आम के पत्ते हो या जामुन के बीज ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल कर सकते हैं ये 5 घरेलू नुस्खे

डायबिटीज की बढ़ती आकड़ा बनती जा रही है चिंता का गंभीर विषय। तो ब्लड शुगर लेवल को प्राकृतिक रूप से नियंत्रित रखने में मदद करेंगे यह 5 हर्ब्स।

how to control sugar level
इन 5 हर्ब्स के साथ बिना दवाओं के कम करें ब्लड शुगर लेवल। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 19 November 2022, 11:00 am IST
  • 159

डायबिटीज के बढ़ते मामलों के कारण भारत को डायबिटीज के वर्ल्ड कैपिटल के नाम से जाना जाने लगा है। नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा प्रकाशित एक डेटा के अनुसार 2025 तक भारत में डायबिटीज के मरीजों की संख्या 69.9 मिलियन हो जाएगी। अगर यह इसी रफ्तार से बढ़ती रही तो 2030 तक इसके 80 मिलियन तक पहुंचने की संभावना है। ऐसे में यह इंडियन डाइट पर एक बहुत बड़ा सवाल है, कि आखिर हम ऐसा क्या कर रहे हैं कि ब्लड ग्लूकोज लेवल को नियंत्रित रखना इतना मुश्किल होता जा रहा है। कहीं ऐसा तो नहीं कि हम उन घरेलू औषधियों को नजरंदाज कर रहे हैं, जो प्राकृतिक रूप से ब्लड शुगर लेवल को कम (how you can lower blood sugar at home) कर सकती हैं! आइए जानते हैं आपकी रसोई में मौजूद ऐसी ही हर्ब्स के बारे में जो डायबिटीज से बचा सकती हैं।

गलत लाइफस्टाइल, खानपान की गलत आदतें, शारीरिक रूप से कम सक्रिय रहने के कारण डायबिटीज की समस्या लगातार बढ़ रही है। इसलिए यह जरूरी है कि आप भी अभी से सचेत हो जाएं।

समस्या है तो समाधान भी है

हालांकि कोई भी समस्या ऐसी नहीं होती जिसका निदान नहीं होता। तो सबसे पहले इससे बचने के लिए अपनी डाइट सही करें, खुद को शारीरिक रूप से सक्रिय रखें और एक सही लाइफस्टाइल फॉलो करें। साथ ही आज हम लेकर आए हैं पांच ऐसे प्रभावी हर्ब्स जो शरीर में ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में आपकी मदद करेंगे। तो चलिए जानते हैं, इन हर्ब्स के नाम साथ ही जानेंगे यह किस तरह काम करते हैं।

इन 5 हर्ब्स के साथ बिना दवाओं के कम करें ब्लड शुगर लेवल। चित्र शटरस्टॉक।

इन 5 हर्ब्स के साथ प्राकृतिक रूप से कंट्रोल करें ब्लड शुगर लेवल

1. नीम (Neem leaves)

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा नीम और डायबिटीज को लेकर किए गए एक स्टडी के अनुसार नीम में एंटी डायबेटीक और एंटी हाइपरटेंशन प्रॉपर्टी पाई जाती हैं। नीम की कड़वी पत्तियां फ्लेवोनॉयड, ग्लाइकोसाइड्स और एंटीवायरल कंपाउंड से युक्त होती हैं। यह सभी ब्लड शुगर लेवल को मेंटेन रखने में मदद करते हैं।

नीम की पत्तियों को इस्तेमाल करने के कई तरीके हैं। आप इसकी पत्तियों को सुखाकर पाउडर बनाकर पानी के साथ या फिर स्मूदी इत्यादि में मिला कर ले सकती हैं। साथ ही साथ नीम के पत्तों का पानी भी डायबिटीज में फायदेमंद रहेगा।

2. आम के पत्ते (Mango leaves)

पब मेड सेंट्रल द्वारा आम के पत्तों को लेकर प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार आम के पत्ते में मौजूद प्रॉपर्टी शरीर में इन्सुलिन प्रोडक्शन और ग्लूकोज के विभाजन को संतुलित रखती हैं। वहीं यह ब्लड शुगर लेवल को भी मेंटेन रखने में मदद करती हैं। आम के पत्ते में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी, फाइबर और पेक्टिन मौजूद होता है। यह सभी पोषक तत्व डायबिटीज और कोलेस्ट्रॉल की स्थिति को नियंत्रित रखने के लिए फायदेमंद माने जाते है।

इसे इस्तेमाल में लाना और भी आसान है। आपको 10 से 12 आम की पत्तियों को पानी में डालकर उबाल लेना है और इस पानी को रात भर के लिए ढककर छोड़ देना है। फिर सुबह खाली पेट सबसे पहले आम के पत्ते का पानी पिएं। नियमित रूप से इसका सेवन आपकी डायबिटीज की स्थिति में सकारात्मक सुधार ले कर आएगा।

jamun seeds ke fayde
फायदेमंद है जामुन सीड्स। चित्र शटरस्टॉक।

3. जामुन के बीज (Jamun seeds)

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार जामुन के बीज में एंटी डायबिटिक इफेक्ट पाया जाता है। इसी के साथ इसकी हाइपोग्लाइसेमिक प्रॉपर्टी ब्लड शुगर लेवल को मेंटेन रखती हैं। वहीं इसमें मौजूद अल्कालोइड्स स्टार्च को ऊर्जा में परिवर्तित कर देते हैं और यह डायबिटीज में नजर आने वाले लक्षण को नियंत्रित रखने में मदद करता है।

साथ ही इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर मौजूद होता हैं जो डाइजेस्टिव हेल्थ को बनाए रखता है। एक स्वस्थ पाचन क्रिया इम्यूनिटी बूस्ट करती है जिस वजह से डायबिटीज को नियंत्रित रखना आसान हो जाता है।

इसे डाइट में शामिल करने के लिए जामुन के बीज का पाउडर बना लें और नियमित रूप से एक चम्मच जामुन पाउडर को पानी में मिलाकर खाली पेट पियें।

4. कड़ी पत्ता (Curry leaves)

दी फार्मा इनोवेशन द्वारा कड़ी पत्ता और ब्लड शुगर लेवल को लेकर प्रकाशित एक स्टडी के अनुसार कड़ी पत्ता बिना किसी साइड इफेक्ट के शरीर में ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखता है। वहीं इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर मौजूद होते हैं जो डाइजेशन को धीमा कर देते हैं। जिस वजह से यह जल्दी मेटाबोलाइज्ड नहीं हो पाता और ब्लड शुगर लेवल संतुलित रहता है।

कड़ी पत्ता इंसुलिन एक्टिविटी को बूस्ट करता है। साथ ही यह ब्लड स्ट्रीम में प्रवेश करने वाले ग्लूकोज की मात्रा को भी नियंत्रित रखता है।

आप कड़ी पत्ते को नियमित रूप से रोज सुबह खाली पेट सीधा चबाकर खा सकती हैं। इसके साथ ही इसके पत्तो का जूस या फिर अपनी मॉर्निंग स्मूदी इत्यादि में इसे मिलाकर ले सकती हैं। वहीं तरह-तरह के व्यंजनों में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। यह स्वाद और सेहत दोनों से भरपूर होते हैं।

diabetes ke liye curry leaves
ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में फायदेमंद है करी पत्ता। चित्र : शटरस्टॉक

5. मेथी के बीज (Fenugreek seeds)

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा प्रकाशित अध्ययन के अनुसार मेथी के बीज में एंटी डायबिटिक इफेक्ट पाया जाता है। यह शरीर में ब्लड ग्लूकोस लेवल को संतुलित रखने में मदद करते हैं। साथ ही ग्लूकोस टोलरेंस को भी बढ़ाते हैं।

इसके प्रभावी परिणाम के लिए एक चम्मच मेथी के बीज को पानी में भिगोकर रात भर के लिए छोड़ दें। अगले सुबह खाली पेट बीज को चबाते हुए मेथी के पानी को पियें।

यह भी पढ़ें : बिस्तर पर एनर्जेटिक रहने के लिए भी जरूरी है सुबह की धूप, यहां हैं सेक्स ड्राइव बढ़ाने वाले 7 उपाय 

  • 159
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी

हेल्थशॉट्स कम्युनिटी का हिस्सा बनें

ज्वॉइन करें
nextstory