रमजान में फास्टिंग के दौरान इन गलतियों से बढ़ सकता है आपका वजन, इनसे बचना है जरूरी

रमजान का पाक महीना चल रहा है, ऐसे में पूरे दिन लोग रोजे रखते हैं। पर रोज़े के दौरान लोग कई बार ऐसी गलतियां कर देते हैं, जिसके कारण लंबी फास्टिंग के बावजूद उनका वजन बढ़ जाता है।
ramdan mei rojo mei bi hota hai weight gain
सहरी में स्वस्थ ड्रिंक को शामिल करने से आप पूरे दिन हाइड्रेटेड और ऊर्जावान बने रह सकते हैं। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated: 6 Apr 2023, 12:16 pm IST
  • 146

फास्टिंग कुछ लोग इसलिए भी करते हैं ताकि वे अपना वजन कम कर सकें। इसी तरह रमजान में भी फास्टिंग की जाती है। कई अध्यनों में भी सामने आया है कि फास्टिंग करने से आपका वजन कम होता है। रमजान में पूरे दिन कुछ खाए-पिए बिना रोज़ा किया जाता है और शाम को खाना खाया जाता है। इसके बावजूद कुछ लोग ईद पर अपने कपड़ों में फिट नहीं आते। जानिए क्या हैं वे रमज़ान फास्टिंग की वे गलतियां जो वजन बढ़ने (Ramadan fasting mistakes) का कारण बनती हैं।

एक सामान्य गलती जो लोग उपवास करते समय करते हैं, वह गैर-उपवास के दौरान अधिक खा लेना है, जिससे वजन घटने के बजाय वजन बढ़ सकता है।आज, हम उपवास की इस गलती पर चर्चा करेंगे और इससे बचने के उपाय बताएंगे।

इस विषय पर ज्यादा जानने के लिए हमने बात की डायटिशियन शिखा कुमारी से, शिखा कुमारी क्लिनिकल डायटिशियन और वेट लॉस एक्सपर्ट हैं। (Dietitian_Shikha_Kumari)

ये भी पढ़े- सारे सोशल टैबू महिलाओं को सेकंड क्लास सिटीजन बनाए रखने के लिए हैं : डॉ सुरभि सिंह

रमजान के समय नाश्तें में जिसे सहरी कहा जाता है उसमें कई तरह के पकवान होते है।

 

आइए जानते हैं रमज़ान फास्टिंग के दौरान की जाने वाली वे गलतियां जो वजन बढ़ा देती हैं

1 नॉन-फास्टिंग पीरियड्स के दौरान ज्यादा खाना

शिखा कुमारी के अनुसार जब आप उपवास करते हैं, तो आपका शरीर ऊर्जा के लिए संग्रहित वसा को इस्तेमाल करने लगता है, जिससे वजन कम होता है। हालाँकि, यदि आप अपने गैर-उपवास की अवधि के दौरान अधिक खाते हैं, तो आप अधिक कैलोरी का उपभोग कर सकते हैं। इससे वजन घटने की बजाय बढ़ सकता है।

उदाहरण के लिए, यदि आप 16 घंटे का उपवास करते हैं और 8 घंटे की खाने की अवधि के भीतर दो बार हैवी भोजन खाते हैं, तो आप बिना उपवास के एक दिन में जितनी कैलोरी खा सकते हैं, उससे अधिक कैलोरी का उपभोग कर सकते हैं। ऐसे में फास्टिंग से वजन घटता नहीं बल्कि वजन बढ़ता है।

2 सहरी में ज्यादा कैलोरी का सेवन

रमजान के समय नाश्तें में जिसे सहरी कहा जाता है उसमें कई तरह के पकवान होते है। जिनमें विभिन्न प्रकार की मिठाइयाँ होती हैं जो शक्कर से भरपूर होती हैं। अगर आप रमजान में अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो आपको नाश्ते के दौरान खाने वाली कैलोरी का सेवन जितना हो सके कम करना चाहिए। ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करें जिसमें ज्यादा कैलोरी न हो। नाश्ते में फल और सब्जियों को खाने की कोशिश करें।

3 इफ्तारी में ओवरईटिंग करना

इफ्तार में हल्का खाना ही रखें और ये न करें की आप इफ्तार और सहरी के बीच में खाते ही रहें। वजन घटाने वाले खाद्य पदार्थों के साथ अपना उपवास तोड़ें जो फाइबर, पानी और प्रोटीन से भरपूर हों। नॉन-क्रीमी सूप और सलाद के साथ शुरुआत करें क्योंकि इनमें कैलोरी कम होती है और आपको पेट भरा हुआ महसूस होता है।

रमजान के समय ज्यादा लोग आसक्रिय हो जाते है जिससे भी वजन बढ़ सकता है।

4 सक्रिय न रहना

रमजान के समय ज्यादा लोग आसक्रिय हो जाते है जिससे भी वजन बढ़ सकता है। कार्डियो और ट्रेनिंग आपके शेड्यूल का हिस्सा बने रहना चाहिए। सुनिश्चित करें कि उपवास के दिन आपको 15 से 45 मिनट का हल्का कार्डियो जैसे टहलना, खरीदारी करना या घर की सफाई करना है। आप अपनी एक्सरसाइज, वेट लिफ्टिंग सब जारी रखें बस आप इसे इफ्तार के बाद कर सकती है।

BMI

वजन बढ़ने से होने वाली समस्याओं से सतर्क रहने के लिए

बीएमआई चेक करें

ये भी पढ़े- Belly Fat : देर तक बैठे रहने से लटकने लगी है पेट की चर्बी, तो चक्की चलनासन की ये 2 वेरिएशन हैं आपके लिए मददगार

उपवास न करने के दौरान ज़्यादा खाने से बचने के लिए यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं

पोषक तत्वों से भरपूर, संतुलित आहार का ही सेवन करें जो आपके शरीर को स्वस्थ रहने के लिए आवश्यक विटामिन और खनिज प्रदान करते हैं।

समय से पहले अपने भोजन की योजना बनाएं और ज्यादा तले हुए खाने से बचने के लिए स्वस्थ स्नैक्स तैयार करें।

भोजन के दौरान सचेत रहने का अभ्यास करें, धीरे-धीरे खाएं, और ज्यादा खाने से बचने के लिए जायके का स्वाद चखें।

उच्च-कैलोरी, प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों से बचें जिससे वजन बढ़ सकता है।

याद रखें

उपवास एक शक्तिशाली वजन घटाने का तरीका हो सकता है, लेकिन गैर-उपवास अवधि के दौरान अधिक खाने की गलती से बचना आवश्यक है। ऊपर बताए गए सुझावों का पालन करके आप उपवास को अपनी वजन घटाने की यात्रा का एक स्थायी हिस्सा बना सकते हैं।

ये भी पढ़े- चाय की बजाए इन 6 हेल्दी ड्रिंक्स से करें सुबह की शुरूआत, न होगी एसिडिटी, न बढ़ेगा वजन

  • 146
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख