Yoga Benefits 2024 : इन 4 सदाबहार योगासनों से करें हेल्दी और हैप्पी न्यू ईयर की शुरुआत

दिनभर में कुछ देर योगाभ्यास करने से तन और मन हेल्दी बने रहते हैं। सर्दियों में मांसपेशियों में होने वाली ऐंठन से भी मुक्ति मिल जाती है। जानते हैं वो आसान योगासन जिनकी मदद से आप खुद को रख सकते है पूरी तरह से स्ट्रेस फ्री।
Jaanein khud ko yog abhyas se kaise rakhein healthy
जानते हैं वो आसान योगासन जिनकी मदद से आप खुद को रख सकते है पूरी तरह से स्ट्रेस फ्री। चित्र : अडोबीस्टॉक
ज्योति सोही Published: 31 Dec 2023, 08:00 am IST
  • 140

हर व्यक्ति के जीवन में किसी न किसी बात को लेकर तनाव बना रहा है। वो तनाव कब गुस्से और चिड़चिड़ेपन में बदल जाता है पता ही नहीं चलता। क्यों न नए साल के आगाज़ के साथ खुद को तनाव मुक्त रखने का भी प्रण लें। ऐसे में खुद को स्ट्रेस फ्री बनाए रखने के लिए विश्राम करने के साथ व्यायाम भी ज़रूरी है। दिनभर में कुछ देर योगाभ्यास करने से तन और मन हेल्दी बने रहते हैं। साथ ही सर्दियों में मांसपेशियों में होने वाली ऐंठन से भी मुक्ति मिल जाती है। जानते हैं वो आसान योगासन जिनकी मदद से आप खुद को रख सकते है पूरी तरह से स्ट्रेस फ्री।

खुद को हेल्दी रखने के लिए करें ये 4 योगासन

1. आनंद बालासन

शरीर में लचीलापन बढ़ाने के साथ आनंद बालासन तनाव को दूर रखने में भी मदद करता है। पीठ के बल किए जाने वाले इस योगासन की मदद से शरीर में हैप्पी हार्मोन रिलीज़ होते हैं, जो अवसाद और चिंता की समस्या को दूर करते हैं। इसके अभ्यास से हैमस्ट्रिंग और हिप्स में होने वाली स्टिफनेस को असानी से दूर किया जा सकता है।

जानें इसे करने की विधि

इसे करने के लिए पीठ के बल मैट पर सीधे लेट जाएं। अब दोनों टांगों को उपर की ओर उठाएं।

घुटनों को मोड़ते हुए दोनों टांगों के मध्य गैप रखें और घुटनों को चेस्ट के नज़दीक ले आएं।

धीरे धीरे दोनों हाथों से पैरों को पकड़ लें और उपर की ओर रखें। इससे मांसपेशियों में खिंचाव आता है।

शरीर को 30 सेकण्ड से लेकर 1 मिनट तक इसी मुद्रा में बनाए रखें और उसके बाद शरीर को ढ़ीला छोड़ दें।

योगाभ्यास के दौरान गहरी सांस लें और छोड़ें। इससे तनाव रिलीज़ होने लगता है।

Jaanein Happy baby pose ke fayde
इससे लोअर बैक में होने वाली स्टिफनेस कम होने लगती है। जो दर्द को कम करने से मदद करता है।

2. अधोमुख श्वानासन मुद्रा

मन की शांति बनाए रखने के लिए इस योगासन का अभ्यास अवश्य करे। इससे ब्रेन में ब्लड सर्कुलेशन नियमित होता है और एनर्जी लेवल भी उचित बना रहता है। शरीर को हेल्दी बनाए रखने और तनाव मुक्त रखने के लिए सुबह उठकर इस योगसन को 1 मिनट के लिए 2 से 3 बार दोहराएं। इस योगासन को करने से बालों को भी मज़बूती मिलने लगती है।

जानें इसे करने की विधि

इस योग को करने के लिए मैट पर सीधे खड़े हो जाएं। अब पीठ को एकदम सीधा कर लें।

उसके बाद दोनों टांगों के मध्य दूरी बना लें। अब दोनों हाथों को उपर उठाएं और एकदम सीधा रखें।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

धीरे धीरे कमर को आगे की ओर झुकाएं और दोनों हाथों को जमीन पर चिपका लें। गहरी सासं लें और छोड़ें।

घुटनों को मोड़ने से बचें। अब 1 मिनट तक इसी मुद्रा में रहने के बाद शरीर को ढ़ीला छोड़ दें।

3. उत्तानासन

पीठ में होने वाले दर्द और बढ़ रहे तनाव को दूर करने के लिए उत्तानासन एक बेहतरीन विकल्प है। इसकी मदद से शरीर में लचीलापन बढ़ता है और ब्रेन तक ऑक्सीजन पहुंचने लगती है। इससे दिमाग में ब्लड सर्कुलेशन नियमित बना रहता है।

जानें इसे करने की विधि

इसे करने के लिए मैट पर सीधे खड़े हो जाएं। अब दोनों बाजूओं को उपर की ओर उठाएं।

धीरे धीरे आगे की ओर झुकें और दोनों हाथों से पैरों को छुएं। इस दौरान पीठ को सीधा रखें।

अब सिर को घुटनों से छुएं और गहरी सांस लें व छोड़ें। अपना पूरा ध्यान सांस पर केंद्रित करें।

30 सेकण्ड से 50 सेकण्ड तक इसी मुद्रा में रहने के बाद शरीर को ढ़ीला छोड़ दें।

yoga se karein immune system majboot
प्रतिदिन योगाभ्यास करने से शारीरिक समस्याएं रहती हैं कोसों दूर। चित्र- अडोबी स्टॉक

4. वीरभद्रासन

मांसपेशियों की मज़बूती को बढ़ाने और शरीर को हेल्दी बनाए रखने के लिए रोज़ाना वीरभद्रासन करें। इससे शरीर में हैप्पी हार्मोन सिलीज़ होते हैं, जो ब्रेन को चिंतामुक्त रखने में मदद करता है। इससे गर्दन व साईटिका पेन की समस्या भी हल हो जाती है।

जानें इसे करने की विधि

इस योगासन को करने के लिए मैट पर खड़ें रहें और पीठ को सीधा रखें।

अब दाईं टांग को आगे बढ़ाएं और बाईं टांग को पीछे लेकर जाएं। दोनों बाजूओं को उपर की ओर खींचें।

दोनों हथेलियों को जोड़ लें और गहरी सांस लें व छोड़ें। इससे टांगों की मांसपेशियों में खिंचाव महसूस होता है।

अब दोनों बाजूओं को फैलाएं, एक बाजू आगे और दूसरी बाजू पीछे लाएं। इससे शरीर का बैलेंस बना रहता है।

ये भी पढ़ें-

  • 140
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख