दुर्भाग्य से, हांगकांग में मिला दुनिया का पहला पुख्‍ता कोविड-19 रिइंफेक्‍शन

ऐसा लगता है कि हम अब तक के सबसे खराब समय में पहुंच गए हैं, क्योंकि खबर आ रही है कि कोविड-19 एक बार ठीक होने के बाद भी लोगों को अपनी चपेट में ले सकता है। रिइंफेक्‍शन का यह पहला मामला हांगकांग में सामने आया है।
घर में किसी को भी कोरोना वायरस संक्रमण हो गया है तो लगातार टेस्ट करवाते रहें। चित्र: शटरस्‍टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published: 25 Aug 2020, 08:20 pm IST
  • 91

ऐसा लगता है कि हमें कोविड -19 का जल्‍दी ही कोई पुख्‍ता समाधान ढूंढने की जरूरत है, क्योंकि दुनिया के पूर्वी परिधीय क्षेत्र से आने वाली खबर बहुत अच्‍छी नहीं है। सोमवार को हांगकांग में शोधकर्ताओं ने यह दावा किया कि उन्‍होंने कोविड -19 के पुन: संक्रमण यानी रिइंफेक्‍शन का दुनिया भर का पहला मामला दर्ज किया है। यह मामला एंटीबॉडीज और इम्‍युनिटी के स्‍थायित्‍व पर सवाल उठाता है।

क्‍या कहना है शोधकर्ताओं का

हांगकांग विश्वविद्यालय के मेडिसिन संकाय में एक सूक्ष्मजीवविज्ञानी और आगामी अध्ययन के प्रमुख लेखक केल्विन काई वांग ने यह निर्णय दिया, “ हमारा अध्ययन साबित करता है कि कोविड संक्रमण से तैयार हुई एंटीबॉडीज आजीवन मदद नहीं कर सकतीं। वास्तव में, कुछ दिनों बाद आप कोविड-19 के पुर्नसंक्रमण के भी शिकार हो सकते हैं।”

उन्होंने एक साक्षात्कार में बताया कि, “कोविड-19 रोगियों को यह नहीं मानना चाहिए कि वे फिर से संक्रमित नहीं होंगे।”

यहां तक कि जिन लोगों ने वायरस को हराया है, उन्हें भी सामाजिक दूरी का पालन करना चाहिए, मास्क पहनना चाहिए और हाथ धोने का अभ्यास रखना चाहिए।

शोधकर्ताओं के अनुसार स्क्रीनिंग ज्‍यादा महत्वपूर्ण है

शोधकर्ताओं ने कहा कि हल्‍के लक्षण दिखाई देने पर भी रोगियों का परीक्षण किया जाना चाहिए। यह मामला प्रकाश में तब आया जब हांगकांग के एक 33 वर्षीय निवासी को यूरोप से वापस आने के दौरान हांगकांग हवाई अड्डे पर इस महीने की शुरुआत अनिवार्य स्क्रीनिंग के माध्यम से गुजारा गया। उनकी पीसीआर स्‍वेब टेस्‍ट पॉजिटिव आया।

covid-19 reinfection
कोविड-19 से लड़ने के लिए स्क्रीनिंग बहुत महत्वपूर्ण है। चित्र: शटरस्टॉक

यह ज्‍यादा आश्चर्यजनक इसलिए भी था क्‍योंकि वह व्‍यक्ति साढ़े चार महीने पहले कोविड-19 से संक्रमित होकर ठीक भी हो चुका था। अर्थात उसमें एंटीबॉडीज तैयार हो चुकी थीं।

इस पूरे मामले का पता लगाने के लिए शोधकर्ताओं की टीम दो वायरस उपभेदों और उनके जीनोम, या आनुवंशिक कोडिंग की तुलना की।

दोनों वायरल सिग्‍नेचर “पूरी तरह से अलग” थे, और विभिन्न कोरोनावायरस लाइनेज, या क्लैड से संबंधित थे।

पहला मार्च और अप्रैल में एकत्र किया गया स्‍ट्रेन और दूसरा स्‍ट्रेन यूरोप में पाए गए वायरस से मेल खाता था – जहां रोगी अभी जुलाई-अगस्त में गया था।

“ वायरस हर समय बदल रहा है,” ऐसा कहा जा सकता है। पर यह संभव नहीं है कि मरीज को पहले वायरस के दौरान ही दूसरे वायरस का इंफेक्‍शन हो जाए।”

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

हवाई अड्डे पर पॉजिटिव टेस्‍ट आने के तुरंत बाद उनका ब्‍लड सैंपल लिया गया। जिसमें कोई एंटीबॉडी नहीं था। यह संकेत है कि दूसरे वायरस से बचाने में ये एंटीबॉडीज महीनों तक आपकी मदद नहीं कर सकते।

वेलकम सेंगर इंस्टीट्यूट में COVID-19 जीनोम परियोजना में अध्ययन कर रहे जेफरी बैरेट कहते हैं, “ यह निश्चित रूप से पिछली रिपोर्टों में से कुछ की तुलना में पुन: संक्रमण का मजबूत सबूत है क्योंकि यह दो संक्रमणों को अलग-अलग करने के लिए वायरस के जीनोम अनुक्रम का उपयोग करता है।”

यह SARS-Cov- 2 के रिइंफेक्‍शन के व्यापक प्रभाव की ओर इशारा करता है

अब तक पुनर्संक्रमण के कई मामले सामने आए हैं, लेकिन अब कोई भी इस संभावना से इनकार नहीं कर सकता कि कोरोनावायरस कुछ सप्ताह या महीनों के बाद फिर से उभर सकता है।

covid-19 infection
ब्‍लड टेस्‍ट से कोरोनावायरस के जोखिम की गंभीरता की पहचान की जा सकती है। चित्र : शटरस्टॉक

लेकिन विशेषज्ञ अब भी इस राय पर सहमत नहीं हो पाए हैं कि इन नए परिणामों के प्रति स्‍वास्‍थ्‍य जगत में काम कर रहे लोगों को कितना चिंतित होना चाहिए। इसके परिणाम मेडिकल जर्नल क्लिनिकल वायरल डिजीज में प्रकाशित किए जाएंगे।

एक्सेटर मेडिकल स्कूल यूनिवर्सिटी में एक क्लिनिकल सीनियर लेक्‍चरर डेविड स्ट्रेन ने कहा, “यह दो कारणों से एक चिंताजनक खोज है।”

“ इससे पता चलता है कि पिछले संक्रमण हमारे लिए बहुत प्रोटेक्टिव नहीं हैं। दूसरा यह इस संभावना को भी बढ़ाता है कि वैक्‍सीन से हम जो उम्‍मीद लगाए बैठे हैं, शायद वह उतनी सफल न हो पाए।”

एंटीबॉडी स्थायी सुरक्षा प्रदान नहीं करते हैं, “इस क्रम में हमें सामान्य जीवन में लौटने के लिए वायरस के उन्मूलन की एक व्‍यापक रणनीति अपनाने की आवश्यकता होगी।”

  • 91
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख