International Women’s Day : पूर्वाग्रह मुक्त दुनिया रचने में आधी आबादी के समावेशन में मददगार होंगे ये 4 जरूरी टिप्स

महिलाओं की सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक उपलब्धियों का जश्न मनाने वाला वैश्विक दिवस है अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (8 मार्च)। इस वर्ष की थीम है इंस्पायर इन्क्लूजन। सवाल यह है कि ज्यादातर देशों में हाशिये पर मौजूद महिलाओं को कैसे देश और समाज में समावेशी बनाया जाए।
international womens day poorvagrah se mukt hone kehta hai.
पिछले संबंधों पर चर्चा करना कई महिलाओं को अपमानजनक लग सकता है। चित्र : अडोबी स्टॉक
स्मिता सिंह Published: 6 Mar 2024, 02:17 pm IST
  • 126

महिलाएं सबसे ज्यादा प्रोडक्टिव होती हैं। घर-बाहर दोनों जगहों पर उनका योगदान पुरुषों की अपेक्षा कहीं ज्यादा होता है। इसलिए शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य देखभाल, राजनीतिक भागीदारी सभी क्षेत्रों में महिलाओं को प्रणालीगत बाधाओं का सामना न करना पड़े, यह सुनिश्चित करना जरूरी है। महिलाओं को राजनीति में उनके जीवन को प्रभावित करने वाली नीतियों और पहलों को आकार देने में उनकी आवाज़ सुनी जाए। इस वर्ष महिला दिवस (International women’s day theme) की थीम है इंस्पायर इन्क्लूजन (Inspire inclusion)। आइए समझते हैं उन चीजों (How to inspire inclusion) को, जो महिलाओं को देश-दुनिया की प्रगति में समावेशी बनाने में मददगार हो सकती हैं।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (International women’s day)

हर वर्ष 8 मार्च को मनाया जाने वाला अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस महिलाओं के लिए पूर्वाग्रह, रूढ़ियों और भेदभाव से मुक्त दुनिया रचने के लिए प्रेरित करता है। एक ऐसी दुनिया, जो विविध, न्यायसंगत और समावेशी हो। एक ऐसी दुनिया जहां महिला समानता पर जोर दिया जाता हो। महिलाओं की उपलब्धि का जश्न मनाएं, भेदभाव के बारे में जागरूकता बढ़ाएं और लैंगिक समानता (How to inspire inclusion) लाने के लिए कार्रवाई करें।

क्या है अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2024 की थीम (International women’s day 2024 Theme)

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2024 (International women’s day 2024 Theme) की थीम इंस्पायर इंक्लूजन (Inspire inclusion) है। जब हम महिलाओं के हर क्षेत्र में समावेश करने के महत्व पर जोर देने के लिए प्रेरित करते हैं, तो हम एक बेहतर दुनिया बनाते हैं।

इंस्पायर इंक्लूजन संदेश एक ऐसी दुनिया बनाने का आग्रह करता है, जहां सभी महिलाएं अपनी पृष्ठभूमि, पहचान या परिस्थिति की परवाह किए बिना, मूल्यवान, सशक्त और समाज के हर पहलू में सक्रिय रूप से शामिल महसूस करती (How to inspire inclusion) हैं।

हर क्षेत्र में महिलाओं के समावेशन को प्रेरित करने में मददगार हो सकते हैं ये 4 तरीके (4 tips for women’s inclusion)

1. रूढ़ियों और पूर्वाग्रहों को चुनौती दें (Challenge stereotypes and prejudice)

इसके लिए महिलाओं को सबसे पहले स्वयं को शिक्षित करना होगा। सक्रिय रूप से ऐसी जानकारी और संसाधनों की तलाश करनी होगी, जो महिलाओं के बारे में उनकी जातीयता, या अन्य पहचान के आधार पर रूढ़िवादिता और पूर्वाग्रहों को चुनौती (How to inspire inclusion) दी जा सके।

mahilaon ko har kshetra me samavesh kiya jaye.
महिलाओं को सेल्फ रिफ्लेक्शन अभ्यास में शामिल होना होगा। चित्र : अडोबी स्टॉक

उन्हें अपने स्वयं के पूर्वाग्रहों की भी जांच करनी होगी। उन क्षेत्रों की पहचान करने के लिए ऑनलाइन मूल्यांकन करें या सेल्फ रिफ्लेक्शन अभ्यास में संलग्न हों। यहां आपके अपने पूर्वाग्रह समावेशिता में बाधा बन सकते हैं। जब आप पक्षपातपूर्ण या भेदभावपूर्ण भाषा या व्यवहार का सामना करती हैं, तो इसे सम्मानपूर्वक चुनौती दें और दूसरों को रूढ़िवादिता के हानिकारक प्रभाव के बारे में शिक्षित करें।

2. विविधता वाले परामर्श कार्यक्रम (Diversity Mentoring Program)

समुदाय में लैंगिक समानता और विविधता लाने की दिशा में काम करने वाले संगठनों का समर्थन करें। कम प्रतिनिधित्व वाले समूहों की युवा महिलाओं और लड़कियों को सलाह देने के लिए अपना समय स्वेच्छा से दें। अपने कार्यस्थल या संगठन के भीतर समावेशी नीतियों की वकालत करें, जैसे लचीली कार्य व्यवस्था।

3. हाशिए पर रह गई महिलाओं की आवाज़ उठाना (Increase the voices of marginalized women)

विविध पृष्ठभूमि की महिलाओं के अनुभवों को सक्रिय रूप से खोजें और सुनें। इसमें महिला वक्ताओं के साथ बातचीत और कार्यक्रमों में भाग लेना, विविध लेखकों द्वारा लिखी गई किताबें और लेख पढ़ना या विभिन्न समुदायों के व्यक्तियों के साथ सम्मानजनक बातचीत में शामिल होना शामिल हो सकता है।

हाशिए पर मौजूद समूहों की महिलाओं की कहानियों और योगदानों को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर साझा करके या दूसरों को उनके काम की सिफारिश करके उनके काम और उपलब्धियों को बढ़ावा दें। विविध पृष्ठभूमि की महिलाओं के स्वामित्व वाले या उनके नेतृत्व वाले व्यवसायों और संगठनों का समर्थन करें।

4. खुली बातचीत और समझ के लिए सुरक्षित स्थान बनाएं (safe spaces for open dialogue and understanding)

विभिन्न दृष्टिकोणों और अनुभवों को समझने पर ध्यान केंद्रित करने वाली चर्चाओं का आयोजन करें या उनमें भाग लें। सक्रिय रूप से सुनने का अभ्यास करें और बिना किसी आलोचना के दूसरों के अनुभवों को समझने का प्रयास करें। ऐसा माहौल बनाएं जहां हर कोई अपनी राय और अनुभव सम्मानपूर्वक साझा करने, सहानुभूति और समझ को बढ़ावा देने में सहज महसूस (How to inspire inclusion) करे।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
mahilaon ko har kshetra men adhikar mile.
महिलाएं विभिन्न दृष्टिकोणों और अनुभवों को समझने पर ध्यान केंद्रित करने वाली चर्चाओं में भाग लें। चित्र : अडोबी स्टॉक

अंत में

याद रखें, समावेश के लिए यह एक प्रेरक और सतत प्रक्रिया है जिसके लिए सभी व्यक्तियों और संगठनों से निरंतर प्रयास और प्रतिबद्धता की आवश्यकता होती है। इन कदमों को उठाकर हम एक ऐसी दुनिया बना सकते हैं जहां सभी महिलाएं अपनी पूरी क्षमता तक पहुंचने के लिए सशक्त महसूस (How to inspire inclusion) करेंगी।

यह भी पढ़ें :- डाउन सिंड्रोम से पीड़ित मार गैलसेरन बनीं स्पेन की सांसद, क्या आप जानते हैं इस आनुवांशिक विकार के बारे में?

  • 126
लेखक के बारे में

स्वास्थ्य, सौंदर्य, रिलेशनशिप, साहित्य और अध्यात्म संबंधी मुद्दों पर शोध परक पत्रकारिता का अनुभव। महिलाओं और बच्चों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत करना और नए नजरिए से उन पर काम करना, यही लक्ष्य है। ...और पढ़ें

अगला लेख