रिश्ते में बहुत अच्छे साबित नहीं होते इमोशनली अनअवेलेबल पार्टनर, जानिए इन लोगों से कैसे बचना है

किसी भी ऐसे रिश्ते में रहना या ऐसे दोस्त के साथ रहना दो भावानात्मक रूप से आपके लिए उपलब्ध न हो बहुत मुश्किल हो जाता है। जानते है कि आप अपने आप को ऐसे रिश्तों से कैसे बचा सकते है।
kya aap bhi unhealthy relation me hain
जब किसी रिश्ते में कोई भावनात्मक जुड़ाव नहीं होता है या पति से शादी में कोई इंटिनेसी नहीं होती है चित्र: शटरस्टॉक
संध्या सिंह Published: 25 Jun 2023, 06:30 pm IST
  • 146

एक भावनात्मक रूप से अनुपलब्ध साथी वो होता है जो किसी रिश्ते में भावनात्मक रूप से पूरी तरह से शामिल होने में असमर्थ या अनिच्छुक है। वे अपनी भावनाओं को व्यक्त करने, गहरे संबंध बनाने या अपने साथी को भावनात्मक समर्थन प्रदान करने में संघर्ष कर सकते हैं। भावनात्मक रूप से अनुपलब्ध साथी में अक्सर कुछ लक्षण और व्यवहार दिखते हैं जो एक स्वस्थ, अच्छे संबंध के विकास में बाधा बन सकते हैं। भावनात्मक रूप से अनुपलब्ध पार्टनर में कुछ ऐसी चीजें होती है जिसको अनुभव करके आप ये पता लगा सकते है।

भावनात्मक रूप से अनुपलब्ध पार्टनर की विशेषता

1 भावनात्मक रूप से अनुपलब्ध पार्टनर अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए संघर्ष कर सकते हैं या अपनी भावनाओं के बारे में खुलने में अनिच्छुक हो सकते हैं। वे गहरी भावनाओं के बारे में बातचीत से बच सकते हैं या उन्हें पूरी तरह मना कर सकते हैं।

2 भावनात्मक रूप से अनुपलब्ध पार्टनर किसी बात पर कोई प्रतिक्रिया नहीं देते है। जब उनका साथी भावनात्मक मामलों पर चर्चा करने का प्रयास करता है या भावनात्मक समर्थन चाहता है। वे अपने साथी की भावनाओं को कम या अनदेखा कर सकते हैं, उन्हें अमान्य या अनसुना कर सकते हैं।

Baatcheet hai zaruri
दोनों आपसी बातचीत के ज़रिए हर समस्या को आसानी से हल कर सकते हैं। चित्र : एडोबी स्टॉक

3 भावनात्मक रूप से अनुपलब्ध साथी अक्सर रिश्ते की ज़रूरतों से ऊपर अपनी स्वतंत्रता और व्यक्तिगत ज़रूरतों को प्राथमिकता देते हैं। भावनात्मक संबंध और निकटता को बढ़ावा देने के लिए उन्हें समझौता करने या त्याग करने में कठिनाई हो सकती है।

इस बारे में ज्ययादा जानने के लिए हमने बात की सीनियर क्लीनिकल साइकोलॉजिस्ट डॉ. आशुतोष श्रीवास्तव से। डाॅ. आशुतोष श्रीवास्तव बताते है कि भावनात्मक रूप से अनुपलब्ध पार्टनर और मित्रों को चुनना एक ऐसा पैटर्न हो सकता है, जिसे तोड़ना मुश्किल है। हालांकि, आत्म-जागरूकता, इरादे और व्यक्तिगत विकास के साथ, इस पैटर्न को बदलना और स्वस्थ संबंध बनाना संभव है।

इमोशनली अनअवेलेबल पार्टनर से बचने के लिए जरूरी है इन 5 बातों का ध्यान रखना

1 सेल्फ रिफ्लेकशन

अपने पिछले रिश्तों और दोस्ती के बारे में सोचने के लिए समय निकालें। उन भावनात्मक रूप से अनुपलब्ध लोगों के सामान्य लक्षणों और व्यवहारों पर विचार करें, जिनके लिए आप आकर्षित हुए हैं। क्या कोई पैटर्न या लाल झंडे हैं जिन्हें आपने अनदेखा किया है? अपनी स्वयं की प्रवृत्तियों और प्राथमिकताओं को समझने से आपको इल बारे में अधिक जागरूक होने में मदद मिल सकती है।

2 अपनी खुद की भावनात्मक उपलब्धता का आकलन करें

एक स्वस्थ रिश्ते के लिए अपनी खुद की भावनात्मक उपलब्धता और तत्परता को जानना महत्वपूर्ण है। क्या आप भावनात्मक संबंध के लिए ओपन हैं? क्या आपके अतीत से कोई अनसुलझे भावनात्मक मुद्दे हैं जो आपके विकल्पों को प्रभावित कर सकते हैं? अपनी खुद की भावनात्मक स्थिति और व्यक्तिगत विकास के बारे में खुद से ईमानदार रहें।

reasons for distance in relationship
जानते हैं वो संकेत जो इस ओर इशारा करते है कि आप रिश्ते में असुरक्षा का अनुभव कर रही हैं। चित्र:अडोबी स्टॉक

3 अपनी सीमाओं को निर्धारित करें

किसी भी रिश्ते में सीमाएं तय करना और बनाए रखना महत्वपूर्ण है। अपने पार्टनर को स्पष्ट रूप से बताएं कि आपको क्या चाहिए और अपने पार्टनर और मित्रों से अपेक्षा करें। भावनात्मक अनुपलब्धता के संकेतों को जल्दी पहचानना सीखें, और अगर कोई आपकी आवश्यकताओं को पूरा करने में लगातार विफल रहता है तो उससे दूर होना बेहतर है।

4 अपने सामाजिक दायरे का विस्तार करें

नए लोगों से मिलने और अपने सामाजिक दायरे का विस्तार करने का प्रयास करें। उन एक्टिविटी और समुदायों में शामिल हों जो आपकी रुचियों और मूल्यों के अनुरूप हों। अगर आप लोगों से मिलना शुरू करेंगी तो शायद आपको भावनात्मक रूप से उपलब्ध व्यक्तिय मिलने की संभावना अधिक हो सकती है।

5 अपना समय लें

रिश्तों या दोस्ती में जल्दबाजी करने से बचें। बहुत अधिक रिश्ते के अंदर जाने से पहले व्यक्ति को जानने और उनकी भावनात्मक उपलब्धता का आकलन करने के लिए खुद को समय दें। इसस आप काफी अच्छा और सोच-समझकर निर्णय ले पाएंगी और पिछली चीजों को दौहराने से बचेंगी।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

ये भी पढ़े- Sleep Quality : खराब खानपान है अच्छी नींद का दुश्मन, यहां हैं स्लीप क्वालिटी बढ़ाने के एक्सपर्ट सुझाव

 

  • 146
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख