क्या ब्रेस्ट कैंसर के बाद भी संभव है ‘ब्रेस्टफीडिंग’ कराना? एक ऑन्कोलॉजिस्ट दे रहीं हैं इसका जवाब

दुनिया में सबसे पवित्र और सबसे प्यारा रिश्ता मां और बच्चे का होता है। मां अपने बच्चे को न सिर्फ अपने गर्भ में रखती है, बल्कि स्तनपान के माध्यम से उसे प्रारंभिक खुराक और पोषण देती है। यही पोषण उसे जीवन भर कई समस्याओं से बचाता है।
kya breastcancer ke baad krwa sakte hain breastfeeding
क्या ब्रेस्ट कैंसर के बाद करा सकते है 'ब्रेस्टफीडिंग'। चित्र: शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published: 2 Aug 2023, 20:00 pm IST
  • 111

‘दुनिया में सबका प्यार अधूरा आधा निकलेगा, बस मां का प्यार ही 9 महीने ज्यादा निकलेगा’.. वैसे तो दुनियां में मां की महानता को दर्शाने और बताने के लिए कई तरह की बातें की जाती है, लेकिन शायद ये तमाम शब्द भी मां की महानता का पूरी तरह से बखान नहीं कर सकतें हैं। मां का दूध बच्चे के लिए अमृत जैसा होता है। पर क्या ब्रेस्ट कैंसर का उपचार लेने के बाद भी इसकी पौष्टिकता वैसी ही रहती है? क्या स्तन कैंसर का सामना कर रही कोई स्त्री अपने बच्चे को स्तनपान (Breastfeeding After Breast Cancer) करवा सकती है? ब्रेस्टफीडिंग वीक के दौरान एक ऑन्कोलॉजिस्ट से जानते हैं ऐसे ही सवालों के जवाब।

इसीलिए हर साल जुलाई के पहले हफ्ते में स्तनपान की अहमियत और उसकी सुंदरता को सेलिब्रेट करने के लिए ‘वर्ल्ड ब्रेस्टफीडिंग वीक’ यानी ‘विश्व स्तनपान सप्ताह’ मनाया जाता है। इस स्तनपान सप्ताह में मां और बच्चे के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हर वो जानकारी दी जाती है, जो स्तनपान के नजरिये से बेहद जरूरी है।

अगर आप मां बनने वाली हैं या फिर अभी हाल ही में मां बनीं हैं और स्तनपान को लेकर आपके मन में भी कन्फ्यूज़न है, तो यहां हम आपके कन्फ़्यूजन्स को दूर करेंगे।

क्या ब्रेस्ट कैंसर के बाद करा सकते है ‘ब्रेस्टफीडिंग’ ?

अगर आप भी ब्रेस्ट कैंसर से गुज़री हैं और अब आप नई-नई मां बनीं हैं, तो ब्रेस्टफीडिंग को लेकर आपकी चिंता जायज़ है क्योंकि WHO के अनुसार, ब्रेस्ट कैंसर कोशिकाएं ब्रेस्ट में मौजूद दूध नलिकाओं या दूध पैदा करने वाले लोब्यूल के ठीक अंदर शुरू होती है।

breastfeeding
शिशु की सेहत के लिए जरूरी है ब्रेस्ट फीडिंग। चित्र- शटर स्टॉक

इसीलिए यह सवाल पैदा होता है कि ब्रेस्ट कैंसर के बाद ब्रेस्टफीडिंग संभव हैं या नहीं। इसी सवाल का जवाब लेने के लिए हेल्थ शॉट्स ने दिल्ली के साकेत स्थित मैक्स स्पेशलिटी में डॉ. अदिति चतुर्वेदी (वरिष्ठ सलाहकार, कैंसर केयर/ऑन्कोलॉजी, सर्जिकल ऑन्कोलॉजी, स्तन कैंसर) से बात की और उनसे इन सवालों के जवाब मांगे।

1 क्या एक साथ चल सकते हैं कीमोथेरेपी और स्तनपान?

स्तनपान और कीमोथेरेपी को लेकर बात करते हुए उन्होंने कहा कि ये दोनों एक साथ नहीं चल सकते। विशेषज्ञ का कहना है कि कीमोथेरेपी के दौरान स्तनपान की अनुमति नहीं होती है क्योंकि दवाएं बच्चे तक पहुंच सकती हैं और बच्चे के विकास में रुकावट, प्रतिरक्षा में कमी और संक्रमण जैसे दुष्प्रभाव पैदा कर सकती है।

कई बार ऐसा भी होता है कि प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर के बारे में पता चलता है। ऐसी स्थिति में कई प्रकार की जटिलताएं होती है, इसलिए सर्जनों, विकिरण ऑन्कोलॉजिस्ट और गर्भावस्था की देखभाल करने वाले प्रसूति रोग विशेषज्ञ के बीच एक समन्वित प्रयास की आवश्यकता है।

2 ब्रेस्ट कैंसर के बाद ब्रेस्टफीडिंग करना कितना सुरक्षित है?

WHO के अनुसार ब्रेस्ट कैंसर को हराना काफी मुश्किल है। वहीं अगर पिछले तीन साल के आंकड़ों पर नज़र डालें तो 6,85,000 महिलाओं की इससे मृत्यु हुई है। डॉक्टर के अनुसार ब्रेस्ट कैंसर के सफल उपचार के बाद भी कई तरह की देखभाल करनी पड़ती है। वहीं, कैंसर मुक्त होने के बाद महिलाएं फैमिली प्लानिंग भी कर सकती हैं।

ब्रेस्टफीडिंग के मामले पर बात करते हुए डॉक्टर चतुर्वेदी ने बताया कि यदि आप किसी हॉर्मोन या मौखिक कीमोथेरेपी पर नही हैं, तो ब्रेस्ट कैंसर के बाद ब्रेस्टफीडिंग कराना सुरक्षित है।

लेकिन इसमें भी तमाम तरह की जटिलताएं आने की संभावनाएं हैं। डॉक्टर के अनुसार जिस तरफ ब्रेस्ट कैंसर की सर्जरी हुई है, वहां से दूध का उत्पादन नहीं होगा। लेकिन आप दूसरी तरफ से बच्चे को ब्रेस्टफीड करा सकतीं हैं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी पढ़ें : Gut Health : ये 10 लक्षण खराब गट हेल्थ की तरफ करते हैं इशारा, एक्स्पर्ट से जानिए इसे दुरुस्त करने के उपाय

3 ब्रेस्ट कैंसर के उपचार के बाद ब्रेस्टफीडिंग के दौरान किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है?

डॉक्टर चतुर्वेदी के अनुसार जब आपका इलाज पूरा हो जाए और आपकी डॉक्टर आपको अनुमति दे दे तब आप ब्रेस्टफीड करा सकतीं हैं।ब्रेस्ट मिल्क के साथ-साथ आप बाज़ार में मिलने वाले बेबी फूड्स पर भरोसा कर उन्हें भी अपने शिशु को दे सकती है।

Breastfeeding
दूध निकालने में मदद के लिए एक अच्छी गुणवत्ता वाला स्तन पंप खरीद लें। चित्र : एडॉबीस्टॉक

वहीं अगर आप ब्रेस्ट कैंसर के इलाज के बाद भी ब्रेस्टफीड कराना चाहती हैं, तो आप इस तरह से करा सकती हैं:

• अपने स्तनों के प्रति कोमल रहें और सूखे तौलिये से निपल्स को न रगड़ें।
• कैंसर के उपचार से स्तन के लोब क्षतिग्रस्त हो जाते हैं, और वे समायोजित हो जाते हैं इसलिए सूख भी जाते हैं। इससे आपको असुविधा न हो इसके लिए कोल्ड पैक का उपयोग करें।
• कम दूध पैदा करने वाले स्तन से जितना संभव हो उतना दूध निकालने में मदद के लिए एक अच्छी गुणवत्ता वाला स्तन पंप खरीद लें।

यह भी पढ़ें : Gut Health : ये 10 लक्षण खराब गट हेल्थ की तरफ करते हैं इशारा, एक्स्पर्ट से जानिए इसे दुरुस्त करने के उपाय

  • 111
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख