अगर आपको भी कंडोम एलर्जी है, तो एक एक्सपर्ट दे रहीं हैं आपके लिए कुछ जरूरी सुझाव

असुरक्षित सेक्स से बचने के लिए कंडोम का इस्तेमाल जरूरी है। जरूरी नहीं है कि सभी महिलाओं को कंडोम शूट करता हो। कुछ महिलाओं में एलर्जी होने की संभावना बनी रहती है। आइये विशेषज्ञ से जानें क्यों होती है कंडोम से एलर्जी और इससे बचाव के क्या उपाय हैं?
Condom ka istemaal kyu hai jaruri
यौन संक्रमण और अनचाही प्रेगनेंसी से राहत पाने के लिए कंडोम का इस्तेमाल करें। चित्र : एडॉबीस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published: 17 Feb 2024, 08:00 pm IST
  • 125

सेफ सेक्स के लिए कंडोम जरूरी है। कंडोम के के इस्तेमाल से सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज के खतरे से बचा जा सकता है। जरूरी नहीं है कि सभी महिलाओं को कंडोम के साथ कोई स्वास्थ्य समस्या नहीं हो। कुछ महिलाओं को कंडोम के साथ एलर्जी भी हो सकती है। एक्सपर्ट से जानते हैं क्यों महिलाओं को कंडोम के साथ एलर्जी (Why Condom causes Allergy) हो जाती है। साथ ही यह कभी कि अगर आपको कंडोम से एलर्जी है तो आपको क्या करना चाहिए।

क्यों होती है कंडोम की आवश्यकता (Condoms for safe sex)

ब्लूम क्लिनिक फॉर वीमेन में सीनियर कंसल्टेंट, ऑब्सटेट्रिक्स, गायनी एंड आईवीएफ डॉ. श्वेता गुप्ता (Dr. Shweta Gupta, Senior Consultant in Obs & Gynae and IVF Specialist) बताती हैं, ‘एचआईवी सहित सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिजीज (एसटीडी) के जोखिम को कम करना जरूरी है। कंडोम एकमात्र बर्थ कंट्रोल है, जो प्रेग्नेंसी और एचआईवी सहित एसटीडी के जोखिम को कम करता है। यहां ध्यान यह देना है कि कंडोम का सही ढंग से उपयोग (Why Condom causes Allergy) किया जाना चाहिए। हर बार यौन संबंध बनाते समय इसका उपयोग किया जाना चाहिए।’

क्यों कुछ लोगों को होती है कंडोम से एलर्जी (Causes of Condom Allergy)

डॉ. श्वेता गुप्ता बताती हैं, ‘कंडोम के नेचुरल रबर में लेटेक्स होता है। लेटेक्स में प्रोटीन होता है, जो एलर्जी का कारण बन सकता है। लेटेक्स उत्पादों के बार-बार संपर्क में आने से धीरे-धीरे लेटेक्स एलर्जी विकसित हो जाती है। वेजाइनल म्यूकस मेम्ब्रेन की संवेदनशीलता के कारण कंडोम अधिक गंभीर प्रतिक्रिया उत्पन्न कर सकता है। लेटेक्स के लिए नियमित स्किन की तुलना में म्यूकस मेम्ब्रेन के माध्यम से ब्लड फ्लो में प्रवेश करना आसान होता है। यदि किसी को लेटेक्स से एलर्जी है, तो उसका शरीर लेटेक्स को हानिकारक पदार्थ समझने की गलती (Why Condom causes Allergy) कर देता है।’

एलर्जी होने पर क्या करना चाहिए (what to do for Condom Allergy)?

डॉ. श्वेता गुप्ता के अनुसार, यदि किसी को कंडोम से एलर्जी है, तो सेक्सुअल हेल्थ और वेलनेस (sexual health and well-being) के लिए समस्या का तुरंत समाधान जरूरी है। कंडोम एलर्जी जननांग क्षेत्र (genital area) में जलन, खुजली, सूजन या दाने के रूप में सामने आ सकती है। यहां कुछ उपाय बताये जा रहे हैं।

1. एलर्जेन की पहचान करें (Identify the Allergen) 

यह जानना होगा कि क्या विशेष रूप से लेटेक्स से एलर्जी है? आमतौर पर कंडोम में पाए जाने वाले अन्य पदार्थों, जैसे शुक्राणुनाशक (spermicides) या लुब्रिकेंट ( lubricants) भी शरीर पर प्रतिक्रिया करते हैं। किसी एलर्जी विशेषज्ञ या हेल्थकेयर एक्सपर्ट से एडवाइस लेने पर एलर्जी के सटीक कारण का पता चल सकता है।

2. चुनें अल्टरनेटिव मटीरियल (Try Alternative Materials)

यदि लेटेक्स से एलर्जी है, तो पॉलीयुरेथेन, पॉलीआइसोप्रीन, या लैम्ब्स्किन कंडोम जैसी वैकल्पिक कंडोम सामग्री का पता लगाया जा सकता है। ये सामग्रियां हाइपोएलर्जेनिक हैं। ये यौन संचारित संक्रमण और अनपेक्षित गर्भधारण से भी सुरक्षा प्रदान कर सकती हैं।

condom allergen ka pata lagana jaroori hai.
किसी एलर्जी विशेषज्ञ या हेल्थकेयर एक्सपर्ट से एडवाइस लेने पर एलर्जी के सटीक कारण का पता चल सकता है। चित्र : अडॉबी स्टॉक

3. जरूरी है लेबल पढ़ना (Read Labels)

कंडोम लेबल और पैकेजिंग पर पूरा ध्यान दें, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वे लेटेक्स या अन्य एलर्जी से मुक्त हैं। ये प्रतिक्रिया को ट्रिगर कर सकते हैं। एलर्जी प्रतिक्रिया के जोखिम को कम करने के लिए लेटेक्स-मुक्त या हाइपोएलर्जेनिक लेबल वाले कंडोम देखें।

4. विभिन्न ब्रांडों का परीक्षण करें (Test Different Brands)

सभी लेटेक्स-मुक्त कंडोम समान नहीं बनाए जाते हैं। विभिन्न ब्रांडों और किस्मों के साथ प्रयोग करके ऐसा ब्रांड खोजें, जो प्राथमिकताओं के अनुरूप हो। ये बिना एलर्जी पैदा किए पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करते हों। किसी विशेष ब्रांड के लिए प्रतिबद्ध होने से पहले सैंपल पैक या छोटी मात्रा में लेने का प्रयास करें।

5. प्रिस्क्रिप्शन विकल्पों पर विचार करें (Consider Prescription Options)

कुछ मामलों में लेटेक्स एलर्जी वाले व्यक्तियों को प्रिस्क्रिप्शन विकल्पों से लाभ हो सकता है। नॉन लेटेक्स कंडोम या डिसेन्सिटाइजेशन ट्रीटमेंट। सबसे उपयुक्त तरीका निर्धारित करने के लिए डॉक्टर या एलर्जी विशेषज्ञ के साथ विकल्पों पर चर्चा की जा सकती है।

6. सुरक्षा के अन्य रूपों का पता लगाएं (Explore Other Forms of Protection)

सुरक्षा के अन्य तरीकों जैसे कि ओरल कंट्रासेप्टिव, इंट्रा यूटेरिन डिवाइस (आईयूडी), कंट्रासेप्टिव इम्प्लांट या डायाफ्राम पर विचार करें। ध्यान रखें कि ये तरीके एसटीआई के खिलाफ कंडोम के समान सुरक्षा प्रदान नहीं कर सकते हैं।

flavoured condom toot bhi sakte hain.
जोखिम को कम करने के लिए लगातार सुरक्षित सेक्स का अभ्यास करना जरूरी है। चित्र : अडॉबी स्टॉक

7. पार्टनर के साथ संवाद करना (Communicating with Your Partner)

कंडोम एलर्जी से निपटने के दौरान सेक्सुअल पार्टनर के साथ खुली बातचीत महत्वपूर्ण है। एलर्जी और इससे होने वाली समस्या, उसके निदान के बारे में चहरचा करें पर चर्चा करें। सुरक्षा के वैकल्पिक उपायों पर दोनों मिलकर बात करें।

8. सुरक्षित सेक्स का अभ्यास करें (Practice Safe Sex)

चाहे आप किसी भी प्रकार की सुरक्षा का उपयोग करें, एसटीआई और अनपेक्षित गर्भधारण के जोखिम को कम करने के लिए लगातार सुरक्षित सेक्स का अभ्यास करना जरूरी है। इसमें सेक्सुअल एक्टिविटी के दौरान कंडोम या अन्य बाधा विधियों का सही और लगातार उपयोग करना शामिल है।

9. मेडिकल सलाह लें (Seek Medical Advice)

यदि वैकल्पिक कंडोम या सुरक्षात्मक उपायों को आजमाने के बावजूद लगातार या गंभीर एलर्जी का अनुभव कर रही हैं, तो हेल्थकेयर एक्सपर्ट से मार्गदर्शन लें। वे लक्षणों का मूल्यांकन कर उपचार विकल्प प्रदान कर सकते हैं। वे पीड़ित को किसी विशेषज्ञ के पास भी भेज सकते हैं।

10. लक्षणों पर नज़र रखें(Monitor Symptoms)

कंडोम या अन्य प्रकार की सुरक्षा (Why Condom causes Allergy) का उपयोग करते समय अनुभव किए जाने वाले किसी भी लक्षण या प्रतिक्रिया पर नज़र रखें। यह जानकारी एलर्जी को अधिक प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने के लिए पैटर्न, ट्रिगर या संभावित समाधानों की पहचान करने में मदद कर सकती है।

Condom ke sahi istemal ki jankari
कंडोम का उपयोग करते समय अनुभव किए जाने वाले किसी भी लक्षण या प्रतिक्रिया पर नज़र रखें। चित्र : अडॉबी स्टॉक

अंत में

कंडोम से एलर्जी होने (Why Condom causes Allergy) का मतलब यह नहीं है कि किसी को सुरक्षित यौन संबंध छोड़ना होगा। एलर्जेन की पहचान करके, वैकल्पिक विकल्प तलाशकर, अपने साथी के साथ संवाद कर और जरूरत पड़ने पर चिकित्सीय सलाह लेकर एलर्जी प्रतिक्रियाओं के जोखिम को कम किया जा सकता है। यह हेल्दी सेक्सुअल लाइफ जीवन जीने में मदद करेगा।

  • 125
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख