वैलनेस
स्टोर

हार्टबर्न से परेशान हैं, तो यह 5 चीजें आपको इस समस्या को दूर करने में करेंगी मदद

Updated on: 7 January 2021, 10:08am IST
हार्टबर्न या गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स (जीईआरडी) कहने के लिए काफी असुविधाजनक है। लेकिन शोधकर्ताओं ने पाया है कि इन 5 जीवनशैली दिशा निर्देशों के जरिए इसके लक्षणों को कम किया जा सकता है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 90 Likes
इन चीजों सेवन बढ़ा सकता है एसिड रिफ्लक्स। चित्र: शटरस्‍टॉक

हार्टबर्न शायद सबसे असहज गैस्ट्रिक समस्याओं में से एक है, जिसका सामना कोई भी व्यक्ति कर सकता है। यह एक ऐसी जलन है जो आपके पेट से छाती तक फैल जाती है। हार्टबर्न या गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स (जीईआरडी) पूरी तरह से रोकथाम योग्य है।

वास्तव में, आहार, जीवन शैली और स्वास्थ्य के एक लंबे समय के अध्ययन में पाया गया है कि विशिष्ट आहार दिशा निर्देशों का पालन करने से, महिलाएं इसके एक-तिहाई से भी अधिक लक्षणों को कम कर सकती हैं।

नर्सिंग हेल्थ स्टडी, जो कि महिलाओं के स्वास्थ्य पर लंबे समय तक चलने वाले अध्ययनों में से एक है, यह दर्शाता है कि 5 डाइट और जीवनशैली कारक, जिसमें नियमित व्ययाम भी शामिल है, हार्टबर्न के लक्षणों पर महत्वपूर्ण प्रभाव डाल सकते हैं। जिसे जामा इंटरनल मेटडिसन (JAMA Internal Medicine) जर्नल में प्रकाशित किया गया है।

आपको GERD के बारे में क्या जानने की आवश्यकता है

जीईआरडी (GERD) एक सामान्य स्थिति है, इसका हार्टबर्न एक मुख्य लक्षण है। जिसे अक्सर एंटासिड दवाओं के साथ मैनेज किया जाता है। लेकिन अध्ययन से पता चलता है कि निम्नलिखित आहार और जीवनशैली में कुछ बदलाव इस स्थिति में मददगार हो सकते हैं।

कुछ आहार इस समस्‍या को और ज्‍यादा बढ़ा देते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
कुछ आहार इस समस्‍या को और ज्‍यादा बढ़ा देते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

ये हैं हार्टबर्न से राहत पाने के 5 तरीके

  1. वजन सामान्य होना
  2. कभी स्मोकिंग न करना
  3. रोजाना कम से कम 30 मिनट के लिए मध्यम से तीव्र शारीरिक गतिविधि करना
  4. कॉफी का सेवन कम करना, दिन में सिर्फ दो कप चाय और सोड़ा पीना
  5. एक विवेकपूर्ण आहार

अध्ययन के वरिष्ठ लेखक एमडी, एम.पी. एंड्रयू टी चैन (Andrew T. Chan) कहते हैं, यह अध्ययन इस बात का सबूत देता है कि आम और दुर्बल जठरांत्र संबंधी लक्षणों के कई मामलों में अकेले आहार और जीवनशैली संशोधनों के साथ, उन्हें अच्छी तरह से नियंत्रित किया जा सकता है।

यह देखते हुए कि जीईआरडी के दीर्घकालिक स्वास्थ्य प्रभाव हैं और इसका इलाज करने के लिए उपयोग की जाने वाली दवाओं के दुष्प्रभावों को लेकर कई चिंताएं हैं, तो ऐसे में लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए जीवन शैली को सबसे अच्छा विकल्प माना जाना चाहिए।

इस तरह से शोधकर्ताओं ने उन कारकों की पहचान की जो जीईआरडी को रोक सकते हैं

शोधकर्ताओं ने एक सांख्यिकीय मॉडल बनाया जो पांच एंटी-रिफ्लक्स जीवनशैली कारकों में से प्रत्येक के साथ जुड़े जीईआरडी लक्षणों के लिए “जनसंख्या-जिम्मेदार जोखिम” की गणना करने की अनुमति दी।

शरीर में कोई समस्या होने पर हमारा शरीर हमें उसके संकेत देता है

दूसरे शब्दों में, उन्होंने अनुमान लगाया कि यह कितनी संभावना है कि प्रत्येक जीवन शैली कारक ने लक्षणों का अनुभव करने का जोखिम कम किया। उन्होंने पाया कि इन सभी दिशानिर्देशों का पालन करने से जीईआरडी के लक्षणों को 37% तक कम किया जा सकता है।

एक महिला ने जितने विशिष्ट दिशा-निर्देशों का पालन किया, उसके लक्षणों का जोखिम उतना ही कम हो गया। सामान्य हार्टबर्न का उपचार करने वाली महिलाओं में, दिशानिर्देशों का पालन करने से भी लक्षण कम हो गए।

चैन कहते हैं, हम विशेष रूप से शारीरिक गतिविधि की प्रभावशीलता में रुचि रखते थे। यह उन पहले अध्ययनों में से एक है जिसने जीईआरडी को नियंत्रित करने में इसकी प्रभावशीलता का प्रदर्शन किया है। यह प्रभाव, पाचन तंत्र की गतिशीलता पर व्यायाम के प्रभाव के कारण हो सकता है। शारीरिक रूप से सक्रिय होने से पेट के एसिड की निकासी में मदद मिल सकती है, जो हार्टबर्न के लक्षण का कारण बनता है।

यह भी पढ़ें – जानिए क्‍यों आपको विशेषज्ञ की सलाह के बिना नहीं करना चाहिए जायफल का सेवन

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।