पत्तेदार सब्जियों को धोने में बरती कोताही हो सकती है जानलेवा, जानें धोने से लेकर काटने तक की विधि

बच्चों को कम उम्र में ही किसी भी चीज़ को धोकर खाने की हिदायत दी जाती है। मगर हरी सब्जियों को पकाने से पहले धोने में बरती गई कोताही स्वास्थ्य समस्याओं को बढ़ा सकती है। जानते हैं इन्हें धोने के लिए किन स्टेप्स को करना चाहिए फॉलो।
Green leafy vegetable se shareer ko milta hai calcium
हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन करने से शरीर को 265 मिलीग्राम कैल्शियम की प्राप्ति होती है। चित्र : अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Updated: 24 Jan 2024, 10:36 pm IST
  • 140
मेडिकली रिव्यूड

सर्दी के मौसम में हरी पत्तेदार सब्जियों की डिमाण्ड बढ़ने लगती है। न्यूट्रिशन से भरपूर इन सब्जियों का सेवन करने से शरीर कई समस्याओं से मुक्त रहता है। पालक, बथुआ, चौलाई और मेथी समेत सभी पत्तेदार सब्जियों को कई प्रकार से व्यंजनों में शामिल किया जाता है, जिससे स्वाद के साथ साथ पोषण भी बना रहता है। इसमें कोई दोराय नहीं कि ग्रीन लीफी वेजिटेबल्स के सेवन से शरीर को विटामिन और मिनरल की प्राप्ति होती है। लेकिन अगर आप इन्हें धोने में जल्दबाज़ी करते हैं, तो इससे आपके शरीर को कई प्रकार के नुकसान झेलने पड़ सकते हैं। आइए जानते हैं हरी पत्तेदार सब्जियों को वॉश करने के लिए किन टिप्स को करें फॉलो (Tips to cleaning leafy vegetable)।

जानें क्या कहती है रिसर्च

फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन और सेंटर्स फॉर डिज़ीज कंट्रोल के अनुसार हरी पत्तेदार सब्जियों को साबुन, सिरका, लेमन जूस और ब्लीच की जगह सामान्य पानी से धोना चाहिए। इससे सब्जियों का पोषण मूल्य बना रहता है। दरअसल, कमर्शल क्लीनिंग से स्वास्थ्य संबधी समस्याओं का जोखिम बढ़ने लगता है। वहीं एडिथ कोवेन यूनिवर्सिटी के एक रिसर्च के अनुसार डेनमार्क में 23 वर्ष तक कुछ लोगों के समूह ने ग्रीन लीफी वेजिटेब्लस का सेवन किया। रिसर्च में पाया गया कि जिन लोगों ने सालों तक पत्तेदार सब्जियों को आहार में सम्मिलित किया। उनमें हार्ट संबधी समस्याओं का जोखिम 26 प्रतिशत कम आंका गया।

पत्तेदार सब्जियों को धोना है ज़रूरी (Cleansing of green leafy vegetables)

इस बारे में मणिपाल हास्पिटल गाज़ियाबाद में हेड ऑफ न्यूट्रीशन और डाइटेटिक्स डॉ अदिति शर्मा ने जानकारी दी। वे बताती हैं कि हरी पत्तेदार सब्जियों के सेवन से शरीर में सोडियम और पोटेशियम की कमी पूरी होती है। इसमें मौजूद फाइबर की मात्रा शरीर के पाचनतंत्र को हेल्दी बनाती है जिससे कब्ज और ब्लोटिंग की समस्या से बचा जा सकता है।

एक्सपर्ट के अनुसार पत्तेदार सब्जियों को खुले पानी में 3 से 4 बार अवश्य धोना चाहिए। इससे पत्तों में जमा मिट्टी और पेस्टीसाइड से राहत मिल जाती हैं। इसके अलावा पत्तों में पाए जाने वाले हार्मफुल बैक्टीरिया को भी दूर किया जा सकता है। पत्तों को धोने से पहले उसके डंठल को थोड़ी सी मात्रा में अवश्य काट लें। इससे शरीर पर होने वाले कीटनाशकों के प्रभाव से बचा जा सकता है।

Jaanein green leafy vegetable ke fayde
जाड़े के दिनों में जॉइंट पेन से बचाव के लिए केल, पालक, कोलार्ड साग और शलजम साग जैसी गहरे रंग की पत्तेदार सब्जियां खाएं। चित्र : शटरकॉक चित्र शटरस्टॉक ।

इन स्टेप्स की मदद से करें हरी पत्तेदार सब्जियों को साफ (Tips to wash green leafy vegetable)

1. सभी पत्तों को खोलकर साफ करें

अगर आप किसी व्यंजन को तैयार करने के लिए हरी पत्तेदार सब्जियों का इस्तेमाल कर रही हैं। तो सबसे पहले सभी पत्तों को एक एक कर खोले और अच्छी तरह से साफ करें। इससे शरीर में किसी भी प्रकार के बैक्टीरिया व अनडिजायरेबल तत्व को जाने से रोका जा सकता है।

2. डंठल और जड़ को काटकर अलग करें

पत्तों को खोलकर साफ करने के बाद उसके डंठल या जड़ को 1 इंच तक अवश्य काटें। इससे शरीर में पेस्टीसाइड और धूल मिट्टी के प्रभाव से बचा रहता है। इन सब्जियों में मौजूद सोडियम, पोटेशियम और मिनरल शरीर को हेल्दी बनाए रखते हैं।

3. खुले बर्तन में धोएं

हरी पत्तेदार सब्जियों को धोने के लिए खुले बर्तन को लें और उसमें सामान्य पानी को भर लें। पालक, मेथी और चोलाई को पानी में भिगोने से मिट्टी धरातल पर बैठने लगती है और पत्तियां उपर की ओर उठ जाती है। इस दौरान गले और खराब पत्ते भी मिट्टी के साथ नीचे बैठ जाते हैं।

Jaanein green leafy vegetable kom kaise dhoyein
पत्तियों को अच्छी तरह से 3 से 4 बार धोने के बाद उन्हें समेटकर खुले बर्तन में रखें। इससे पत्तियों के मुरझाने और टूटने का खतरा नहीं रहता है। चित्र : अडोबी स्टॉक

4. धोने के बाद बड़े बर्तन में डालें

पत्तियों को अच्छी तरह से 3 से 4 बार धोने के बाद उन्हें समेटकर खुले बर्तन में रखें। इससे पत्तियों के मुरझाने और टूटने का खतरा नहीं रहता है। पत्तेदार सब्जियों को धोने के बाद पत्तियों को निकालने से पहले पानी का गिराने से बचें। इससे मिट्टी पत्तियों में दोबारा से भरने लगती है। धोने के बाद पत्तियों को उपर से उठाकर अलग खुले बर्तन में डालें।

5. पत्तियों को धोने के बाद स्ट्रेनर पर रखें

पूरी तरह से धोने के बाद सूखने के लिए स्ट्रेनर पर रख दें। इससे पत्तों में मौजूद पानी खुद ब खुद निकलने लगता है और सब्जि सूख जाती है। कुछ देर सूखने के लिए रखने से पत्तियों की फ्रेशनेस बनी रहती है। इसे सब्जी, सलाद, स्मूदी या किसी व्यंजन के लिए प्रयोग कर सकते हैं।

6. सूखने के बाद पत्तों को काटें

धोने और सुखाने की विधि को पूर्ण करने के बाद पत्तियों को काट लें। इससे सब्जी में मौजूद पोषक तत्व ज्यों के त्यों बने रहते हैं, जो स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने में मदद करते है। पत्तों को काटकर धोने से उसमें मौजूद सभी विटामिल और मिनरल पानी के साथ ही बह जाते हैं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

ये भी पढ़ें- डियर मॉम, इन 4 वजहों से आपको अपने बच्चों को नहीं खिलानी चाहिए रेडीमेड सोया चाप

  • 140
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख