किसी भी प्रोटीन पाउडर से ज्यादा फायदेमंद है चने का सत्तू, जानिए इसके फायदे और सेवन का तरीका

यदि आप भी जिम जाते है और प्रोटीन पाउडर के डिब्बों पर हजारों रूपय खर्च नहीं करना चाहते हैं, तो आप चने के सत्तू से तैयार ये ट्रेडिशनल ड्रिंक ट्राई कर सकते हैं। ये होममेड और हेल्दी है।
Protein ka acha shrot hai sattu
प्रोटीन का अच्छा स्त्रोत हैं सत्तू। चित्र:शटरस्टॉक
संध्या सिंह Updated: 4 Dec 2023, 09:05 am IST
  • 145
Preparation Time
Preparation Time 10 mins
Cook Time
Cook Time 05 mins
Total Time
Total Time 15 mins
Serves
Serves 02

प्रोटीन के सबसे अच्छे स्रोतों में काले चने को भी गिना जाता है। जो लोग बॉडी या मसल्स बनाना चाहते है वे लोग इसे बहुत पसंद करते है। प्रोटीन आपके मसल्स को बनाने और उन्हें टोन करने में भी मदद करता है। बॉडी बिल्डिंग वाले कई लोग अपने प्रोटीन के इनटेक को पूरा करने के लिए प्रोटीन पाउडर के डिब्बों पर हजारों खर्च करते है लेकिन कई बार वो प्रोटीन भी नकली होते है। इसलिए आज हम आपके चने से ऐसी ड्रिंक बनाना बताते है जो आपके मसल्स बिल्डअप और वजन को बढ़ाने के इच्छुक लोगों के लिए मदद कर सकती है।

जो लोग अपने कम वजन से परेशान है और अपने वजन को बढ़ाना चाहते है वे इस ड्रिंक को आराम से पी सकते है। वैसे ये ड्रिंक भूने हुए चने को पाउडर बना बनाई जाएगी जिसे सत्तू भी कहा जाता है। सत्तू का शरबत बिहार और यूपी जैसे राज्यों में बहुत फेमस है। इसका शरबत लोग आमतौर पर गर्मियों में पीते है। लेकिन हम आपको इसे कुछ अलग तरह से शेक की तरह बनाना बताएंगे जो की प्रोटीन शेक का काम करेगा।

इस बारे में ज्यादा जानकारी के लिए हमने बात की डॉ. राजेश्वरी पांडा नें, डॉ. राजेश्वरी पांडा मेडिकवर अस्पताल, नवी मुंबई में पोषण और आहार विज्ञान विभाग की एचओडी है।

protien powder recipes
एक व्यस्क को प्रतिदिन 2000 कैलोरी के आहार में 50 ग्राम प्रोटीन को शामिल करना चाहिए।

क्या सत्तू को वर्कआउट ड्रिंक के रूप में ले सकते हैं

डॉ. राजेश्वरी पांडा बताती है कि हां, सत्तू आपका पसंदीदा प्राकृतिक प्रोटीन शेक हो सकता है।

वह आगे कहती हैं, यह पेट के लिए काफी अच्छा है जो पेट को ठंडा रखता है। यह प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है, जिसे पानी या दूध में घोलकर लिया जा सकता है । आप चाहे तो इसमें कई और चीजें भी मिला सकते है। जो शरीर को फिर ताकत देने में मदद करता है।

चूंकि सत्तू में फाइबर और प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है और वसा की मात्रा बहुत कम होती है, इसलिए यह खराब तरीके से आपका वजन नहीं बढ़ाता है।

सत्तू में मौजूद मैग्नीशियम सूजन को कम करने, चयापचय को बढ़ावा देने और शरीर को अधिक कुशलता से कैलोरी बर्न में भी मदद कर सकता है।

सबसे पहले जानते है सत्तू के फायदे

प्रोटीन का अच्छा स्रोत है

सत्तू, भुने हुए चने से बना आटा है, यह पौधे-आधारित प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है। दूध के साथ मिलाने पर यह एक प्रोटीन युक्त शेक बनाता है जो मांसपेशियों को हील और विकास के लिए फायदेमंद हो सकता है।

ऊर्जा बढ़ाने में मदद करता है

केले से कार्बोहाइड्रेट और केले और सत्तू दोनों में प्राकृतिक शर्करा तेजी से ऊर्जा को बढ़ाने में मदद कर सकती है। यह विशेष रूप से प्री-वर्कआउट ड्रिंक के रूप में या ऊर्जा के स्तर को फिर ऊपर लाने के लिए उपयोग किया जाने वाला नाश्ता हो सकता है।

पाचन स्वास्थ्य के लिए बेहतर

सत्तू और केले दोनों में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है, जो पाचन में सहायता करता है और कब्ज को रोकने में मदद करता है। फाइबर हेल्दी गट माइक्रोबायोम का भी समर्थन करता है। इससे आपके पाचन को अच्छा करने में मदद मिलती है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

विटामिन और मिनिरल का खजाना

केले में विटामिन सी, विटामिन बी 6 जैसे आवश्यक विटामिन और मैंगनीज और मैग्नीशियम जैसे खनिज होते हैं। सत्तू विभिन्न विटामिन और मिनिपल भी प्रदान करता है, जो ड्रिंक को काफी स्वस्थ बनाता है।

protien ka karein sewan
इसमें फाइबर और प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है और वसा की मात्रा बहुत कम होती है। चित्र- अडोबी स्टॉक

सत्तू का शेक कैसे बनाएं

सत्तू का शेक बनाने के लिए आपको चाहिए

काले भूने हुए चने 60 ग्राम
दुध 1 गिलास
1 केला
गुड़
2 खजूर

कैसे बनाए सत्तू का शेक

एक मिक्सर ग्राइंडर में भूने हुए काले चने को डालकर एक पाउडर बना लें।

इस पाउडर में अब दूध, केला, खजूर और गुड़ मिला लें।

फिर इसे ग्राइंडर में मिक्स कर लें, ये एक शेक जैसा बन जाएगा।

इस शेक को आप नारियल के साथ सजा कर परोस सकते है।

ये भी पढ़े- रागी है मेरी मम्मी का पसंदीदा विंटर ग्रेन, आप भी ट्राई करें ये 3 स्वादिष्ट और हेल्दी रागी रेसिपीज

  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख