खाने के समय और बाद में बढ़ जाता है ब्लड शुगर लेवल, तो एक एक्सपर्ट से जानिए इसे कंट्रोल करने का तरीका

डायबिटीज के रोगियों की सबसे बड़ी समस्या यही है कि खाना खाते ही उनका ब्लड शुगर लेवल अचानक बढ़ जाता है। और यह खतरनाक हो सकता है। इसलिए इसे कंट्रोल किया जाना जरूरी है।
3 ways to control blood sugar level before, during and after the meal.
3 तरीकों से करें ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल। चित्र : एडॉबीस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 19 Feb 2024, 04:02 pm IST
  • 123

आज के समय में बढ़ते ब्लड शुगर की समस्या बिल्कुल कॉमन हो गई है। डायबिटीज के बढ़ते मामलों को देखते हुए इंडिया को इसका कैपिटल कहा जाने लगा है। आपका खानपान ब्लड शुगर लेवल को सबसे अधिक प्रभावित करता है। खाने का समय, तरीका और मात्रा इसके लिए जिम्मेदार होते हैं। खासकर ये डायबिटीज के मरीजों को अधिक प्रभावित करता है। ऐसे में इसपर ध्यान देना बहुत जरूरी है। न्यूट्रीशनिस्ट, हेल्थ कोच और फंग्शनल मेडिसिन स्पेशलिस्ट नेहा रंगलानी ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिए खाना खाने के पहले, बाद और खाने के दौरान बढ़ते ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करने के कुछ टिप्स दिए हैं (how to control blood sugar level), तो चलिए जानते हैं, इस बारे में अधिक विस्तार से।

खाना खाने के बाद आखिर क्यों बढ़ जाता है ब्लड शुगर लेवल

ब्लड शुगर लेवल तब होता है जब खाने के तुरंत बाद आपके ब्लड शुगर का स्तर बढ़ जाता है। कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थ खाने के बाद सभी लोगों में यह एक सामान्य समस्या है। जब ऐसा होता है, तो पैंक्रियाज में दो महत्वपूर्ण प्रतिक्रियाएं होती हैं: इंसुलिन रिलीज होना और एमिलिन नामक हार्मोन का रिलीज होना।

इंसुलिन ग्लूकोज को ब्लड स्ट्रीम से बाहर और सेल्स में ले जाने का काम करता है। इसमें बस कुछ ही मिनट लगते हैं। एमाइलिन भोजन को स्मॉल इंटेस्टाइन (जहां अधिकांश पोषक तत्व अवशोषित होते हैं) तक तेजी से पहुंचने से रोकने में मदद करता है। अधिकांश समय, खाने के बाद अस्थाई रूप से ब्लड शुगर में वृद्धि देखने को मिल सकती है। यहां तक कि वे ध्यान देने योग्य भी नहीं होती है।

diabetes control krne ke upay
डायबिटीज के मरीजों को हो सकता है ब्लड शुगर स्पाइक। चित्र : एडॉबीस्टॉक

लेकिन डायबिटीज के मरीजों में भोजन के बाद की ये सामान्य प्रतिक्रियाएं बाधित होती हैं। टाइप 2 डायबिटीज वाले लोगों में, पैंक्रियाज इंसुलिन बनाता है, लेकिन सेल्स उस पर वैसी प्रतिक्रिया नहीं करतीं जैसी उन्हें करनी चाहिए। इसे इंसुलिन प्रतिरोध कहा जाता है।

यह भी पढ़ें: Acidity : जानिए क्या होता है जब आप गैस और एसिडिटी को लगातार इग्नोर करते हैं

ग्लूकोज सेल्स में नहीं पहुंच पाता, इसलिए ब्लड शुगर का स्तर तेजी से बढ़ जाता है। डायबिटीज के मरीज (टाइप 1 या टाइप 2) जो इंसुलिन थेरेपी ले रहे हैं, उन्हें आमतौर पर ब्लड शुगर में कमी में महत्वपूर्ण देरी का अनुभव होता है, क्योंकि इंसुलिन को काम करना शुरू करने में 15 मिनट तक का समय लग सकता है। डायबिटीज रोगियों में भी एमाइलिन का उत्पादन बिल्कुल नहीं होता है, या पर्याप्त मात्रा में इसका उत्पादन नहीं होता है। इससे उनका खाना बहुत तेजी से पच जाता है, इस स्थिति में ब्लड शुगर में स्पाइक देखने को मिल सकता है।

देरी से इंसुलिन रिलीज होने और तेज़ पाचन स्पीड के परिणामस्वरूप, खाने के तुरंत बाद ब्लड शुगर का स्तर बहुत अधिक बढ़ सकता है। एक बार जब इंसुलिन सक्रिय हो जाता है, तो ब्लड शुगर में तेजी से गिरावट आ सकती है।

इन 3 तरीकों से करें ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल (How to control blood sugar level)

स्टेप 1: खाने के पहले

खाना खाने के पहले ब्लड शुगर के स्तर को कंट्रोल करने के लिए अप एप्पल साइडर विनेगर की मदद ले सकती हैं। खाना खाने के लगभग 15 मिनट पहले पानी में एप्पल साइडर विनेगर मिलाकर लेने की सलाह दी जाती है। एक गिलास पानी में एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर मिलाएं, और इसे एंजॉय करें। ये आपके खाने के बाद ब्लड शुगर रिस्पांस को सामान्य रहने में मदद करता है। एप्पल साइडर विनेगर में मौजूद एसिटिक एसिड डाइजेशन प्रोसेस को धीमा कर देती हैं। साथ ही ये कार्बोहाइड्रेट को धीरे धीरे शुगर में कन्वर्ट करता है। ऐसे में खाने के बाद ब्लड में शुगर का स्तर धीरे धीरे बढ़ता है।

healthy diet jaroori hai.
सभी पोषक तत्वों को ग्रहण करना आवश्यक है। पौष्टिक तत्वों की कमी शरीर में थकान, अनिद्रा और कमज़ोरी का कारण बनती है। चित्र : अडोबी स्टॉक

स्टेप 2: खाने के दौरान

खाने की शुरुआत में सैलेड खाएं, इससे बॉडी ब्लड शुगर पर पॉजिटिव इंपैक्ट देखने को मिलता है। फाइबर युक्त फल और सब्जी का पर्याप्त सेवन करें, इससे खाने के बाद ब्लड शुगर का रिस्पांस सामान्य रहता है। ये आपके ब्लड शुगर रिस्पांस को लगभग 50 प्रतिशत तक कम कर देता है। ये डायबिटीज के मरीजों के साथ ही प्री डायबिटीक या फिर सामान्य लोगों में भी ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद करता है। ये ब्लड शुगर लेवल मैनेजमेंट के साथ ही वेट मैनेजमेंट में भी मदद करता है।

स्टेप 3: खाने के बाद

ब्लड शुगर लेवल को मैनेज करने के लिए खाना खाने के बाद दालचीनी का पानी पीने की सलाह दी जाती है। एक गिलास पानी में दालचीनी की 2 स्टिक डालें, और इसमें उबाल आने दे, फिर इस पानी को एंजॉय करें। खाने के बाद इसका आपके बॉडी पर एक बेहतरीन इंपैक्ट देखने को मिल सकता है। दालचीनी ब्लड शुगर के स्तर को प्रभावी रूप से कम करते हुए ब्लड से मसल्स में ग्लूकोज के अवशोषण को बढ़ा देती है। ऐसे में ब्लड शुगर का स्तर सामान्य रहता है और आपको किसी तरह की परेशानी नहीं होती। डायबिटीज के सभी मरीजों को इसे जरूर से जरूर फॉलो करना चाहिए।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी पढ़ें: इन 6 कारणों से स्टूडेंट्स को रोज खाने चाहिए मुट्ठी भर भीगे बादाम

  • 123
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख