Ragi for Anemia: महिलाओं में एनीमिया के साथ इन 6 अन्य स्वास्थ्य स्थितियों में कारगर होते हैं रागी

रागी एक पौष्टिक अनाज है, जिसे खासकर महिलाओं की सेहत के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। रागी में कई ऐसे खास पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो बाकी अनाजों की तुलना में इसे महिलाओं की सेहत के लिए खास बना देते हैं।
ragi kaise hai health ke liye faydemand
रागी में पाई जाने वारले पॉलीफेनोल्स की मात्रा शरीर में बढ़ने वाली शुगर के स्तर को रेगुलेट करने में मदद करती है। । चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 19 Dec 2023, 11:00 am IST
  • 124

मिलेट्स दोबारा से ट्रेंड में आ चुके हैं, इनमें मौजूद पोषक तत्वों की गुणवत्ता के प्रति जागरूकता बढ़ने के बाद लोगों ने दोबारा से इन्हें अपनी डाइट में शामिल करना शुरू कर दिया है। पुराने समय में लोग इन्हें बेहद मन से खाया करते थे, पर जैसे जैसे समय बीतता गया नए अनाज इंट्रोड्यूस हुए और लोगों ने उन्हें प्राथमिकता देना शुरू कर दिया। हालांकि, सभी मिलेट्स सेहत ले लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं, पर आज हम बात करेंगे एक खास मिलेट के बारे में जिसे हम “रागी” के नाम से जानते हैं।

रागी एक पौष्टिक अनाज है, जिसे खासकर महिलाओं की सेहत के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है। रागी में कई ऐसे खास पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो बाकी अनाजों की तुलना में इसे महिलाओं की सेहत के लिए खास बना देते हैं (ragi benefits for women)। खासकर रागी महिलाओं में खून की कमी से लड़ने में मदद करता है, इसके अलावा यह उनकी सेहत को कई अन्य फायदे भी प्रदान करता है। हालांकि, ऐसा नहीं है कि यह पुरुषों के लिए फायदेमंद नहीं है, परंतु महिलाओं की सेहत को ध्यान में रखते हुए देखा जाए तो यह उनके लिए अधिक प्रभावी रूप से कार्य कर सकता है (ragi benefits for health)।

हेल्थ शॉट्स ने रागी की विशेषता को लेकर न्यूट्रीफाई बाई पूनम डाइट एंड वैलनेस क्लिनिक एंड अकेडमी की डायरेक्टर पूनम दुनेजा से बात की। डाइटिशियन ने बताया कि रागी महिलाओं की सेहत के लिए किस तरह से फायदेमंद होती है और यह एनीमिया की स्थिति से लड़ने के लिए किस तरह तत्पर है (Ragi for Anemia)।

recipe of ragi cookies
रागी में कैल्शियम की अच्छी मात्रा होती है, जो हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाए रखने के लिए आवश्यक है। चित्र शटरस्टॉक।

पहले जानें एनीमिया में किस तरह कारगर होते हैं रागी (Ragi for Anemia)

1. आयरन का समृद्ध स्रोत है

शरीर में आयरन की कमी एनीमिया का एक सबसे बड़ा कारण है। एनीमिया की स्थिति में बॉडी में हीमोग्लोबिन और रेड ब्लड सेल्स काउंट कम हो जाते हैं, जिसकी वजह से अन्य परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस स्थिति में रागी का सेवन आयरन की नियमित आवश्यकता को पूरा करने में आपकी मदद कर सकता है। साथ ही इसमें कई ऐसे अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर में आयरन के अवशोषण को बढ़ावा देते हैं।

2. डाइटरी फाइबर बनाते हैं इसे अधिक खास

रागी डाइटरी फाइबर का एक बेहतरीन स्रोत है, फाइबर पाचन क्रिया को संतुलित रखते हुए शरीर में अन्य पोषक तत्वों के अवशोषण को बढ़ावा देते हैं। आपका शरीर अन्य पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य स्रोत के माध्यम से आयरन प्राप्त करता है, ऐसे में शरीर में आयरन का सही अवशोषण बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है। रिसर्च की मानें तो फाइबर, आयरन अवशोषण को बूस्ट करते हुए एनीमिया की स्थिति में कारगर होते हैं।

3. फोलेट यानी कि विटामिन B9 से मिलती है मदद

रागी फोलेट का एक बेहतरीन स्रोत है। फोलेट को बी विटामिन भी कहा जाता है, जो रेड ब्लड सेल्स के फार्मेशन में मदद करता है। शरीर में फोलेट की पर्याप्त मात्रा, कुछ प्रकार के एनीमिया से बचाव में मदद करती हैं।

health ke liye faaydemand hai laal pattagobhi ka soup
शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ाने में मददगार साबित होता है रागी। चित्र: शटरस्टॉक

4. विटामिन B12

रागी में विटामिन B12 की मात्रा पाई जाती है, जो मेगालोब्लास्टिक एनीमिया की स्थिति से बचाव में मदद करते हैं। यह स्थिति आमतौर पर विटामिन बी12 और विटामिन B9 की कमी से होती है।

यहां जानें रागी के कुछ अन्य महत्वपूर्ण फायदे

1. वेट लॉस को बढ़ावा दे

रागी में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जो आपको लंबे समय तक संतुष्ट रखता है। वहीं रागी के सेवन से अनचाही क्रेविंग्स नहीं होती, जिससे कि आप सीमित मात्रा में कैलोरी इंटेक करती हैं। इतना ही नहीं रागी शरीर में ब्लड शुगर लेवल और इंसुलिन को रेगुलेट करने में मदद करता है, जिससे की बॉडी में एक्स्ट्रा फैट स्टोर नहीं होता। इतना ही नहीं रागी में एक प्रकार का अमीनो एसिड पाया जाता है, जो वेट लॉस को बढ़ावा देता है।

यह भी पढ़ें : Egg Yolk Side Effects : इन 3 स्थितियों में आपके लिए ज़हर हो सकती है अंडे की ज़र्दी, जानिए क्यों

2. स्किन एजिंग को धीमा कर दे

रागी एक नेचुरल स्किन केयर एजेंट है। इसमें कई महत्वपूर्ण अमीनो एसिड पाए जाते हैं, जो आपकी त्वचा को रिंकल्स, डलनेस और रैशेज से प्रोटेक्ट करते हैं। इसके अलावा रागी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से लड़ते हुए आपकी त्वचा स्वस्थ को बनाए रखते हैं। साथ ही साथ स्किन सेल्स को रिजूवनेट होने में मदद करते हैं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
winter season me baal adhik tootte hain.
सूखे बाल और सूखे स्कैल्प दोनों बालों के टूटने, पतले होने और झड़ने का कारण बन सकते हैं। चित्र : अडोबी स्टॉक

3. बालों की सेहत को बढ़ावा दे

रागी प्रोटीन का एक बेहतरीन स्रोत है, और यह हेयर लॉस से प्रोटेक्ट करता है। जिन्हें हेयर फॉल की समस्या रहती है, उनके लिए रागी एक बेहतरीन खाद्य स्रोत साबित हो सकता है।

4. ब्रेस्ट मिल्क प्रोडक्शन को बढ़ावा दे

रागी ब्रेस्टफीडिंग महिलाओं में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ावा देते हुए मिल्क प्रोडक्शन को भी बूस्ट करते हैं। रागी के नियमित सेवन से न्यूली मॉम्स का लेक्टेशन लेवल बढ़ जाता है। लेक्टेटिंग मदर ग्रीन राजी को अपनी डेली डाइट में शामिल कर सकती हैं, जो उनके शरीर को आवश्यक अमीनो एसिड प्रदान करते हैं। साथ ही साथ उनकी बॉडी में कैल्शियम और आयरन जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्वों की कमी नहीं होने देते।

5. डायबिटीज की स्थिति में कारगर है

नियमित रूप से रागी का सेवन डायबिटीज के खतरे को कम कर देता है। डायबिटीज में मौजूद पॉलीफेनॉल और डाइटरी फाइबर बॉडी में ब्लड शुगर लेवल को सामान्य रहने में मदद करते हैं।

paachan tantr ke liye khayen baithkar khaana
पाचन में फायदेमंद है रागी। चित्र: शटरकॉक

6. पाचन क्रिया को संतुलित रखे

रागी में पर्याप्त मात्रा में डाइटरी फाइबर पाया जाता है, जिससे कि आपकी आतें खाने को बेहद स्मूद तरीके से पचा पाती हैं और बॉवेल मूवमेंट भी सही से काम करता है। नियमित रूप से रागी के सेवन से अपच, कब्ज, ब्लोटिंग आदि जैसी पाचन संबंधी समस्याओं से छुटकारा पाने में मदद मिलता है।

यह भी पढ़ें : Strength Training for Weight Loss : वजन कम करने में मददगार हो सकते हैं स्ट्रेंथ ट्रेनिंग, जानिये कैसे

  • 124
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख