Butt Acne : यहां जानिए इस दर्दनाक समस्या से छुटकारा पाने के लिए 5 आसान उपाय

बट एक्ने शरीर के पिछले भाग पर फुंसी जैसा उभार होता है। ये स्किन पर होने वाली कॉमन प्रोब्लम्स में से एक है। पर इसकी स्थिति के कारण इसका उपचार थोड़ा जटिल हो सकता है। यहां हम उन तरीकों पर बात करेंगे जो बट एक्ने के उपचार में आपकी मदद कर सकते हैं।
but acne se chhutkara dila sakte hain home remedies.
बट एक्ने से बचाव के लिए स्किन में जलन पैदा करने वाली चीजों का इस्तेमाल करना भी बंद कर दें। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Published: 16 Nov 2023, 09:00 pm IST
  • 125

शरीर के पिछले भाग पर होने वाले एक्ने को बट एक्ने कहा जाता है। ये पिछले हिस्से पर फुंसी जैसे उभार के रूप में दिखाई देते हैं। इन्हें ब्रेकआउट भी कहा जाता है। ये चेहरे और ऊपरी शरीर पर दिखाई देने वाले मुंहासों के समान नहीं होते हैं। यदि आपको भी यह समस्या हो गई है, तो तुरंत टाइट-फिटिंग कपड़ों से परहेज करना शुरू कर दें। एक्सरसाइज के बाद स्नान जरूर करें। स्किन में जलन पैदा करने वाली चीजों का इस्तेमाल करना भी बंद कर दें। इनके अलावा कई और चीज़ें हैं, जिन्हें उपाय में लाने पर बट एक्ने (butt acne) से छुटकारा मिल सकता है।

क्यों होते हैं बट एक्ने (Butt Acne Causes)

डर्मेटोलोजिस्ट डॉ. पल्लवी जैन बताती हैं, ‘बट एक्ने तीन सामान्य स्किन प्रॉब्लम के कारण हो सकता है। फॉलिकुलिटिस बैक्टीरिया, यीस्ट या त्वचा पर रहने वाले फंगस के कारण हेयर फोलिक्ल के पास सूजन हो जाती है। इससे बट एक्ने हो जाते हैं। एलर्जी के संपर्क में आने पर एलर्जी दाने या केराटोसिस पिलारिस हो सकता है। छिद्र के चारों ओर केराटिन प्रोटीन के निर्माण के कारण यह होता है।’

यहां हैं बट एक्ने से छुटकारा पाने के 5 उपाय (5 Tips to get rid of Butt Acne)

1 टी ट्री ऑयल आज़माएं (Tea Tree oil for Butt Acne)

डॉ. पल्लवी बताती हैं, टी ट्री ऑयल में एंटी बैक्टीरियल और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं। टी ट्री ऑयल ब्रेकआउट के इलाज में एंटी बैक्टीरियल बेंज़ोयल पेरोक्साइड जितना प्रभावी हो सकता है। इसे सीधे भी स्किन पर अप्लाई किया जा सकता है। एसेंशियल आयल की कुछ बूंदें बॉडी वॉश या ऑयल फ्री मॉइस्चराइज़र में भी डालकर प्रयोग किया जा सकता है।

butt acne me faydemand hoti hai tea tree oil.
बट एक्ने से छुटकारा पाने में मदद करती है टी ट्री ऑयल । चित्र: शटरस्‍टॉक

2 सैलिसिलिक एसिड मेडिकेटेड पैड (Salicylic Acid for Butt Acne)

सैलिसिलिक एसिड बीटा हाइड्रॉक्सी एसिड है, जो स्किन की कोशिकाओं को अधिक प्रभावी ढंग से हटाने में मदद करता है। प्रभावित क्षेत्रों पर सैलिसिलिक एसिड पैड लगाया जा सकता है। दवा को सेक्सुअल ऑर्गन से दूर रखना चाहिए।

सैलिसिलिक एसिड पैड का उपयोग बेंज़ोयल पेरोक्साइड के साथ भी किया जा सकता है। यदि स्किन इरिटेबल या अत्यधिक ड्राई हो जाती है, तो इसका उपयोग कम कर दें।

3 लैक्टिक एसिड लोशन (Lactic acid lotion for butt acne)

डॉ. पल्लवी के अनुसार, लैक्टिक एसिड एक अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड है। सैलिसिलिक एसिड की तरह यह डेड सेल को ढीला करने और उनसे छुटकारा पाने में मदद करता है। यह बॉडी लोशन में भी पाया जा सकता है।
यदि आप इसे हर दिन लगाती हैं, तो यह शरीर के सभी हिस्सों की खुरदुरी, ऊबड़-खाबड़ त्वचा को मुलायम बनाने में मदद कर सकता है।

4 हीटिंग पैड लगाएं (Heating pad for butt acne)

गर्म नमी जलन को शांत कर सकती है। व्हाइटहेड्स से मवाद निकालने में मदद कर सकती है। दिन में कम से कम तीन बार एक गर्म कपड़े को अपने निचले हिस्से पर दबाएं या थोड़ी –थोड़ी देर पर 15 मिनट के लिए उस पर बैठें।
वॉशक्लॉथ को साल्टेड पानी में डुबा कर सेंकना भी आरामदायक हो सकता है। आप प्रति 1 कप पानी में 1/2 चम्मच नमक मिला सकती हैं। हॉट बाथ  भी मददगार हो सकता है। कपडे़ में सेब का सिरका लगाकर भी प्रभावित स्थान पर लगाया जा सकता है। इसमें रोगाणुरोधी गुण होते हैं।

butt acne ke liye relaxing hai hot bath
दिन में कम से कम तीन बार एक गर्म कपड़े को अपने निचले हिस्से पर दबाएं या थोड़ी –थोड़ी देर पर 15 मिनट के लिए उस पर बैठें।  चित्र : अडोबी स्टॉक

5 बेंज़ोयल पेरोक्साइड वॉश या जेल (Benzoyl peroxide to get rid of Butt Acne)

बट एक्ने को बेंज़ोयल पेरोक्साइड से भी उपचार किया जा सकता है। एक्ने में बेंज़ोयल पेरोक्साइड एक आम घटक है। इसमें एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो छिद्रों को साफ करने में मदद करता है। इसमें हल्की सूजन को शांत करने के लिए एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी होते हैं। 5% से 10% बेंज़ोयल पेरोक्साइड वाले बॉडी वॉश, बार साबुन, क्रीम या जेल भी मदद कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें :-पीरियड्स आपके ब्रेन को भी कर सकते हैं प्रभावित, वजह के साथ जानिए बचाव के उपाय भी

  • 125
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख