फॉलो

इन 5 संकेतों पर ध्‍यान दें, जो बताते हैं कि आपका इम्‍यून सिस्‍टम है कमजोर

Published on:1 September 2020, 15:20pm IST
कोरोनावायरस ही नहीं, कई संक्रमणों से बचने के लिए आपको मजबूत इम्‍युनिटी की जरूरत होती है। पर क्‍या वाकई आपकी इम्‍युनिटी मजबूत है या इसे बूस्‍ट किए जाने की जरूरत है? आइए जानते हैं-
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 89 Likes

इस महामारी के समय में कमजोर इम्‍यून सिस्‍टम होना सबसे बड़ा जोखिम है। आजकल हर चीज आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली से जुड़ी हुई है। आपको यह समझना होगा कि कोविड-19 महामारी के समय में हमें अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत रखना कितना जरूरी है। पर शायद आप नहीं जानती कि आपका शरीर समय-समय पर यह संकेत देता है कि आपको अपनी इम्‍युनिटी मजबूत करने की जरूरत है। बस आपको इन्‍हें पहचानना होगा।

यहां हम ऐसे ही 5 प्रमुख संकेत बता रहे हैं जिनसे आप जान पाएंगी कि आपकी इम्‍युनिटी कमजोर तो नहीं हो रही :

1 लगातार जुकाम और खांसी

गले और नाक संबंधी समस्‍याएं कमजोर प्रतिरक्षा के सबसे आम और अनदेखे संकेतों में से एक है। क्या आप जानती हैं कि सीडीसी के अनुसार यदि आप एक वर्ष में चार बार से ज्‍यादा जुकाम और खांसी की शिकार होती हैं, तो यह कमजोर इम्‍युनिटी का संकेत है।

2 हर समय थकान महसूस करना

रात में आपकी नींद कितनी बार टूटती है? सात से आठ घंटे सोने के बाद भी आप खुद को कितना फ्रेश फील करती हैं? खैर, आप दोनों का जवाब जानती हैं। अब आप खुद ही तय करें – क्‍योंकि नींद न आना और सोने के बाद भी थकान महसूस करना आपकी इम्‍युनिटी को कमजोर बनाता है। इसे इस तरह भी समझ सकती हैं कि यह कमजोर इम्‍युनिटी का संकेत है।

इसके अलावा, सुनो:

असल में, जब आप रात में (या अंधेरे में) सो रही होती हैं, तो आपका शरीर मेलाटोनिन जारी करता है। यह मेलाटोनिन प्रतिरक्षा कोशिकाओं को साइटोकिन्स रिलीज करने के लिए जिम्‍मेदार होता है। जो संक्रमण से लड़ने में इम्‍युनि‍टी सेल्‍स को एक्टिव करता है।

3 लगातार पेट में गड़बड़ी

खाना खाते ही आपको अपने शरीर में हीट फील होने लगती है। तो डियर आपकी प्रतिरक्षा निश्चित रूप से कमजोर है। क्या आप जानती हैं कि शरीर में मौजूद 70%  से अधिक प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले टिश्‍यूज हमारे पेट में होते हैं। यदि आप को कुछ खाते ही फूड पॉइजनिंग, दस्त या पेट संबंधी कोई अन्‍य समस्या होने लगती है, तो इसका मतलब है कि आपके इम्‍युनिटी सेल्‍स अच्छी तरह से प्रतिक्रिया नहीं दे रहे हैं। अगर वे उस क्षेत्र में अच्छी तरह से प्रतिक्रिया नहीं दे रहे हैं, जहां वे बहुमत में पाए जा सकते हैं, तो आपके शरीर के बाकी हिस्‍सों में मौजूद इम्‍युनिटी सेल्‍स भी बेहतर तरीके से काम नहीं कर पा रहे होंगे।

4 आपके घाव बहुत धीमी गति से रिकवर होते हैं

जब आपको कहीं कट लगता है या कहीं जल जाते हैं, तो आपकी प्रतिरक्षा आपकी त्वचा कोशिकाओं को रिपेयर करने में मदद करती है। यह पूरी तरह आपके इम्‍युनिटी सिस्‍टम पर निर्भर करता है कि घाव कितने दिनों में भरते हैं और त्‍वचा कब तक रिपेयर होती है। अगर आपके घाव भरने में काफी समय लगता है, तो इसका यह अर्थ है कि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली सुस्त है और आपकी त्वचा की मरम्मत के लिए पर्याप्त सामग्री नहीं मिल पा रही है।

5 आपको बहुत जल्‍दी इंफेक्‍शन होता है

नियमित सर्दी और खांसी के अलावा यदि आप मूत्र पथ, कान और साइनस जैसे इंफेक्‍शन की शिकार हो जाती हैं, तो यह भी कमजोर इम्‍युनिटी का संकेत है। आप उन रोगाणुओं के प्रति संवेदनशील हैं जो उन्हें पैदा करते हैं। इससे पता चलता है कि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली वायरस और बैक्टीरिया के खिलाफ पर्याप्त एंटीबॉडी का उत्पादन नहीं कर पा रही है जिन्होंने आपके शरीर पर हमला किया है।

इसके अलावा, देखें:

असल में हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली हमारे शरीर में टी-कोशिकाओं की ताकत पर निर्भर है। ये कोशिकाएं प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को बेहतर बनाए रखती हैं और थाइमस ग्रंथि में विकसित होती हैं। इसलिए, यदि आप इनमें से किसी एक भी संकेत को महसूस कर रहीं हैं, तो इसका मतलब है कि आपकी प्रतिरक्षा को बूस्‍ट करने की जरूरत है।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

संबंधि‍त सामग्री