Safe sex during pregnancy : प्रेगनेंसी में सेक्स के दौरान जानिए आपको क्या करना है और क्या नहीं

एक महिला के लिए शारीरिक और भावनात्मक बदलावों का समय होता है प्रेगनेंसी। इस दौरान कुछ महिलाएं ज्यादा सेक्स ड्राइव का अनुभव करती हैं, तो कुछ बहुत कम। तब क्या इस दौरान सेक्स करना सेफ है? आइए एक्सपर्ट से जानते हैं।
Iss tarah doctor couples ki zyada better counseling kar sakte hain
मौजूदा अध्ययन बेबी प्लान कर रहे जोड़ों की बेहतर तरीके से मदद कर सकते हैं। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Updated: 26 Oct 2023, 05:35 pm IST
  • 125

प्रेगनेंट होने के साथ ही मन में उत्साह और प्यार भरने लगता है। यह रोमांचकारी अनुभव पार्टनर के और करीब ले आता है। साथ ही मन में यह सवाल भी पैदा होता है कि प्रेगनेंसी के बाद सेक्सुअल रिलेशनशिप सुरक्षित है या नहीं। क्या यह गर्भ में पल रहे बच्चे को नुकसान भी पहुंचाता है? क्या गर्भावस्था के दौरान सुरक्षित सेक्स का आनंद लेने का कोई उपाय है? इन सवालों के साथ-साथ प्रेगनेंसी के दौरान क्या करना चाहिए और क्या नहीं (Pregnancy sex tips) इन सभी के बारे में विशेषज्ञ से जानते हैं।

गर्भावस्था के दौरान सेक्स सुरक्षित है या नहीं (Sex safe or not during Pregnancy)

प्राइमस सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में गायनेकोलोजिस्ट डॉ. रश्मि बालियान बताती हैं, ‘गर्भावस्था के दौरान सेक्सुअल रिलेशनशिप को लेकर चिंता करना लाजिमी है। यह जानना जरूरी है कि गर्भ में फीटस एमनियोटिक फ्लूइड से घिरा होता है। गर्भाशय की मजबूत मांसपेशियां विकसित हो रहे भ्रूण की सुरक्षा करती हैं। यह प्राकृतिक सुरक्षा ज्यादातर महिलाओं के लिए गर्भावस्था के दौरान सेक्स को पूरी तरह से सुरक्षित बनाती है। यदि समय से पहले प्रसव, प्लेसेंटा की समस्या या गर्भपात की कोई हिस्ट्री रह चुकी है, तो महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान सेक्स से पहले गायनेकोलोजिस्ट से जरूर बात कर लेनी चाहिए।’

सेक्स ड्राइव को कैसे प्रभावित करती है गर्भावस्था (Pregnancy effect on Sex Drive)

डॉ. रश्मि बालियान कहती हैं, ‘प्रेगनेंसी हार्मोन के कारण एनर्जी लेवल (Pregnancy affect energy level) और मनोदशा (Mood swing in Pregnancy) में बदलाव सामान्य है। यह सीधे सेक्स ड्राइव को प्रभावित कर सकता है। कुछ महिलाओं में पहली तिमाही के दौरान परिवर्तन अधिक स्पष्ट होते हैं। गर्भावस्था के दौरान जैसे-जैसे बच्चा बढ़ता है, शरीर बदलता रहता है। इन परिवर्तनों का अनुभव भी होता है। यह सेक्स ड्राइव को बाधित भी कर सकता है। गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से यह प्रसव को सुविधाजनक बनाता है। कैलोरी जलाता है और शारीरिक फिटनेस को बढ़ावा देता है।’

सुरक्षित सेक्स के लिए कुछ बातों पर ध्यान देना जरूरी (Do’s for sex)

डॉ. रश्मि बालियान के अनुसार, सहज महसूस करने पर सभी प्रकार के सेक्स और पोजीशन ठीक हैं।
प्रेगनेंसी के दौरान किसी नए पार्टनर के साथ यौन संबंध बनाने पर कंडोम का उपयोग करन चाहिए।
उपयोग के बाद हायजीन के लिए सभी सेक्स टॉयज को साबुन और पानी से अच्छी तरह साफ कर लें।

Sex-toys
उपयोग के बाद हायजीन के लिए सभी सेक्स टॉयज को साबुन और पानी से अच्छी तरह साफ कर लें। चित्र-शटर स्टॉक।

यदि महिला या पार्टनर को सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज होने की आशंका है, तो सेक्स से बचें। अपनी जांच करवाएं। यौन संक्रमण विकासशील भ्रूण के लिए खतरनाक हो सकता है।

अंतिम फेज़ में भी सेक्स (Pregnancy sex tips) कर सकती हैं। सेक्स प्रसव को प्रेरित करने में मदद कर सकता है। ऑर्गेज्म के बाद होने वाले संकुचन और शारीरिक उत्तेजना से ऑक्सीटोसिन का सीक्रेशन बढ़ जाता है। यह शरीर को सक्रिय कर बच्चे के जन्म की प्रक्रिया को तेज करने में मदद कर सकता है

क्या नहीं करें (Don’ts for sex)

यदि किसी प्रॉब्लम की वजह से एमनियोटिक फ्लूइड लीक हो रहा है, तो कभी भी सेक्स नहीं करें।
यदि आपका पहला बच्चा समय से पहले जन्म लिया था, तो इसका मतलब है कि आपको दूसरा बच्चा भी समय से पहले हो सकता है। इसलिए सेक्स जोखिम भरा (Pregnancy sex tips) हो सकता है। यदि असामान्य रूप से योनि से रक्तस्राव हो रहा है या सर्विक्स फैली हुई है तो सेक्स नहीं करें

pregnancy
यदि किसी प्रॉब्लम की वजह से एमनियोटिक फ्लूइड लीक हो रहा है, तो कभी भी सेक्स नहीं करें। चित्र : शटर स्टॉक

गायनेकोलोजिस्ट की सलाह जरूरी (Gynaecologist Advice for sex do’s and Don’ts)

प्रेगनेंसी के पहले चरण में सेक्स के बाद स्तनों में दर्द, उल्टी जैसा समस्या हो सकती है। यह सामान्य है। यह गर्भावस्था के दौरान हार्मोनल चेंजेज के लक्षण हैं। यदि सेक्स के बाद बुखार या ठंड लगने लगता है या पेट में तेज दर्द होने लगता है, चक्कर आते हैं, तो समस्या हो सकती है। पेट में गंभीर ऐंठन या तीव्रता के साथ संकुचन होता है, तो गायनेकोलोजिस्ट से तुरंत संपर्क करें।

यह भी पढ़ें :- मालिश है बेबी की ग्रोथ के लिए जरूरी, सही मालिश के लिए फॉलो करें ये स्टेप बाय स्टेप गाइड

  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख