कार्डियो एक्सरसाइज़ वेट ट्रेनिंग से पहले करना चाहिए या बाद में, जानें क्या है एक्सपर्ट की राय

यदि आप वजन उठाने से पहले कुछ मील दौड़ने के साथ अपना वर्कआउट शुरू करते हैं, तो आपकी मांसपेशियां थक जाएंगी, जिससे भारी वजन उठाना या कई बार रिपीटेशन करना कठिन हो जाएगा। वजन उठाने के बाद थोड़े समय के लिए कार्डियो वार्म-अप से बचने का एक विकल्प हो सकता है।
cozy cardio for heart health
इसका कोई निश्चित जवाब नहीं है कि आपको कार्डियो या वेट ट्रेनिंग से शुरुआत करनी चाहिए।। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published: 26 Apr 2024, 17:02 pm IST
  • 134
इनपुट फ्राॅम

एक्सरसाइज में ऐसा कोई एक तरीका नहीं है जो सभी में फिट हो। लेकिन कुछ बदलाव हैं जिन्हें आप अपने लक्ष्यों के आधार पर अपने वर्कआउट से अधिकतम लाभ उठाने के लिए कर सकते हैं। एक्सरसाइज करने के लिए ऐसे कोई रूल नहीं होते है जिन्हें आपको फॉलो करने की जरूरत होती है। लेकिन फिर भी कई सवाल लोगों के मन में होते है। आज का सवाल भी उन्ही में से एक है कि आपको एक्सरसाइज की शुरूआत वेट ट्रेनिंग से या कार्डियो से शुरू करनी चाहिए।

कार्डियो वेट ट्रेनिंग से पहले या बाद में करना चाहिए

इस पर ज्यादा जानकारी के लिए हमने बात की फिटनेस और लाइस्टाइल कोच यश अग्रवाल से। यश अग्रवाल बताते है कि इसका कोई निश्चित जवाब नहीं है कि आपको कार्डियो या वेट ट्रेनिंग से शुरुआत करनी चाहिए। यह सब आपके फिटनेस उद्देश्यों पर निर्भर करता है।

उदाहरण के लिए, यदि आप दौड़ के लिए तैयारी कर रहे हैं या हृदय स्वास्थ्य लाभों को प्राथमिकता दे रहे हैं, तो कार्डियो के साथ अपने वर्कआउट की शुरुआत कर सकते है। इसके कई कारण हैं, आप जिस व्यायाम को प्राथमिकता दे रहे हैं, उसमें आप सबसे अधिक ऊर्जा देना चाहते हैं। इसलिए, यदि आप सहनशक्ति पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, तो पहले आधे घंटे को वेट ट्रेनिंग खर्च करना आपके कार्डियो प्रदर्शन को सीमित कर सकता है।

weight training ke Tips
नियमित वजन प्रशिक्षण के माध्यम से आपके वजन घटाने के लक्ष्यों को तेज किया जा सकता है! चित्र : शटरस्टॉक

दूसरी ओर, यदि आप फैट लॉस, वजन घटाने, या मांसपेशियों को बढ़ाने की दिशा में काम कर रहे हैं, तो ज़ोरदार कार्डियो में शामिल होने से पहले वजन उठाने वाले व्यायाम से शुरुआत करें। कार्डियो से मांसपेशियों में थकान हो सकती है, जिससे वजन उठाने के दौरान संभावित रूप से आपकी ताकत कम हो सकती है और चोट लगने का खतरा बढ़ सकता है।

हालाँकि, वेट ट्रेनिंग से पहले हल्के कार्डियो वार्म-अप से शुरुआत करने के फायदे हैं, भले ही आप मसल्स बिल्डअप या फैट बर्न करना चाह रहें हो।

वेट ट्रेनिंग के पहले कार्डियो करने के फायदे

हल्की कार्डियो एक्सरसाइज जैसे तेज गति से चलना या क्रॉस-ट्रेनर का उपयोग करना वजन उठाने से पहले आपकी मांसपेशियों को गर्म करने में मदद कर सकता है। यदि आप मांसपेशियों के बिल्डअप पर ध्यान दे रहें है, तो इस वार्म-अप को छोटा और हल्का रखें ताकि आप खुद को थकाएं नहीं।

चाहे आप मैराथन जैसी किसी विशिष्ट ट्रेनिंग के लिए प्रशिक्षण ले रहे हों, या आप सिर्फ अपनी सहनशक्ति पर ध्यान दे रहें हों, किसी भी वजन को उठाने से पहले इस अभ्यास को पूरा करना आपके प्रदर्शन के लिए सबसे अच्छा है।

glowing skin ke liye karein cardio
ट्रेनिंग सेशन में कम से कम एक बार स्वयं नियमित रूप से कुछ मिनटों के लिए वार्मअप वर्कआउट करें। चित्र- अडोबी स्टॉक

वेट ट्रेनिंग के बाद कार्डियो करने के फायदे

यदि आप वजन उठाने से पहले कुछ मील दौड़ने के साथ अपना वर्कआउट शुरू करते हैं, तो आपकी मांसपेशियां थक जाएंगी, जिससे भारी वजन उठाना या कई बार रिपीटेशन करना कठिन हो जाएगा। वजन उठाने के बाद थोड़े समय के लिए कार्डियो वार्म-अप से बचने का एक विकल्प हो सकता है। यदि आप अपने वेट ट्रेनिंग के बाद अधिक कार्डियो करना पसंद करते हैं, तो भी आप इसे अपनी दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं।

आप अपनी दौड़ने की कसरत को बेहतर बनाने के लिए अपनी मांसपेशियों को मजबूत करने के लिए वजन उठा सकते हैं। भले ही आपका कार्डियो सत्र लंबा और अधिक चुनौतीपूर्ण हो, विशेष रूप से सहनशक्ति पर ध्यान केंद्रित करने वालों के लिए, पहले हल्का वजन उठाने वाला सत्र शामिल करना आपके मुख्य कार्डियो वर्कआउट के लिए वार्म-अप के रूप में फायदेमंद हो सकता है।

ये भी पढ़े- Intermittent fasting for heart health : क्या हार्ट हेल्थ के लिए अच्छी नहीं है इंटरमिटेंट फास्टिंग? एक एक्सपर्ट से जानते हैं इसका जवाब

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

  • 134
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख