जुकाम से अलग हैं साइनस के लक्षण, बदलते मौसम में जरूरी है सावधान रहना

साइनस का समस्या आपको जुखाम जैसी लग सकती है। इसमें आपको डॉक्टर से मदद लेने की जरूरत होती है। लेकिन इसके शुरुआत में आप कुछ घरेलू उपाय भी अपना सकते है।

sinus or cold mei farak hota hai
साइनस आपके गालों के भीतर, आपकी आंखों के आसपास और आपकी नाक के पीछे खोखली कैवेटी हैं। चित्र- अडोबा स्टॉक
संध्या सिंह Published: 2 Nov 2023, 18:59 pm IST
  • 145

अधिकांश साइनस संक्रमण वायरस के कारण होते हैं। वायरल साइनसाइटिस को दवाओं का इस्तेमाल करके खत्म नहीं किया जा सकता। आपके साइनस संक्रमण के लक्षण सात से दस दिनों में अपने आप गायब हो जाते हैं। अगर आपको ज्यादा समस्या है, तो आप इसे कुछ घरेलू उपायों को अपना कर आराम दे सकते है। जब आपको साइनस कंजेशन, खांसी, सिरदर्द, कानों में भारीपन जैसे लक्षण महसूस होने लगे तो आपको घरेलू उपचार करना शुरू कर देना चाहिए।

इस बारे में ज्यादा जानने के लिए हमने बात की डॉ. राजेंद्र वाघेला से। डॉ. राजेंद्र वाघेला मेडिकवर हॉस्पिटल्स नवी मुंबई में ईएनटी और एंडोस्कोपिक सर्जन है।

पहले जानते हैं क्या होता है साइनस (what is sinus)

अमेरिकन एकेडमी ऑफ एलर्जी अस्थमा एंड इम्यूनोलॉजी के अनुसार यदि आपकी नाक बंद है, आप अपने चेहरे पर दबाव महसूस करते है, खांसी है और नाक से गाढ़ा स्राव आ रहा है, तो आपको राइनोसिनुसाइटिस हो सकता है, जिसे आमतौर पर साइनसाइटिस कहा जाता है।

साइनस आपके गालों के भीतर, आपकी आंखों के आसपास और आपकी नाक के पीछे खोखली कैवेटी हैं। इनमें बलगम होता है, जो आपके द्वारा सांस लेने वाली हवा को गर्म, नम और फ़िल्टर करने में मदद करता है। जब कोई चीज़ बलगम को सामान्य रूप से निकलने से रोकती है, तो संक्रमण हो सकता है।

sinus infection
जानिए क्यों खतरनाक है लंबे समय तक जुकाम रहना। चित्र अडोबी : स्टॉक

जुकाम और साइनस में क्या अंतर है (Difference between sinus and cold)

जुकाम आमतौर पर वायरल संक्रमण के कारण होती है, ज्यादातर राइनोवायरस के कारण। कोरोना वायरस जैसे अन्य वायरस भी जुकाम के लक्षण पैदा कर सकते हैं। वहीं साइनस के लक्षण साइनसाइटिस, अक्सर साइनस की सूजन या संक्रमण के कारण होते हैं, जो वायरल संक्रमण, जीवाणु संक्रमण, एलर्जी जैसे कारकों के कारण हो सकते हैं।

इसके लक्षणों में नाक बहना या बंद होना, छींक आना, गले में खराश, खांसी और कभी-कभी हल्का बुखार आ सकता है। लेकिन साइनसाइटिस के लक्षणों में नाक बंद होना, चेहरे पर दर्द या दबाव, नाक से गाढ़ा स्राव और कभी-कभी बुखार हो सकते हैं। साइनस की समस्या के कारण अक्सर आंखों, गालों और माथे के आसपास साइनस वाले क्षेत्रों में परेशानी या दर्द होता है।

साइनेस के लिए कुछ घरेलू उपाय ( Home remedies for sinus)

अपने चेहरे को भाप दें (Do steam)

साइनस में सबसे प्रभावी घरेलू उपचारों में से एक है अपने साइनस के रास्ते को गर्म करना और मॉइस्चराइज करना। भाप लेने से साइनस के ऊतकों को आराम मिलता है और उसकी सूजन भी कम होती है। इसके लिए आप गर्म पानी का शावर ले सकते है। या अपने नाक पर या गालों पर गर्म पानी में कपड़ा गीला करके रख सकते है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
kaise paye sinus se rahat
साइनस में सबसे प्रभावी घरेलू उपचारों में से एक है अपने साइनस के रास्ते को गर्म करना और मॉइस्चराइज करना। चित्र- अडोबी स्टॉक

जल नेति से करें नाक की सफाई (nasal irrigation)

जल नेति में मूल रूप से साइनस मार्ग में रहने वाले कीटाणुओं और रुके हुए बलगम को बाहर निकालने के लिए नमक वाले पानी का इस्तेमाल किया जाता है। कुछ लोग इसे पानी प्राप्त करने के लिए उपयोग किए जाने वाले लोकप्रिय उपकरणों में से एक नेति पॉट कहते हैं। साइनस मार्ग में किसी भी परजीवी के प्रवेश को रोकने के लिए आपको सुनिश्चित करना होगा कि आप साफ पानी का इस्तेमाल करें। आप पानी को 3 से 5 मिनट के लिए उबाल भी सकते है और उसे गुनगुना करके इसका उपयोग कर सकते है।

मनुका शहद (manuka honey)

मनुका शहद एक अलग प्रकार का शहद है जो जीवाणुरोधी और सूजन-रोधी गुणों सहित कई स्वास्थ्य लाभों के लिए जाना जाता है। मनुका शहद में मिथाइलग्लॉक्सल जैसे यौगिकों की अधिक मात्रा होती है, जो इसे साइनेस के इलाज के लिए उपयोगी बनाता है।

साइनस कंजेशन और संक्रमण के लिए प्राकृतिक उपचार के रूप में मनुका शहद का उपयोग करना एक अच्छा विकल्प हो सकता है। आप एक कप गर्म पानी या हर्बल चाय में मनुका शहद मिला सकते हैं। गर्म पेय पदार्थ आपके गले को आराम देने और नाक के टपकने को कम करने में मदद कर सकता है।

ये भी पढ़े-  OCD : तनाव और कम प्रोडक्टिविटी का कारण बन सकता है ओसीडी, जानिए इससे कैसे डील करना है

  • 145
लेखक के बारे में
संध्या सिंह संध्या सिंह

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख