी में तल लें।

इसके बाद सुपरफूड मखानों को भी देसी घी में तल लें। पंचमेवों में शामिल मखाने को खासतौर से भोग प्रसाद के लिए प्रयोग में लाया जाता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

प्रसाद के लिए गोंद को भी तले। इसके बाद 1 चम्मच घी को गर्म करके पिसे हुए धनिए को कढ़ाई में डाल दें।

साथ में खरबूजे के बीज समेत पांच मगज मिला दें। अब सब कुछ तलने के बाद एक थाल में निकाल दें।

उसके बाद उपर से आधा चम्मच कुटी हुई काली मिर्च, स्वादानुसार मीठा बूरा या खाण्ड और कसा हुआ नारियल डालें।

इन सब चीजों को आप मिक्स कर लें। इसमें आप अपनी इच्छानुसार दानेदार मिशरी भी एड कर सकते हैं।

सभी इंग्रीडिएंटस को अच्छी तरह से मिक्स करके प्रसाद तैयार कर लें।

ये भी पढ़ें- एंटीऑक्सीडेंटस ही नहीं बल्कि एडाप्टोजेनिक गुण से भी भरपूर है तुलसी की पत्तियां, जानें इसके फायदे 

  • 141
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख