खराब नींद आपके पेट पर चर्बी बढ़ा सकती है, यहां जानिए क्या होता है जब आप अच्छी नींद नहीं ले पाते

अच्छी, गहरी और पर्याप्त नींद आपके पूरे शरीर को फिर से काम के लिए तैयार करती है। अगर आप किसी भी वजह से अच्छी नींद नहीं ले पाते, तो आपका लुक, एनर्जी और मूड तीनों खराब हो सकता है।
unhealthy sleep ke nuksaan
पीरियड्स में अधिक दर्द का अनुभव होता है और पीरियड्स असुविधाजनक लगता है। चित्र-: अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published: 22 Feb 2024, 04:48 pm IST
  • 147

अच्छी नींद अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत जरूरी है। रात में अच्छी नींद लेने से आपका मूड और ऊर्जा बेहतर होती है। लेकिन जब आपको पर्याप्त नींद नहीं मिल रही हो तो चीजें बहुत तेजी से बिगड़ जाती हैं जिसमें आपका मेटाबॉलिज्म स्वास्थ्य भी शामिल होता है। आपका शरीर ऊर्जा का उपयोग और भंडारण कैसे करता है, इसमें नींद एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। जो लोग लगातार कम नींद लेते हैं, उनमें वजन बढ़ना, मोटापा, टाइप 2 डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है।

4 तरीके से खराब नींद आपके चायपाचय को खराब करती है

1 ब्लड शुगर को बढ़ सकता है

जब नींद से समझौता किया जाता है, तो यह आपकी कोशिकाओं को इंसुलिन के प्रति कम संवेदनशील बनाता है। इंसुलिन वह हार्मोन है जो ब्लड शुगर (ग्लूकोज) को रक्तप्रवाह से बाहर ऊर्जा के लिए कोशिकाओं में या बाद में संग्रहीत होने के लिए लीवर में ले जाने में मदद करता है। जब कोशिकाएं इंसुलिन के प्रति प्रतिक्रिया नहीं करतीं, तो रक्त में ग्लूकोज का स्तर अपेक्षा से अधिक समय तक ऊंचा बना रहता है।

डायबिटीज मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया कि 2,000 से अधिक स्वस्थ वयस्कों में प्रीडायबिटीज की संभावना उन लोगों में दोगुनी हो गई, जो रात में लगभग सात घंटे सोने वालों की तुलना में पांच या उससे कम घंटे सोते थे। एक अन्य अध्ययन में दस लाख से अधिक व्यक्तियों का डेटा एकत्र किया गया, जिसमें पाया गया कि पांच या उससे कम घंटे सोने वालों में मधुमेह विकसित होने की संभावना 48% अधिक थी।

Belly fat ko kum karein
नींद की कमी से उच्च कोर्टिसोल के साथ उच्च इंसुलिन शरीर की संरचना में कई तरह के बदलाव ला सकता है। चित्र- अडोबी स्टॉक

2 आपको ज्यादा लगने लगती है भूख

अच्छी नींद न लेने से सीधे तौर पर आपके भूख बढ़ाने वाले हार्मोन लेप्टिन और ग्रेलिन पर असर डालता है। विशेष रूप से, अपर्याप्त नींद से लेप्टिन कम हो जाता है, वह हार्मोन जो मस्तिष्क को संकेत देता है कि आपका पेट भर गया है। साथ ही, ग्रेलिन का स्तर (भूख को उत्तेजित करने वाला हार्मोन) बढ़ जाता है।

इससे भूख और क्रेविंग में वृद्धि हो सकती है जिससे स्वस्थ वजन बनाए रखना अधिक चुनौतीपूर्ण हो जाता है। इन भूख हार्मोनों को नियंत्रित करने और स्वास्थ्यवर्धक खाद्य पदार्थों का चयन करना आसान बनाने के लिए पर्याप्त नींद की आवश्यकता होती है।

3 बढ़ सकती है पेट की चर्बी

नींद की कमी से उच्च कोर्टिसोल के साथ उच्च इंसुलिन शरीर की संरचना में कई तरह के बदलाव ला सकता है। इनमे से एक है शरीर के मध्य भाग में वसा का जमाव जिसे पेट की चर्बी भी कहा जाता है। ये हॉर्मोन शरीर में वसा और नरम मांसपेशियों को बनाए रखने को कहते है। जिससे ऊर्जा का स्रोत बना रहता है। तो वसा द्रव्यमान बढ़ता है, और लीन मांसपेशियों का द्रव्यमान कम हो जाता है, जो आपके मेटाबॉलिज्म को धीमा कर देता है।

4 आप कमजोरी महसूस कर सकते हैं

एक्सरसाइज आपके मेटाबॉलिज्म स्वास्थ्य को कई तरह से लाभ पहुंचाता है। यह रक्त शर्करा नियंत्रण और इंसुलिन संवेदनशीलता में मदद करता है, आपके दैनिक ऊर्जा व्यय को बढ़ाता है, लीन मांसपेशियों का निर्माण करता है, ब्लड प्रेशर में सुधार करता है।

लेकिन अगर आप थके हुए हैं, तो शारीरिक परिश्रम करना बहुत बुरी लगेगा। थके हुए वयस्क धीरे धीरे तीव्र शारीरिक गतिविधि करते हैं, कम कदम उठाते हैं, और थका हुआ व्यवहार करते है हैं। हालांकि ऐसे कई कारण हैं जिनकी वजह से आप थकान महसूस कर सकते हैं, लेकिन नींद भी इसका एक कारण है।

यहां हैं वे उपाय जिनसे आप अपनी नींद और मेटाबॉलिज़्म में सुधार कर सकते हैं

1 सोने-जागने का एक समय बनाएं

लगभग एक ही समय पर जागना और बिस्तर पर जाना सबसे अच्छी चीजों में से एक है जो आप अपनी नींद और सर्कैडियन रिदम के लिए कर सकते हैं। अनियमित नींद का पैटर्न आपके कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा सकता है, और पाचन को खराब कर सकता है।

healthy diet jaroori hai.
धिक फाइबर खाने से गहरी, अधिक आराम देने वाली नींद आती है। चित्र : अडोबी स्टॉक

2 आहार में अधिक फाइबर शामिल करें

आप जो खाते हैं उसका असर आपकी नींद पर भी पड़ता है। कम फाइबर और उच्च सैट्युरेटिड फैट और चीनी वाला आहार कम आरामदायक नींद का कारण बनता है, जबकि अधिक फाइबर खाने से गहरी, अधिक आराम देने वाली नींद आती है। एक संभावित कारण यह है कि फाइबर हमारी तृप्ति, भूख नियमन और ब्लड शुगर के स्तर में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

3 अपने शरीर को एक्टिव रखें

नियमित शारीरिक एक्टिविटी आपकी नींद की गुणवत्ता में सुधार कर सकती है। केवल 30 मिनट की एक्टिविटी से व्यायाम न करने वालों की तुलना में ज्यादा सही है। नियमित व्यायाम करने से आपके शरीर को ऊर्जा का अधिक कुशलता से उपयोग करने, मांसपेशियों का निर्माण करने में मदद मिलती है।

ये भी पढ़े- हॉट एंड स्पाइसी सेक्स सेशन एन्जॉय करना है, तो बेडरूम में जाने से पहले इन फूड्स से करें परहेज

  • 147
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख