वेट लॉस का मजेदार तरीका है मोनो डाइट प्लान, पर क्या ये आपके लिए हेल्दी है?

मोनो-डाइट (mono-diet) या मोनोट्रॉपिक डाइट (monotropic diet) एक ऐसा डाइट प्लान है, जिसमें केवल एक तरह के खाद्य पदार्थ शामिल होते हैं। आइए जानते हैं यह आपके स्वास्थ्य पर क्या असर डाल सकता है।
kya weight loss ke liye mono diet apnana sahi hai?
हड्डियों को स्वस्थ रखने के लिए व्यायाम के साथ पोषक तत्व भी हैं आवश्यक। चित्र: शटरस्टॉक
Vidhi Chawla Published: 11 Sep 2021, 08:00 am IST
  • 97

इसके नाम से ही यह स्पष्ट होता है कि मोनो-डाइट (mono-diet) या सिंगल फूड डाइट (single food diet) एक ऐसा डाइट प्लान है, जिसमें केवल एक खाद्य पदार्थ या एक प्रकार का भोजन शामिल है। इनमें आलू, सेब, चिकन, सब्जियां या फल होते हैं। यह डाइट विशेष रूप से तब पसंद की जाती है जब कोई व्यक्ति अपना वज़न कम करना चाहता है। यह संतुलित आहार से मिलने वाली एक्स्ट्रा केलोरीज को कम कर देता है। 

इस डाइट से वज़न जल्दी कम होता है, पर क्या यह हेल्दी तरीका है?

एक व्यक्ति के पास वज़न कम करने के बहुत कारण होंगे पर यदि वज़न घटाने की यात्रा आपको बीमार करती है तो शायद यह आपके फिटनेस गोल्स को प्राप्त करने का सही तरीका नहीं है। रिसर्च के रूप से इस आहार के बैकअप के लिए कोई रिकार्ड या डाटा नहीं है। मैट डेमन, जॉर्ज सिटवेल और हॉवर्ड ह्यूजेस जैसी कई प्रसिद्ध हस्तियों ने वज़न घटाने के लिए मोनो-डाइट का पालन किया है। लेकिन डॉक्टर इस आहार को अपनाने का सुझाव नहीं देते है।  

डॉक्टर क्यों देते हैं मोनो डाइट से परहेज की सलाह 

1. मांसपेशियों को नुकसान: 

जो आहार आवश्यकता से कम प्रोटीन प्रदान करता है, वह मांसपेशियों को अमीनो एसिड में तोड़ने का कारण बन सकता है, क्योंकि उसे आवश्यक न्यूट्रीएंट्स नहीं मिल रहे हैं। फैट मास के मुकाबले मसल मास का रेस्टिंग मेटाबॉलिज़्म ज़्यादा होता है। इससे अधिक केलोरी बर्न होती है और वजन आसानी से घटता है। लेकिन मांसपेशियों को खोने से आपकी वज़न घटाने की संभावना कम हो जाती है। 

mono dieting aapke swasthya ko kayi tarah se prabhavit kar sakti hai
मोनो डाइटिंग आपके स्वास्थ्य को कई तरह से प्रभावित कर सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

2. न्यूट्रीएंट्स की कमी: 

एक प्रकार का भोजन सभी पोषक तत्व प्रदान नहीं कर सकता। हर खाने में अलग न्यूट्रीएंट्स होते है। आपके शरीर को विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है, और उनसे समझौता करने से स्वास्थ्य संबंधी गंभीर समस्याएं हो सकती हैं।

3. अनहेल्दी (unhealthy) खाने को बढ़ावा देना: 

अच्छे स्वास्थ्य के लिए संतुलित आहार ज़रूरी है और वज़न घटाने के लिए एक ही भोजन करना सही तरीका नहीं है। इससे इटिंग डिसॉर्डर (eating disorder) हो सकता है।

 आप सोच रहे होंगे कि यदि इस आहार के इतने दुष्परिणाम हैं तो कोई क्यों इसका पालन करे? सीधे शब्दों में कहे तो यह आहार आलसी लोगों के लिए है। इस आहार में केवल दो गुण होते हैं, यह तेजी से वजन घटाने का कारण बनता है, और इसका पालन करना सरल और सस्ता है। 

आपको अलग-अलग तरीके के खाद्य पदार्थ नहीं खरीदने पड़ते हैं। इसके अलावा आप जब तक चाहें इस डाइट को फॉलो कर सकते हैं।

क्या हैं मोनो-डाइट के लिए कुछ प्रमुख फूड?

1. चिकन डाइट (Chicken Diet): 

यह डाइट मैट डेमन की फिल्मी भूमिका की तैयारी के वक्त लोकप्रिय हुआ था। इस दौरान उन्होंने लगभग 60 पाउंड (27.2 kg) वजन कम करने के लिए केवल चिकन ब्रेस्ट खाए थे। इस डाइट में सिर्फ चिकन खाना शामिल है। आप चिकन को कई रूपों में पका सकते हैं। इसमें ग्रिलिंग, बेकिंग, रोस्टिंग, उबला हुआ या तला हुआ भी शामिल हो सकता है।

2. आलू मोनो-डाइट (Potato Diet): 

प्रसिद्ध जादूगर पेन जिलेट ने मैजिकल तरीके से 100 पाउंड वज़न कम किया था। उन्होंने केवल आलू खाकर यह मुमकिन कर दिखाया। आलू में हाई पौष्टिक तत्व और फईबर होता है। यह वज़न घटाने में सहायता करता है। 

Potato diet hai mono diet ka pramukh food
पोटेटो डाइट है मोनो डाइट का प्रमुख फूड। चित्र: शटरस्‍टॉक

3. केला डाइट (Banana Diet): 

इस डायट के अनुसार आपको सिर्फ 12 दिन केले खाकर जिंदा रहना है। अच्छी बात है कि आप जितने चाहें उतने केले खा सकते हैं। परंतु, यह बहुत अस्वस्थ तरीका है।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

4. चॉकलेट डाइट (Chocolate Diet): 

डार्क चॉकलेट वजन घटाने में मदद करती है। यह अपने लक्ष्य तक पहुंचने का एक स्वादिष्ट तरीका है, लेकिन अगर आप इसे ज़्यादा करते हैं, तो इसका स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव पड़ सकता है।

इसलिए चाहे चॉकलेट हो या केला, मोनो-डाइट का पालन करके एक स्वस्थ शरीर नहीं पाया जा सकता। अगर आप अपना वजन कम करना चाहती हैं, तो आप कई स्वस्थ और टिकाऊ तरीके अपना सकती हैं। निश्चित रूप से, आपके गोल्स को प्राप्त करने में अधिक समय लग सकता है, लेकिन कम से कम यह आपके शरीर को नुकसान नहीं पहुंचाएगा।

यह भी पढ़ें: मोटापे से जुड़ी एक ऐसी समस्या, जो आत्महत्या तक ले जा सकती है

  • 97
लेखक के बारे में

Vidhi Chawla is a dietitian and the owner of Fisico Diet Clinic. ...और पढ़ें

अगला लेख