दूध की प्योरिटी पर शक है, तो इन 5 तरीकों से चेक करें दूध की शुद्धता

Published on: 10 May 2022, 00:00 am IST

दूध के जिस गिलास को आप पोषण का खजाना समझ रही हैं, कहीं वह आपके बच्चों को बीमारियां तो नहीं दे रहा! इसलिए जरूरी है कि आप खुद करें दूध की शुद्धता की जांच।

दूध की शुद्धता की जांच कैसे करें। चित्र : शटरस्टॉक

दूध (Milk) हमारे दैनिक आहार का एक हिस्सा है। लेकिन हर बार हम जो दूध लेते हैं, वह जरूरी नहीं कि शुद्ध ही हो। दूध पर चांदी काटने वाले इसे जहरीला बनाकर आप तक ला रहे हैं। मुनाफा कमाने के लिए वे इसमें यूरिया, फॉर्मेलिन, स्टार्च जैसी हानिकारक चीजें मिला रहे हैं। उंगली से दूध में पानी की मिलावट चेक (milk adulteration) करना बहुत पुराना फंडा है। अब आप प्रतिष्ठि ब्रांड के दूध के पैकेट पर भी भराेसा नहीं कर सकते। इसमें भी कई हानिकारक रसायनों की मिलावट हो सकती है। इसलिए यहां जानिए कि आप घर पर ही किस तरह दूध की शुद्धता की जांच (How to Check Milk Purity) कर कसती हैं।

दूध की शुद्धता जांचने के कई तरीके हैं कि आप जो दूध खरीद रहे हैं वह उपभोग के लिए उपयुक्त है या नहीं। ऐसे में यह महत्वपूर्ण है कि आप यह जांच समय-समय पर करते रहें ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि आपके द्वारा खरीदे गए दूध में कोई रसायन तो नहीं!

तो दूध की शुद्धता जांचने के लिए इन स्टेप्स को अपनाएं

पहला तरीका – चेक करें दूध में है कितना पानी

दूध में ज़्यादा पानी आपकी सेहत के लिए खतरनाक तो नहीं है पर यह उन पोषक तत्वों से भरपूर नहीं है, जिनके लिए आप दूध पी रही हैं। यकीनन ये आपकी जेब काटने के समान है। दूध में पानी की मिलावट को चेक करने के लिए दूध की एक बूंद अपनी उंगली के टिप पर या या किसी झुकी हुई सतह पर रखें और उसे नीचे बहने दें। दूध यदि रुका रहता है और धीरे – धीरे बहता है, तो इसमें पानी कम है, अन्यथा इसमें पानी बहुत ज़्यादा है।

doodh mien milawat
जांच लें कि दूध में मिलावट है या नहीं। चित्र: शटरस्टॉक

दूसरा तरीका – चेक करें दूध असली है या नकली

प्राकृतिक दूध में रसायनों और साबुन जैसी चीजों को मिलाकर सिंथेटिक दूध यानी नकली दूध बनाया जाता है। सिंथेटिक दूध को केवल खराब स्वाद से जाना जा सकता है। रगड़ने पर यह साबुन जैसा लगता है और गर्म करने पर पीला हो जाता है।

तीसरा तरीका – इस तरह करें शुद्धता की जांच

दूध को धीमी आंच पर 2-3 घंटे के लिए तब तक उबालें। जब तक कि वह सख्त न हो जाए और गाढ़ा (खोया) न हो जाए। यदि दूध के कण मोटे और सख्त हैं, तो इसका मतलब है कि दूध में मिलावट है। जबकि ऑयली और सॉफ्ट कण का मतलब है कि यह अच्छी गुणवत्ता वाला दूध है।

चौथा तरीका – चेक करें दूध में स्टार्च है या नहीं

यदि आपके विक्रेता ने दूध में स्टार्च मिलाया है, तो आप 5 मिली दूध में दो बड़े चम्मच नमक (आयोडीन) मिलाकर चेक कर सकती हैं। दूध अशुद्ध होने पर मिश्रण नीला हो जाएगा। अन्यथा दूध अपने मौलिक सफेद रंग में ही रहेगा।

doodh ka swaad bhi chakhein
दूध का स्वाद भी चखें। चित्र-शटरस्टॉक।

पांचवां तरीका – यूं पता लगेगी दूध में यूरिया की मौजूदगी

दूध में यूरिया की मिलावट आपके और आपके परिवार की सेहत के लिए खतरनाक हो सकती है। यूरिया मिलाने पर दूध के स्वाद में कोई बदलाव नहीं होता, इसलिए इसकी पहचान थोड़ी जटिल है।

इसके लिए आप आधा टेबल स्पून दूध और सोयाबीन का पाउडर एक साथ मिलाएं और अच्छी तरह हिलाएं। पांच मिनट के बाद, लिटमस पेपर को तीस सेकंड के लिए डुबोएं। यदि लिटमस पेपर का रंग नीले में बदल जाए, तो इसका मतलब दूध में यूरिया है।

यह दूध में शुद्धता की जांच करने के 5 तरीके हैं। जिन्हें आजमा कर आप घर पर ही दूध की प्योरिटी चेक कर सकती हैं। इसके अलावा बाज़ार में दूध की प्योरिटी चेक करने के लिए किट भी मौजूद हैं।

यह भी पढ़ें : ब्लोटिंग और एसिडिटी से परेशान हैं, तो एंटासिड भूलकर ये चाय करें ट्राई

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।