जाती हुई ठंड खराब कर सकती है गला, इन घरेलू उपायों से पाएं इस समस्या से निजात

गले में ख़राश अक्सर पहला संकेत होता है कि आप सर्दी या फ्लू से पीड़ित हैं, इसके कई और कारण भी हो सकते हैं। कभी-कभी मौसम का बदलना इसके लिए जिम्मेदार हो सकता है।
throat congestion
जानें गले के दर्द से राहत पाने के कुछ खास घरेलू उपाय। चित्र:एडॉबीस्टॉक चित्र : शटरस्टॉक
संध्या सिंह Published: 19 Feb 2024, 05:54 pm IST
  • 124

गले में खराश गले के पीछे और आसपास के क्षेत्र में सूजन के कारण होती है, जिसे फैरिंक्स के रूप में जाना जाता है। इसी सूजन के कारण आपके गले में खराश के कुछ लक्षण देखने को मिल सकते है जैसे खरोंच, दर्द, सूजन और असुविधा होती है। जब आपको गले में खराश हो तो उसके लिए आपको बहुत जल्दी कदम उठाने चाहिए नहीं तो ये खराश अधिक बढ़ सकती है।

गले में खराश आपको परेशान कर सकती है इससे आपको गले में खुजली और कभी कभी खासी भी हो सकती है। कई बार आपके देखा होगा कि आपको गले में खराश होने के कुछ ही दिन बाद सर्दी जुखाम हो जाता है। गले की खराश कई बार टांनसिल के बढ़ने के कारण भी हो सकती है। इससे आप जब भी कुछ खाएं तो आपके गले में दर्द हो सकता है।

चलिए क्या हो सकते है गले में खराश के कारण

1 वायरल संक्रमण

वायरस गले में खराश के सबसे आम कारणों में से एक है। अक्सर गले में खराश सामान्य सर्दी या फ्लू का लक्षण होता है। हालांकि खसरा, चिकनपॉक्स, क्रुप और अन्य बीमारियों का कारण बनने वाले वायरस भी गले में खराश पैदा कर सकते हैं। इसके अलावा, SARS-CoV-2 वायरस जो कि COVID-19 का कारण बनता है, जिससे भी गले में खराश हो सकती है।

home remedies for itchy throat
गले की खराश में अपनाये यह खास घरेलु नुस्खे। चित्र शटरस्टॉक।

2 गले में संक्रमण होना

वायरस के अलावा, बैक्टीरिया गले में खराश का एक आम कारण है। विशेष रूप से बच्चों में, गले का संक्रमण स्ट्रेप्टोकोकस बैक्टीरिया के कारण एक आम समस्या है। इससे बुखार, ठंड लगना, टॉन्सिल पर लाल धब्बे या सफेद धब्बे हो सकते है।

3 टॉन्सिल्लिटिस

टॉन्सिलिटिस में टॉन्सिल में सूजन होती है। वायरल संक्रमण आमतौर पर टॉन्सिलिटिस का कारण बनता है। टॉन्सिल आपके गले के पीछे होती है जो आपके शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली में सबसे पहली पंक्ति में होती है। वे आपके शरीर में प्रवेश करने वाले कीटाणुओं की जांच करते हैं।

4 सूखी हवा

नमी और बढ़ा हुआ तापमान दोनों आपके गले की बलगम वाली मेमब्रेन को प्रभावित कर सकते हैं। सूखी हवा असुविधा का कारण बन सकती है। एयर कंडीशनिंग आपके गले में खराश का कारण बन सकती है । यदि आप एसी में सोते है तो आपको गले में खराश देखने को मिल सकती है।

गले की खराश को ठीक करने के टिप्स

1 साफ-सफाई जरूरी है

गले की खराश को दूर करने के लिए सबसे पहली चीज है कि आपको साफ सफाई बनाए रखनी है। इसके लिए आपको अपने हाथों को अच्छी तरह और नियमित रूप से धोते रहना है। खांसते और छींकते समय अपने मुंह और नाक को ढंकना भी बहुत जरूरी है। इसके अलावा, आपको वायरल या बैक्टीरियल संक्रमण से पीड़ित लोगों के निकट संपर्क में आने से बचना चाहिए। आपको भोजन और ड्रिंक को किसी के भी साथ शेयर करने से भी बचना चाहिए।

जानें गले के दर्द से राहत पाने के कुछ खास घरेलू उपाय। चित्र:एडॉबीस्टॉक

2 कुछ घरेलू नुस्खे आपके काम आ सकते है

सदियों पहले जब गले की खराश के लिए दवाएं नहीं हुआ करती थी तो हमारी दादी-नानी कुछ घरेलू नुस्खों से इसे ठीक किया करती थी। इसके लिए वो गर्म, नमक वाले पानी से गरारे करना, शहद का उपयोग करना, अपनी नाक और साइनस को धोना, विटामिन सी अधिक मात्रा में लेना और गर्म तरल पदार्थों का सेवन करने की सलाह दिया करती थी। जिससे ये चीजें काफी आसानी से शांत हुई करती थी।

3 हर्बल चाय का करें सेवन

दुध वाली चाय तो आप रोजाना ही पीतें होंगे लेकिन आपको एक बार हर्बल चाय का सेवन करना चाहिए। आपको कुछ हर्बल चाय का सेवन करना चाहिए जो गले में खराश को कम करने में मदद कर सकती हैं। अध्ययनों से यह भी पता चला है कि हर्बल टी गले की खराश से निपटने में आपकी मदद कर सकती है। बायोमेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन में यह भी पाया गया कि हर्बल टी गले में संक्रमण के लिए जिम्मेदार बैक्टीरिया स्ट्रेप्टोकोकस को भी खत्म कर सकती है।

ये भी पढ़े- मां के सुझाए ये 5 नुस्खे गले की खराश और दर्द से देंगे राहत, यहां जानिए इनकी गुणवत्ता

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

  • 124
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख