डिमेंशिया के इन प्रारंभिक लक्षणों को पहचान कर, खोती हुई याद्दाश्त को बचाया जा सकता है

डिमेंशिया वो शब्द है जिसका उपयोग सोचने समझने, तर्क वितर्क और अन्य मानसिक क्षमताओं में गिरावट होने पर किया जाता है।
सभी चित्र देखे air pollution dementia ka jokhim badha skta hai
कई चीजें डिमेंशिया का कारण बन सकती हैं। चित्र : अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated: 4 Mar 2024, 11:36 am IST
  • 142

आज कल मेंटल प्रेशर की लाइफस्टाइल में हम इतना अनहल्दी लाइफस्टाइल जी रहे है कि हमारी शारीरिक स्वास्थ्य के साथ साथ मानसिक स्वास्थ्य भी खराब हो रहा है। हमारी खानपान की गलत आदत, व्यायाम न करना और कुछ गलत आदतें भी इनकी वजह है। डिमेंशिया भी इनमें से एक समस्या है। ये मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी हुई समस्या है जो बुजुर्गों को काफी तेजी से अपनी चपेट में लेती है।

डिमेंशिया क्या होता है

डिमेंशिया शब्द का इस्तेमाल तब किय जाता है जब किसी व्यक्ति के सोचने की क्षमता, स्मृति, ध्यान, तर्क और अन्य मानसिक क्षमताओं की हानि का वर्णन किया जाता है। ये स्थिति आपके सामाजिक या व्यावसायिक कामकाज में हस्तक्षेप कर सकती है।

कई चीजें डिमेंशिया का कारण बन सकती हैं। ऐसा तब होता है जब आपके मस्तिष्क के सीखने, याददाश्त, निर्णय लेने और भाषा के लिए उपयोग किए जाने वाले हिस्से खराब हो जाते हैं।डिमेंशिया कई तरह का होता है।

Dementia
मानसिक क्षति के साथ-साथ भावनात्मक क्षति भी पहुंचाती है डिमेंशिया । चित्र शटरस्टॉक।

डिमेंशिया के क्या हो सकते है शुरूआती लक्षण

मेमोरी का लॉस होना

यादाश्त कमजोर होना डिमेंशिया का एक सामान्य लक्षण हो सकता है, खासकर शुरुआती चरणों में। यह विभिन्न तरीकों में सामने आ सकता है, जिसमें हाल की घटनाओं या बातों को याद रखने में कठिनाई, महत्वपूर्ण तिथियों या नियुक्तियों को भूल जाना और परिचित नामों या वस्तुओं को याद करने में कठिनाई हो सकती है।

जबकि कभी-कभी भूलने की बीमारी सामान्य है, विशेष रूप से उम्र बढ़ने के साथ, यादाश्त कमजोर होना जो दैनिक कामकाज में बाधा डालती है और समय के साथ बिगड़ती है, अल्जाइमर रोग या अन्य प्रकार के डिमेंशिया जैसी अधिक गंभीर स्थिति का संकेत दे सकती है।

किसी चरण बध काम को करने में कठिनाई

डिमेंशिया से पीड़ित व्यक्तियों को चरण-दर-चरण निर्देशों का पालन करने या ऐसे कार्यों को करने में कठिनाई हो सकती है जिनके लिए योजना की जरूरत होती है। उदाहरण के लिए, उन्हें खाना बनाते समय, फर्नीचर लगाते समय, या घर का काम पूरा करते समय, किसी रेसिपी का पालन करने में कठिनाई हो सकती है।

डिमेंशिया किसी व्यक्ति के एक साथ कई काम करने की क्षमता को खराब कर सकता है, जिससे एक साथ कई कार्यों पर ध्यान केंद्रित करना चुनौतीपूर्ण हो जाता है।

बोलने या लिखने में परेशानी

डिमेंशिया से पीड़ित लोगों को बातचीत करने में कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है। वे भूल सकते हैं कि वे क्या कह रहे हैं या किसी और ने क्या कहा है, और किसी से भी बातचीत करना या उसमें प्रवेश करना मुश्किल हो सकता है।

लोगों को यह भी लग सकता है कि उनकी वर्तनी, विराम चिह्न और व्याकरण खराब हो गए हैं। कभी-कभी किसी व्यक्ति की लिखावट को समझना अधिक कठिन हो जाता है।

dementia ke lakshan
डिमेंशिया के बारे में अभी और बहुत कुछ जानने की जरूरत है। चित्र: शटरस्टॉक

सामाजिक गतिविधियों से खुद को अलग कर लेना

डिमेंशिया से ग्रसीत व्यक्ति घरेलू जीवन और कार्यस्थल पर अन्य लोगों के साथ मेलजोल में रुचि नहीं ले सकता है। ऐसा भी हो सकता है कि वो पहले सबसे मिल जुल कर रहते हो लेकिन बाद में उनका बर्ताव अलग हो गया हो।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

वे अकेले रहना पसंद कर सकते हैं और दूसरों से बात नहीं कर सकते या जब दूसरे उनसे बात कर रहे हों तो ध्यान नहीं दे सकते। इसके अलावा, वे अन्य लोगों के साथ होबी, खेल या गतिविधियों में भाग लेना बंद कर सकते हैं।

ये भी पढ़े- Hearing loss : आपके एजिंग पेरेंट्स खोते जा रहे हैं अपनी सुनने की क्षमता, तो जानिए इसे कैसे बचाया जा सकता है

  • 142
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख