Heat Stroke : लू लग गई है, तो इन 7 टिप्स से पाएं तुरंत राहत, जानिए ये काम करते हैं

एयरकंडीशनर से बाहर निकलने पर या तेज धूप में जाने पर किसी को भी हीट स्ट्रोक या लू लगने का सामना करना पड़ सकता है। इसमें अगर लापरवाही बरती जाए, तो स्थिति गंभीर हो सकती है। इसलिए जरूरी है कि तत्काल इससे उबरने के उपाय किए जाएं।
achanak tapman ka badhna bhi migraine ko trigger kar sakta hai
हीट स्ट्रोक से भ्रम, चक्कर आना,डिजिनेस, चिड़चिड़ापन और यहां तक कि दौरे भी पड़ सकते हैं। चित्र : शटरस्टॉक
संध्या सिंह Published: 26 Jun 2023, 18:55 pm IST
  • 134

हीट स्ट्रोक एक गंभीर चिकित्सा स्थिति है जो तब होती है जब अत्यधिक गर्मी या उच्च तापमान में ज़ोरदार शारीरिक गतिविधि के लंबे समय तक संपर्क के कारण शरीर का तापमान खतरनाक रूप से बढ़ जाता है। यह एक चिकित्सा स्थिति है और खतरनाक जटिलताओं को रोकने के लिए तत्काल ध्यान देने और उपचार की आवश्यकता होती है। यहां हम उन उपायों के बारे में बता रहे हैं जो लू लगने (how to overcome heat stroke) पर तत्काल किए जा सकते हैं।

हीट स्ट्रोक के लक्षणों को समझना और इसके उपचार के बारे में जानना स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण होता है।

हीट स्ट्रोक के क्या लक्षण है

1 वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन के अनुसार हीट स्ट्रोक के प्राथमिक लक्षणों में से एक शरीर का तापमान काफी बढ़ जाना है, जो अक्सर 104°F (40°C) से अधिक हो जाता है।

2 हीट स्ट्रोक से भ्रम, चक्कर आना,डिजिनेस, चिड़चिड़ापन और यहां तक कि दौरे भी पड़ सकते हैं।

3 हीट स्ट्रोक की वजह से दिल की धड़कन का बढ़ जाना या सांंस का तेज हो जाने जैसी चीजें भी हो सकती है।

Heat stroke se bachne ke upay jaanein
जानते हैं वो तरीके जो आपको हीटस्ट्रोक (Heat stroke) से बचाने में हो सकते हैं मददगार। चित्र- अडोबी स्टॉक

4 हीट एक्सहस्शन के कारण जहां त्वचा आमतौर पर पसीने से तर होती है, वहीं हीट स्ट्रोक की वजह से शरीर के तापमान को नियंत्रित न कर पाने के कारण त्वचा गर्म, लाल और शुष्क बन सकती है।

5 इससे जी मिचलना, मन का खराब होना, उल्टी और दस्त जैसे गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल लक्षण हो सकते हैं।

6 व्यक्तियों को सिरदर्द में तेज दर्द का अनुभव हो सकता है और चक्कर भी महसूस हो सकता है।

7 हीट स्ट्रोक के कारण मांसपेशियों में ऐंठन, कमजोरी और थकान हो सकती है।

लू लगने या हीट स्ट्रोक हाेने पर जरूर आजमाएं ये त्वरित उपाय (how to overcome heat stroke)

हीट स्ट्रोक के बाद होने वाली समस्या से निपटने के लिए कुछ उपाय जानने के लिए हमने बात की डायटीशियन और वेट लॉस एक्सपर्ट शिखा कुमारी से। शिखा कुमारी बताती है कि हीट स्ट्रोक एक गंभीर चिकित्सा आपात स्थिति है जिस पर तत्काल ध्यान देने की आवश्यकता है। यदि आपको संदेह है कि किसी को हीट स्ट्रोक हो रहा है, तो इन चरणों का पालन करें

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

1 व्यक्ति को ठंडे स्थान पर ले जाएं

शिखा कुमारी बताती है कि यदि संभव हो तो प्रभावित व्यक्ति को छायादार या वातानुकूलित स्थान पर ले जाएं। उन्हें गर्मी से किसी ठंडे वातावरण में लाना महत्वपूर्ण है। ताकि उनके शरीर के तापमान को बढ़ने से रोका जा सके।

2 शरीर का तापमान कम करें

सबसे पहले डॉक्टर को बुला लें साथ आप व्यक्ति के शरीर को ठंडा करना शुरू कर सकते हैं। शरीर के तापमान को कम करने के लिए आप कुछ उपाय कर सकते है।

3 अतिरिक्त कपड़े हटा दें

व्यक्ति ने जितने भी कपड़े पहने है उन सभी कपड़ो को उतार हें ताकि शरार के तापमान को कम किया जाए। कपड़े उतारने के बाद शरीर पर ठंडी हवा लगने दें।

4 ठंडे पानी का इस्तेमाल करें

व्यक्ति की त्वचा को ठंडे पानी से गीला करें या उनके शरीर को ठंडा करने के लिए गीले तौलिये या चादर का उपयोग करें। आप उन्हें पर ठंडे पानी की बूंदों से स्प्रे भी कर सकते है।

heat stroke se bachne ka tarika
व्यक्ति की गर्दन, बगल और कमर के क्षेत्र में आइस पैक या कोल्ड कंप्रेस लगाएं। चित्र : अडोबी स्टॉक

5 पंखे या एयर कंडीशनिंग का उपयोग

यदि आपके पास सुविधा हो तो आप व्यक्ति को पंखे या एयर कंडीशनिंग वाली जगह पर ले जा सकते है, इससे शरीर के तापमान को जल्दी से नियंत्रण करने में मदद मिलेगी।

6 आइस पैक या कोल्ड कंप्रेस

व्यक्ति की गर्दन, बगल और कमर के क्षेत्र में आइस पैक या कोल्ड कंप्रेस लगाएं। ये ऐसे क्षेत्र हैं जहां बड़ी रक्त वाहिकाएं सतह के करीब होती हैं, और उन्हें ठंडा करने से शरीर के तापमान को कम करने में मदद मिल सकती है।

7 हाइड्रेशन के लिए पानी पिलाएं

यदि व्यक्ति होश में है तो उसे हाइड्रेट करना न भूलें। व्यक्ति को हाइड्रेट करने के लिए पानी या स्पोर्ट्स ड्रिंक दें। मादक पदार्थ या कैफीनयुक्त पदार्थों से बचें क्योंकि ये शरीर को डिहाइड्रेट कर सकते है।

  • 134
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख