इस मौसम में मेरी मम्मी खा रही हैं क्विनोआ खिचड़ी, क्या आप जानते हैं इसके फायदे और बनाने का तरीका?

क्विनोआ में फाइबर और प्रोटीन की अधिक मात्रा होने से शरीर को उच्च पोषण की प्राप्ति होती है। अगर आप कुछ हेल्दी और हल्का खाना चाहती हैं, तो क्विनोआ खिचड़ी की इस रेसिपी को जरूर ट्राई करें।
Quinoa ke fayde
अगर आप कुछ हेल्दी और हल्का खाना चाहती हैं, तो क्विनोआ जरूर ट्राई करें। चित्र : एडॉबीस्टॉक
ज्योति सोही Published: 19 Jul 2023, 08:00 pm IST
  • 141

पौष्टिकता से भरपूर क्विनोआ स्वाद के साथ सेहत को दुरूस्त रखने का एक आसान तरीका है। कैल्शियम, मैगानीशियम और प्रोटीन से भरपूर इस सुपरफूड को नियमित तौर पर खाने से शरीर को पोषण की प्राप्ति होती है। हड्डियों को मज़बूती मिलती है और हृदय रोगों की संभावना का भी कम कर देता है। फिटनेस के इस दौर में लोग इसका प्रयोग डोसा, उपमा और पुडिंग में करने लगे है। वहीं क्विनोआ से खिचड़ी भी लोगों को खूब पसंद आती है। इसमें मौजूद एंटी एजिंग और एन्टीकैंसर तत्व इसकी पौष्टिकता को बढ़ा सकते हैं। अगर आप कुछ हेल्दी और हल्का खाना चाहती हैं, तो क्विनोआ खिचड़ी (Quinoa khichdi benefits) की इस रेसिपी को जरूर ट्राई करें।

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के मुताबिक क्विनोआ में अन्य अनाज के मामले अधिक प्रोटीन पाया जाता है। इसके अलावा ज़रूरी अमीनो एसिड भी मौजूद होते हैं। इसका प्रयोग मिल्क प्रोटीन के एक विकल्प के तौर पर भी किया जा सकता है। के रूप में किया जा सकता है। ग्लूटेन.मुक्त होने के अलावा इसमें फैटी एसिड, मिनरल्स, विटामिन, फाइबर और कार्बोहाइड्रेट पाए जाते है। इसे गोल्डन ग्रेन कहकर भी पुकारा जाता है।

सबसे पहले जानते हैं क्विनोआ के फायदे

1. वेटलॉस में फायदेमंद

जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन के मुताबिक क्विनोआ में मौजूद फाइबर और प्रोटीन की अधिक मात्रा होने से शरीर को उच्च पोषण की प्राप्ति होती है। ऐसे में इसके ग्लूटेन.मुक्त (Gluten free) होने और लो ग्लाइसेमिक इंडैक्स के चलते वजन बढ़ने की समसया हल हो जाती है।

Weight loss mei faydemand quinoa khichdi
क्विनोआ खिचड़ी खाने से वेटलॉस की समस्या हल हो जाती है। चित्र : एडॉबीस्टॉक

2. सूजन करे कम

इसमें मौजूद सैपोनिन तत्व शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड (Nitric oxide) को बढ़ने से रोकता है। दरअसल, क्विनोआ में मौजूद सैपोनिन का उपयोग सूजन (inflammation) को कम करने और रोकने के लिए किया जाता है। इसमें मौजूद एंटी इंफ्लामेंटरी गुण जोड़ों और हाथों पांव में होने वाली सूजन को दूर करता है। भोजन में इसे नियमित तौर पर शामिल करने से मेटाबॉलिज्म बूस्ट होता है।

3. एनीमिया से मुक्ति

वे लोग जिनके शरीर में खून की कमी होती है। उन्हें अपनी डाइट में इस सुपरफूड को ज़रूर शामिल करना चाहिए। इसमें पाए जाने वाले एंटीएनेमेटिक गुण शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी को दूर करते हैं। इसके अलावा ये शरीर में सेल डैमेज की समस्या को दूर करता है। क्विनोआ शरीर में सेल्स को रिपेयर करता है और नए सेल्स भी प्रोड्यूस होते हैं।

क्विनोआ खिचड़ी बनाने के लिए हमें चाहिए

मटर 1 कटोरी
हींग 1 चुटकी
लहसुन की कलियां 4 से 5
अदरक 1 इंच
कटा हुआ टमाटर 1
कटा हुआ प्याज 1
पीली मूंग दाल 1/4 कटोरी
मसूर दाल 1/4 कटोरी
क्विनोआ 1/2 कटोरी
हल्दी 1/2 चम्मच
नमक स्वादानुसार
पानी 2 कप
नींबू का रस 1 चम्मच
जीरा 1 चम्मच
ऑलिव ऑयल 1 चम्मच
तेज़ पत्ता 1

quinoa-khichdi-recipe
क्विनोआ सेहत के लिए फायदेमंद है। चित्र शटरस्टॉक

क्विनोआ खिचड़ी बनाने की विधि

इसे बनाने के लिए सबसे पहले ऑलिव आयल में हींग और जीरा डालें। जीरा पकने के बाद उसमें उसके बाद तेज़ पत्ता डालकर कुछ देर भूनें।

चाहें, तो साबुत लाल मिर्च भी इस्तेमाल कर सकते हैं। कटे हुए प्याज, अदरक और लहसुन डालकर कुछ देर तक पकाएं।

प्याज के सुनहरा होने पर इसमें टमाटर की प्यूरी डाल दे। इससे स्वाद बढ़ने लगता है।

टमाटर के अलावा मटर और कटी हुई गाजर डालकर कुछ देर हिलाएं और स्वादानुसार नमक, काली मिर्च, हल्दी, धनिया पाउडर और गर्म मसाला डालें।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

अब सब्जियों के साथ मसूर दाल, पीली मूंग दाल और क्विनोआ डालकर पानी एड कर दें। अब कूकर बंद करें और 2 से 3 विसल आने दें।

उसके बाद स्टीम बनी रहने दें और पकने के बाद कूकर को कुछ देर तक बंद रखें। अब पकी हुई खिचड़ी को धनिया पत्ती से गार्निश करके सर्व करें।

इसके अलावा आप इसके स्वाद को बढ़ाने के लिए लेमन जूस भी एड कर दें।

ये भी पढ़ें- Fruits in the rainy season : बरसात के मौसम में फल खाएं या नहीं, आइए एक न्यूट्रीशनिस्ट से जानते हैं

  • 141
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख