खाली पेट इन खाद्य पदार्थों का सेवन गट हेल्थ को पहुंचा सकता है नुकसान

पौष्टिकता की तलाश में लोग नाश्ते में कई चीजों को खाने लगते हैं। जो स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती हैं। जानते हैं वो कौन से खाद्य पदार्थ हैं, जिन्हें नाश्ते में लेने से पहले रहें सतर्क।
Khaali pate inn cheezon la sevan na karein
खाली पेट इन चीजों का सेवन न करें। चित्र शटरस्टॉक।
ज्योति सोही Updated: 18 Oct 2023, 10:05 am IST
  • 141

हेल्दी लाइफ स्टाइल को अपनाने के लिए लोग दिन की शुरूआत पौष्टिक ब्रेक्फास्ट से करना चाहते हैं। इसके लिए वो नाश्ते में फलों के रस से लेकर कच्ची सब्जियों तक हर चीज़ को शामिल कर लेते हैं। दरअसल, कई ऐसे खाद्य पदार्थ हैं कि अगर आप उन्हें लंबे अंतराल के बाद खाते हैं, तो पेट में दर्द, अल्सर, ब्लोटिंग और कब्ज जैसी समस्याओं की संभावना बढ़ जाती है। इससे आपका डाइजेस्टिव सिस्टम पूरी तरह से अव्त व्यस्त हो सकता है। ऐसे में नाश्ते का चुनाव करने से पहले सतर्क रहें जानते हैं वो कौन से फूड आइटम्स हैं, जिन्हें नाश्ते में लेने से पहले रहें सतर्क (things never consume empty stomach)।

इस बारे में मणिपाल हास्पिटल गाज़ियाबाद में हेड ऑफ न्यूट्रीशन और डाइटेटिक्स डॉ अदिति शर्मा ने जानकारी साझी की। उन्होंने बताया कि बहुत सी चीजें खाली पेट खाने से गट हेल्थ के लिए परेशानी बढ़ा देती है। अगर खाली पेट हरी सब्जियां या कोई जूस पीते हैं, तो इससे इंसैक्टिसाइड और पैस्टिसाइड का शरीर पर असर होने की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में इन्हें कुकड व बॉइल्ड आइटम से रिप्लेस करें। साथ ही सब्जियों का सूप पीएं। जो शरीर के लिए फायदेमंद होता है। इससे इम्प्यूरिटीज़ निकल जाती है। एक्सपर्ट के मुताबिक रॉ चीज खाने से बॉडी डाइजेशन में ज्यादा समय लेती हैं।

खाली पेट इन चीजों का सेवन न करें

1. कच्ची हरी सब्जियां

इनसॉल्यूएबल फाइबर से भरपूर कच्ची हरी सब्जियां खाने से पाचनतंत्र संबधी समस्याएं बढ़ जाती है। अगर आप ज्यादा मात्रा में खाली पेट कच्ची सब्जियां खाती हैं, तो उससे ब्लोटिंग, एसिडिटी और पेट दर्द की शिकायत बढ़ सकती है। फाइबर से भरपूर सब्जियों के पाचन में दिक्कत आती है, जिससे पाचनतंत्र समसयाओं से घिर जाता है।

2. फलों व सब्जियों का रस

बहुत से लोग अपने दिन की शुरूआत फ्रूट जूस से ही करते हैं। दरअसल, फलों का रस स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। लेकिन अगर आप इसे खाली पेट पी रही हैं, तो इससे पैनक्रियाज़ पर लोड आने लगता है। वहीं फ्रूटस में फ्रुक्टोज के रूप में पाई जाने वाली शुगर लीवर को नुकसान पहुंचाती हैं। टोरंटो विश्वविद्यालय के अनुसार जूस बनाने के दौरान फ्रूटस के पील और पल्प में मौजूद फाइबर पूरी तरह से निकल जाता है। इससे ब्लड शुगर बढ़ने का खतरा रहता है। जो डाइबिटीज़ और हाई कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्याओं का कारण साबित हो सकता हैं।

Vegetable juice swasthya ke liye kaise hai nuksaandayal
आपके लिए फायदेमंद है हेल्दी वेजिटेबल जूस। चित्र : शटरकॉक

3. स्पाइसी फूड

इसमें कोई दोराय नहीं है कि मसाले स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। अगर आप सुबह खाली पेट मिर्च मसालों से भरपूर व्यंजन खाते हैं। तो उससे गट एसिडिक हो जाता है। इससे गट लाइनिंग में इरिटेशन बढ़ने लगती है। इससे आप दिनभर एसिडिटी और एसिड रिफलक्स की समस्या से परेशान रहते हैं। खाली पेट स्पाइसी फूड खाने से अल्सर की समस्या का खतरा भी बढ़ने लगता है। इससे पाचनतंत्र को नुकसान होता है।

4. मिठाई

खाली पेट मिठाई खाने से शरीर ब्लड शुगर लेवल स्पाइक करता है। इससे ग्लूकोज़ ब्लड से होती हुई सेल्स में पहुंचती हैं। इस स्थिति को हाइपरग्लाइसीमिया कहा जाता है। इससे ब्लड सेल्स के डैमेज होने का खतरा रहता है। साथ ही हृदय रोगों, किडनी समस्या और आंखों की रोशनी कम होने का डर बना रहता है।

5. चाय का सेवन न करें

अधिकतर लोग सुबह सठते ही सबसे पहले चाय और कॉफी पीते हैं। अगर आप भी इन पेय पदार्थों से दिन की शुरूआत करती हैं। तो इससे पेट में एसिड रिफलक्स और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल प्रॉबलम्स बढ़ सकती हैं। इसे आप ग्रीन टी से रिप्लेस कर सकते हैं। नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ हेल्थ के मुताबिक अगर आप रोज़ाना कॉफी का ज्यादा मात्रा में सेवन करती हैं। तो इससे हार्ट बर्न, पैनिक अटैक और तनाव की समस्या बढ़ सकती है। इसके अलावा सिरदर्द, माइग्रेन और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या भी बढ़ने लगती है।

Empty stomach chai peene ke nuksaan
इससे पेट में एसिड रिफलक्स और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल प्रॉबलम्स बढ़ सकती हैं। चित्र- अडोबी स्टॉक

6. सिट्रस फलों के सेवन से बचें

विटामिन, फाइबर, पोटेशियम और एंटीऑक्सीडेंटस से भरपूर सिट्रस फ्रूट हमारी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है। अगर आप इन्हें खाली पेट खाती हैं, तो इससे गट हेल्थ को नुकसान पहुंचता है। नींबू, संतरे और कीवी समेत अन्य सिट्रस फलों को खाली पेट खाने से पेट में एसिड बढ़ने लगता है, जिससे आप दिन भर परेशान रहते हैं।

ये भी पढ़ें- ज्यादा अचार खाने की आदत भी बढ़ा सकती है सेहत के लिए जोखिम, जानिए कैसे

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
  • 141
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख