डियर गर्ल्स, यहां हैं ब्रा से जुड़ी आपकी 5 समस्याएं, उनके कारण और समाधान

ब्रा पहनना जहां आपके स्तनों को सपोर्ट और परफेक्शन देता है, वहीं ब्रा के साथ आपको कुछ समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है। इनमें से कुछ समस्याएं तो इतनी कॉमन हैं कि लगभग हर महिला इनका सामना करती है।
silicone bra pehnane ke side effects
सोते हुए भी ब्रा पहने रहती हैं, तो यह एक बहुत बड़ी अवधारणा है इससे बचें और अपनी कंफर्ट पर ज्यादा ध्यान दें। चित्र अडोबी स्टॉक
ज्योति सोही Published: 15 Mar 2023, 05:28 pm IST
  • 143

ब्रेस्ट महिलाओं के शरीर का एक बेहतरीन अंग है। इसको राइट लुक देने के लिए महिलाएं कई प्रकार की ब्रा पहनती हैं। मगर फिर भी ऐसी बहुत सी महिलाएं है, जो सही जानकारी न होने के कारण गलत ब्रा को चुन लेती हैं। पूर्ण जानकारी न होने के चलते इससे न केवल आपकी ब्रेस्ट सैगी (Saggy breast) लगने लगती है बल्कि कप्स के आकार में भी बदलाव दिखने लगता है। बहुत बार लंबे वक्त तक एक ही ब्रा इस्तेमाल करने से शरीर में इंफेक्शन का भी खतरा बना रहता है। जानते है सही ब्रा को चुनने से पहले रखें किन बातों का ख्याल (common bra issues)

सही साइज़ की ब्रा पहनने से आप कमर, गर्दन और कंधों में होने वाले दर्द से बच सकती हैं। इसके अलावा रैशेज़ की समस्या को भी दूर किया जा सकता है। रिसर्च में पाया गया है कि ब्रा न पहनने की सूरत में ब्रेस्ट के कूपर लिग्मेंट(Cooper ligament) में ढीलापन आने लगता है, जो आपकी फिगर को खराब कर सकता है।

यहां हैं ब्रा से जुड़ी वे सामान्य समस्याएं जिनका ज्यादातर लड़कियां सामना करती हैं

janiye kya hai apni bra ko naapne ka sahi tareeka
जानिए क्या है अपनी ब्रा को नापने का सही तरीका। चित्र : शटरस्टॉक

1 ब्रा कप से बाहर ब्रेस्ट का दिखना

ब्रा कप ऐसे होने चाहिए, जिससे आपकी ब्रेस्ट बढ़ी हुई और हैवी नज़र आएं। अगर आपके स्तन दिखने में लम्सी या गठीले और बैठे बैठे लग रहे है, तो आपको अपनी ब्रा को चेक करना चाहिए। दरअसल जब हमारी ब्रेस्ट ज्यादा दबी हुई या कई बार कप से ऊपर की ओर उभरी हुई दिखती है, तो ये ब्रा को बदलने का एक साइन है। इसका मतलब है कि आप सही साइज और सही शेप नहीं पहन रही हैं।

ब्रा हमेशा ऐसी हो जो आपके स्तनों को कवर करके आपको सुकून का अनुभव करवाएं। अगर ब्रा कम्फर्टेबल होती है, तो आप खुद को दिनभर बेहतर महसूस करते हैं। सबसे ज्यादा फोक्स इस बात पर करें कि आपके स्तन पूरी तरह से कवर हो जाएं। इसके लिए आप साइज़ की चिंता मत करें कई बार साइज़ ब्रैंड के हिसाब से उपर नीचे होता रहता है।

2 बैक बल्ज की समस्या

अगर आपकी ब्रा का साइज़ सही नहीं होगा तो उसमें आपका बैक बल्ज नज़र आने लगेगा। 80 फीसदी तक ब्रेस्ट को बैंड की मदद से सपोर्ट मिलती है। अगर वहीं बैंड आपके लिए परेशानी खड़ी कर रहा है, तो साइज़ का ध्यान अवश्य रखें। कई बार कुछ ब्रा की शेप आपकी बॉडी टाइप को सूट नहीं करता है। पीठ पर जमा अधिक फैट्स को हम दूर नहीं कर सकते हैं। ऐसे में पूरी तरह से चेक करने के बाद ही ब्रा की खरीददारी करें। इस बात का भी ख्याल रखें कि किस तरह के कपड़ों के साथ आप कैसी ब्रा पहन सकती है। अपनी फ्रेंडस के सुझाव से ज्यादा आपको अपनी बॉडी टाइप को समझने की आवश्यकता है।

3 बूब्स पर बहुत पसीना आता है

ब्रेस्ट में होने वाली स्वेटिंग कई बार इस बात को भी दर्शाती है कि आपने गलत ब्रा को चुन लिया है। अनफिट ब्रा को पहनने से दिनभर चुभन और पसीने की समस्या बनी रहती है। खासतौर से गर्मियों के मौसम में आपको रैशिज़ की समस्या से भी जूझना पड़ सकता है। इस बात का भी ख्याल रखें कि आपकी ब्रा का फेबरिक या मटीरियल कॉटल या फिर ब्रीथएबल होना चाहिए। कई बार लाइक्रा, सिल्क और साटन उतना बेहतर साबित नहीं हो पाता है। साथ ही नेट वाली डिज़ाइनिंग ब्रा भी आपको कंफर्ट का एहसास नहीं करवा पाती हैं।

bra strap
ब्रा का साइज़ ब्रेस्ट पर निर्भर करता है। चित्र: शटरस्टॉक

4 पीठ पर लाल निशान दिखना

अगर ब्रा बहुत टाइट है, तो इससे पीठ पर निशान बनने की समस्या बढ़ने लगती है। शरीर पर आगे और पीछे की ओर दिखाने वाले लाल लिशान इस बात को दर्शाते है कि आपकी ब्रा का साइज़ उचित नहीं है। कई बार बैण्ड अत्यधिक टाइट या छोटा होने के कारण भी निशान दिखने लगते हैं। ऐसे में बैन्डस के गैप को कम करें या फिर ब्रो को बहुत टाइट बंद न करें। जहां तक संभव को दसे इतना लूज रखें कि स्किन पर कोई निशान न दिखे।

5 स्ट्रैप्स का बार-बार गिरना

अगर आपकी ब्रा के स्ट्रैप्स बार बार गिर रहे हैं, तो इसका अर्थ है कि आप लूज ब्रा पहन रही हैं या आपकी ब्रा पुरानी हो चुकी है। इस सिचुएशन से बचने के लिए आप अपनी ब्रा के स्ट्रैप्स को टाइट कर सकती है। इसके अलावा आप ब्रौड बैंडस वाली ब्रा को भी पहल सकती है। ऐसे में आपको अपने वार्डरोब में नई ब्रा को एड करने की आवश्यकता है ।

ये भी पढ़ें- मांसपेशियों में ताकत और लचीलापन बढ़ाने के लिए सबसे भरोसेमंद तरीका है योगाभ्यास, यहां हैं 3 सुपरइफेक्टिव योग आसन

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
  • 143
लेखक के बारे में

लंबे समय तक प्रिंट और टीवी के लिए काम कर चुकी ज्योति सोही अब डिजिटल कंटेंट राइटिंग में सक्रिय हैं। ब्यूटी, फूड्स, वेलनेस और रिलेशनशिप उनके पसंदीदा ज़ोनर हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख