स्वाद-स्वाद में ज्यादा खा लिया, तो रसोई के इन 5 नुस्खों से संभालें हाजमा 

खाने की टेबल पर जब एक से बढ़कर एक लजीज़ व्यंजन हों, तो कभी-कभी हाजमा बिगड़ जाता है। मगर परेशान न हों, क्योंकि मम्मी की रसोई में इनका भी इंतजाम है। 

rasoi ke masale ke fayde
पुदीना की पत्तियों के अलावा रसोई में मौजूद कई मसाले बदहजमी दूर करने में कामयाब हैं। चित्र: शटरस्टॉक
स्मिता सिंह Published on: 11 August 2022, 14:30 pm IST
  • 124

रक्षाबंधन का त्योहार है, तो खाने-खिलाने का दौर तो चलेगा ही। त्योहारों के अवसर पर स्वादिष्ट और गरिष्ठ भोजन ही बनते हैं। भारी भोजन न सिर्फ पचने में ज्यादा समय लेते हैं, बल्कि बदहजमी के कारण भी बनते हैं। मां कहती है कि ज्यादा तेल-मसाले वाले भोजन या गरिष्ठ भोजन के बाद रसोई में मौजूद ऐसी सामग्रियों को जरूर खाएं, जो भोजन को पचाने में मदद करते हैं। यदि आप या आपके परिवार का कोई सदस्य भोजन अधिक खा लेने के कारण एसिडिटी, गैस या ब्लोटिंग की समस्या से परेशान हो रहा है, तो रसोई में मौजूद कुछ चीजों को जरूर आजमाएं। इनका प्रयोग बहुत  पुराने समय से होता आया है।

यहां हैं वे सामग्रियां जो भोजन को पचाने में मदद करती हैंं

1 पुदीना की पत्तियां (Mint Leaves)

पुदीना को किचन गार्डेन में आसानी से उगाया जा सकता है। चाहें तो आप एक छोटे गमले में पुदीने को लगाकर सिंक के पास भी सजा सकती हैं। उस स्थान पर पुदीने को जरूरत भर पानी मिलता रहेगा और आपको स्वास्थ्यकर पुदीने की पत्तियां।

पोटैशियम, आयरन, फॉस्फोरस, विटामिन ए और सी, मैग्नीशियम से भरपूर पुदीना पेट के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

कैसे करें प्रयोग

एक टेबलस्पून नींबू का रस, 1 टेबलस्पून पुदीना का रस और 1 टीस्पून अदरक का रस लें।

तीनों को मिक्स कर उसमें दोगुना गुड़ डाल दें।

मिश्रण को लो फ्लेम पर पका लें।

इस काढ़े को पीने से बदहजमी दूर हो जाएगी।

चाहें तो पुदीना की एक मुट्ठी पत्तियों को धीरे-धीरे चबा लें। तुरंत राहत मिलेगी।

2 सौंफ (Fennel Seeds)

मैंग्नीज, मैग्नीशियम, पोटैशियम से भरपूर सुपरफूड सौंफ मेटाबॉलिज्म को तेज करता है। यह भोजन को पचाने में भी मदद करता है।

कैसे करें प्रयोग

खाना खाने के तुरंत बाद 1 टीस्पून चम्मच सौंफ खा लें।

इसे धीरे-धीरे चबाएं।

20-25 मिनट बाद 1 ग्लास पानी पी लें। पेट हल्का हो जाएगा।

सौंफ को रातभर पानी में भिगोने के बाद उस पानी को पीने से भी पाचन संबंधी समस्याएं दूर हो जाती हैं।

3 हींग (Asafoetida)

फॉस्फोरस, सोडियम, पोटैशियम, आयरन से भरपूर हींग से ब्लोटिंग की समस्या में तुरंत राहत मिलती है।

कैसे करें प्रयोग

यदि गरिष्ठ भोजन खाने के बाद पेट भारी लग रहा है या पेट साफ न होने के कारण

फूला हुआ महसूस हो रहा है, तो

1 कप पानी में 1 चुटकी हींग मिक्स कर दें।

कड़वा स्वाद होने के कारण आपको पीने में दिक्कत हो सकती है।

इसलिए आंख बंदकर 1 सांस में इसे पी जाएं। मिनटों में राहत मिलेगी।

Heeng acidity ki best home remedy hai
चुटकी भर हींग आपको पेट दर्द, बदहजमी से निजात दिला सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

कुछ मिनट बाद आपका पेट भी साफ हो जाएगा।

यदि दाल-सब्जी में हींग का तड़का लगाया जाए, तो गैस की समस्या नहीं होती है।

4 आजवाइन (Carom Seeds)

आयरन, पोटैशियम, सोडियम, फाइबर की स्रोत वाला आजवाइन गट हेल्थ के लिए बहुत लाभदायक है।

कैसे करें प्रयोग

खाना खाने के कुछ देर बाद आधा टीस्पून लेकर चबा लें।

कुछ देर बाद पानी पीने से आराम मिलेगा।

आधा टीस्पून आजवाइन को 1 कप पानी में उबाल कर पी लें, एसिडिटी, पेट दर्द, बदहजमी में तुरंत राहत मिलेगी।

5 धनिये के बीज (Coriander Seeds)

फोलेट, पोटैशियम, मैंग्नीज, कोलीन से भरपूर धनिया पाचन तंत्र के लिए बेहद उपयोगी है।

कैसे करें प्रयोग

एक टी स्पून धनिया को तवे पर हल्का भून लें।

पाउडर बनाकर 1 ग्लास पानी के साथ खा लें।

धनिया बीज को रातभर पानी में भिगोकर छोड़ दें।

dhaniya paani ke fayde
धनिया और धनिया का पानी पाचन तंत्र को दुरुस्त करता है। चित्र : शटरस्टॉक

सुबह उठकर खाली पेट पीने से पाचन संबंधी हर समस्या दूर होगी।

यह भी पढ़ें:-आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकती है टी बैग वाली चाय, जानिए क्या कहता है शोध 

  • 124
लेखक के बारे में
स्मिता सिंह स्मिता सिंह

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory