Breast Cancer Awareness Month : कैंसर से बचा सकता है इन 7 बातों के बारे में जानना

कैंसर एक जानलेवा बीमारी है। एक्सपर्ट बताते हैं कि 7 बातों पर यदि ध्यान दिया जाए, तो शुरूआती चरण में ही कैंसर की पहचान की जा सकती है। इससे उपचार करने और जान बचाने में मदद मिल सकती है।
सभी चित्र देखे cancer ki pehchan shuruaat me ki ja sakti hai.
एक्सपर्ट की बताई कुछ सलाह पर ध्यान देकर कैंसर को शुरुआत में ही पहचाना जा सकता है। चित्र : अडोबी स्टॉक
Dr. Rahul Wagh Published: 21 Oct 2023, 12:30 pm IST
  • 125

दुनिया में लाखों लोग कैंसर से पीड़ित हैं। यदि कैंसर का इलाज शुरुआत में नहीं किया जाए, तो यह जानलेवा हो जाता है। अगर कैंसर की पहचान शुरुआत में  हो जाए, तो इसका इलाज सफल होने और व्यक्ति की जान बचने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए नियमित रूप से मेडिकल जांच और परीक्षण बहुत जरूरी है। इसके अलावा कुछ घटक ऐसे हैं, जो कैंसर की पहचान करने में मदद कर सकते हैं। इन घटकों के बारे में जानकर कैंसर को शुरुआत में ही पहचाना (Detect Cancer) जा सकता है।

 यहां एक्सपर्ट 7 बातों पर ध्यान देने के लिए जोर दे रहे हैं (know how to detect cancer at home) 

1 अपने परिवार के इतिहास के बारे में जानें (Family History of Cancer) 

कैंसर की शुरुआत में ही पहचान करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण घटकों में से एक है, परिवार का इतिहास। कुछ कैंसर अनुवांशिक होते हैं, यानी वे परिवार में एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में चले जाते हैं। यदि आपके किसी निकट संबंधी को कैंसर रह चुका है, खासकर किसी अभिभावक या भाई-बहन को, तो आपके डॉक्टर को उसकी जानकारी होनी बहुत जरूरी है। वे जोखिम का आकलन कर उचित स्क्रीनिंग और रोकथाम के उपायों के बारे में परामर्श दे सकते हैं।

Cancer genes mebhi aage badhta hai
आपको अपने पारिवारिक इतिहास के बारे में पता होना चाहिए कि कहीं उसमें कैंसर तो नहीं। चित्र: शटरस्टॉक

2 स्वास्थ्य की नियमित जांच करवाएं (Regular Health Check ups) 

कैंसर की समय पर पहचान करने के लिए नियमित तौर पर स्वास्थ्य जांच कराना बहुत जरूरी है। नियमित स्वास्थ्य जांच में व्यक्ति की उम्र और जोखिमों के आधार पर शारीरिक परीक्षण, खून की जांचऔर इमेजिंग स्कैन शामिल होते हैं। डॉक्टर शुरुआती संकेतों को पहचानकर आवश्यकता पड़ने पर कुछ अन्य परीक्षणों का सुझाव भी दे सकते हैं। भले ही आप स्वस्थ महसूस कर रहे हों, पर नियमित स्वास्थ्य जाँच कराना कभी न भूलें, क्योंकि कैंसर शुरुआती चरण में अक्सर कोई भी लक्षण प्रकट नहीं करता है।

3 शरीर की जांच (Self Body Check ups) 

कैंसर को शुरुआत में  पहचानने के लिए अपने शरीर की समय समय पर खुद जांच करती रहें। यदि आपको शरीर में कोई भी असामान्य या बार-बार होने वाला परिवर्तन दिखाई दे, जैसे शरीर में गांठ, दर्द, बिना वजह वजन का घटना, मल या मूत्रत्याग की आदतों में परिवर्तन या असामान्य रक्तस्राव दिखे, तो फौरन अपने डॉक्टर से संपर्क करें। यह कैंसर का शुरुआती संकेत हो सकता है, जिसे नजरंदाज नहीं किया जा सकता।

4 जीवनशैली के विकल्पों पर ध्यान दें (Healthy Lifestyle) 

कैंसर की शुरुआत में ही पहचान और रोकथाम पर जीवनशैली का गहरा असर पड़ता है। फल और सब्जियों के साथ स्वस्थ आहार लें। नियमित रूप से व्यायाम करें। तम्बाकू एवं मदिरा सेवन से अपना बचाव करें। इस प्रकार आप कैंसर होने का जोखिम कम कर सकेंगी और अपने संपूर्ण स्वास्थ्य में सुधार ला सकेंगी। इसके अलावा, एक सेहतमंद जीवनशैली आपको अपने शरीर में होने वाले परिवर्तनों को समझने में मदद करती है।

healthy diet se cancer se bachav ho sakta hai.
हेल्दी डाइट का सेवन करने से कैंसर से बचाव किया जा सकता है। चित्र-शटरस्टॉक

5 परीक्षण के दिशा-निर्देशों के बारे में जानें (Testing Guidelines) 

कैंसर के परीक्षण के दिशानिर्देश कैंसर का कोई भी लक्षण प्रकट होने से पहले ही कैंसर को शुरुआती चरण में पहचानने के लिए बनाए गए हैं। अपनी उम्र और जोखिमों के लिए परामर्शित परीक्षण और जांचों के बारे में जानें। मैमोग्राम, कोलोनोस्कोपी, पैप स्मियर, और प्रोस्टेट-स्पेसिफिक एंटीजन (पीएसए) टेस्ट द्वारा कैंसर की जांच की जा सकती है। कैंसर का कौन सा परीक्षण सही है और वह कब कराया जाना चाहिए, इस बारे में डॉक्टर की परामर्श लें।

6 अपने अंतर्मन की आवाज सुनें (Listen Inner Voice) 

कभी-कभी अंदर की आवाज कैंसर की पहचान करने (Detect Cancer) में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यदि मन में ऐसा ख्याल आ रहा हो कि शरीर में कुछ न कुछ ठीक नहीं है, तो डॉक्टर से उसकी जांच  कराएं। डॉक्टरों ने शुरुआत में ही कैंसर की पहचान करने में मरीजों के अंदर की आवाज को महत्वपूर्ण बताया है। अपने अंतर्मन की आवाज सुनें और जरूरत पड़ने पर दूसरी ओपिनियन लें

7 सहयोगी समुदाय और जागरुकता (Awareness for Cancer) 

सहयोगी समुदाय का हिस्सा बनकर शुरुआत में ही कैंसर की पहचान करने (Detect Cancer) में मदद मिल सकती है। दोस्तों, परिवार और अपने समुदाय में कैंसर की जागरुकता और रोकथाम के बारे में होने वाली चर्चाओं में हिस्सा लें। जागरुकता अभियानों और वार्ताओं से लोगों को समय पर कैंसर की पहचान के महत्व के बारे में शिक्षित किया जाता है।  उन्हें नियमित तौर पर जांच व परीक्षण कराने के लिए प्रोत्साहित किया जा सकता है

cancer awareness programme men bhag lekar cancer se bachen.
दोस्तों, परिवार और अपने समुदाय में कैंसर की जागरुकता और रोकथाम के बारे में होने वाली चर्चाओं में हिस्सा लें। चित्र: अडोबी स्टॉक

अंत में 

इलाज सफल बनाकर जान बचाने के लिए कैंसर की समय पर पहचान होना बहुत जरूरी है। अपने परिवार का इतिहास जानकर, नियमित तौर से स्वास्थ्य जांच कराके, अपने शरीर का ध्यान रखकर और स्वस्थ जीवनशैली के साथ परीक्षण के दिशानिर्देशों का पालन करके, अपने अंतर्मन की आवाज को सुनकर और कैंसर की जागरुकता के अभियानों में शामिल होकर कैंसर को शुरुआत में ही पहचानने (Detect Cancer) और उसका इलाज सफल बनाने में मदद मिलती है। अपने और अपने प्रियजनों के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए इन घटकों को नजरंदाज नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें –Breast Cancer Awareness Month : एक्सपर्ट से जानें सेल्फ ब्रेस्ट एग्जामिनेशन का सही समय और तरीका

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

  • 125
लेखक के बारे में

Dr. Rahul Wagh is Consultant- Onco Surgeon at Manipal Hospital, Pune-Baner ...और पढ़ें

अगला लेख