गर्भावस्था में नुकसान पहुंचा सकती हैं ब्यूटी केयर रूटीन की ये 4 चीज़ें, इनसे बचना है जरूरी  

Published on: 19 July 2022, 20:49 pm IST

यूं तो गर्भावस्था में होने वाले सभी त्वचा परिवर्तन अस्थायी हैं और अपने आप दूर हो सकते हैं। फिर भी हम इनके समाधान के लिए ऐसी दवाओं का इस्तेमाल करते हैं। जिनका सीधा असर आपके और बच्चे के स्वास्थ्य पर पड़ सकता है।

प्रेगनेंसी के दौरान न करें ब्यूटी केयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल, चित्र:शटरस्टॉक

गर्भावस्था के दौरान हम देखभाल के कई तरीकों के बारे में बात करते हैं, लेकिन जिस बात को सबसे ज़्यादा अनदेखा किया जाता है वह है आपकी त्वचा और बाल। अन्य चिंताओं की तुलना में त्वचा संबंधी समस्याएं महत्वपूर्ण नहीं लगतीं। फिर भी उन्हें अनदेखा नहीं किया जाना चाहिए। क्या आपने गर्भावस्था के दौरान चेहरे पर आए पिंपल्स या काले धब्बे, पेट के आसपास चकत्ते या त्वचा की रंजकता (skin pigmentation) देखी है? अगर इन  सभी का जवाब हां है और आप इनके कुछ ब्यूटी समाधान ढूंढ रहीं हैं, तो आपकाे कुछ चीजों से परहेज करना चाहिए। यहां हम उन ब्यूटी प्रोडक्ट्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें आपको प्रेगनेंसी में इस्तेमाल नहीं (list of chemicals to avoid during pregnancy) करना चाहिए। 

यूं तो ये सभी त्वचा परिवर्तन अस्थायी हैं और अपने आप दूर हो सकते हैं। फिर भी हम इनके समाधान के लिए ऐसी दवाओं का इस्तेमाल करते हैं, जिनका सीधा असर आपके और बच्चे के स्वास्थ्य पर पड़ सकता है। ऐसे में आपको यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि आप ऐसे किसी भी ब्यूटी प्रोडक्ट का इस्तेमाल न करें जो आपके या होने वाले बच्चे के स्वास्थ्य पर नकारात्मक असर डाले। 

ऐसी कई महिलाएं हैं जिन्हें पेट और यहां तक ​​कि स्तनों पर खिंचाव के निशान भी दिखाई देते हैं। त्वचा विशेषज्ञ डॉक्टर अनुराग आर्या की मानें तो, “गर्भावस्था के दौरान, शरीर में हार्मोनल परिवर्तन होते हैं और तेल ग्रंथियां अधिक तेल छोड़ती हैं, जिससे ब्रेकआउट हो सकता है।” 

मुंहासे एक ऐसी समस्या हैं, जो आमतौर पर गर्भावस्था के दौरान सामने आती है। एनसीबीआई की एक रिसर्च की मानें तो किसी भी ब्यूटी केयर प्रोडक्ट में अगर ये प्रोडक्ट्स हों, तो उनका इस्तेमाल खतरनाक हो सकता है। बेहतर है बिना डॉक्टर के परामर्श के किसी भी दवा से बचा जाए।

यहां हैं वे 4 प्रोडक्ट्स जिनके इस्तेमाल से आपको बचना चाहिए 

1 रेटिनॉइड्स

एंटी-एजिंग मॉइस्चराइज़र, मुंहासे के उपचार और प्लाक सोरायसिस के लिए मिलने वाली दवाओं में आमतौर पर रेटिनॉइड्स पाए जाते हैं। रेटिनॉइड्स (जिसे ट्रेटिनॉइन भी कहा जाता है) एक प्रकार का विटामिन ए है, जो कोशिका विभाजन को गति देता है। अर्थात आपकी त्वचा के नवीनीकरण को तेज करता है और त्वचा के कोलेजन को टूटने से रोकता है।

लेकिन रेटिनोइड्स त्वचा की देखभाल करने वाले अवयवों में से एक हैं, जो एनसीबीआई के एक शोध के मुताबिक़ गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए अनुकूल नहीं है। कुछ अध्ययनों से पता चला है कि गर्भावस्था के दौरान विटामिन ए की अधिक खुराक लेना अजन्मे बच्चे के लिए हानिकारक हो सकता है। 

ओरल रेटिनॉइड्स, जैसे कि आइसोट्रेटिनॉइन (एक प्रिस्क्रिप्टिव एक्ने रिमेडी ), जन्म दोष तक पैदा कर सकते हैं। अतिरिक्त सावधानी के लिहाज से आमतौर पर डॉक्टर इसे न इस्तेमाल करने के लिए कहते हैं।

2 हाइड्रोक्सी एसिड

हाइड्रॉक्सी एसिड जैसे बीटा हाइड्रॉक्सी एसिड (बीएचए) और अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड (एएचए) कुछ त्वचा विकारों, जिनमें मुंहासे, त्वचा की सूजन और लालिमा शामिल हैं, के इलाज के लिए बने उत्पादों में पाए जाते हैं। वे उम्र बढ़ने के संकेतों को कम करने के लिए कई तरह के क्लींजर, टोनर और एक्सफोलिएंट्स में भी पाए जाते हैं।

सैलिसिलिक एसिड सबसे आम बीएचए है। सैलिसिलिक एसिड लगाने पर चेहरे और स्किन को लेकर अधिक दिक्कत होती है। पील ट्रीटमेंट कराने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से जांच कराएं। बेहतर होगा कि इसे अपने त्वचा विशेषज्ञ से प्रोफेशनल तरीके से ही कराएं। एक त्वचा विशेषज्ञ को पता होगा कि गर्भावस्था के दौरान इसे सुरक्षित रूप से कैसे करना है।

baby in a womb
प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी उत्पाद का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें. चित्र : शटरस्टॉक

कॉस्मेटिक उत्पादों में दो सबसे आम तत्त्व अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड (एएचए) ग्लाइकोलिक एसिड और लैक्टिक एसिड हैं। सुरक्षित रहने के लिए,इन्हें थोड़ी मात्रा में ही इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

3 हार्मोनल एक्ने हटाने के लिए रेगुलर प्रोडक्ट 

कई महिलाओं में एस्ट्रोजन का स्तर बदलने के कारण पहली तिमाही में ब्रेकआउट होता है, भले ही उनकी त्वचा हमेशा साफ रही हो। यदि आप गर्भावस्था से प्रेरित मुंहासे से निपट रहे हैं , तो त्वचा विशेषज्ञ आपको एक सुरक्षित सामयिक एंटीबायोटिक दे सकते हैं। 

आप एक ऐसे फेशियल वॉश का उपयोग भी कर सकती हैं, जिसमें 2 प्रतिशत से अधिक सैलिसिलिक एसिड न हो (उत्पाद लेबल पर प्रतिशत देखें)। इतना सैलिसिलिक एसिड  सुरक्षित मानी जाती है। 

​​मुंहासों का इलाज करने की बात हो, तो लीव-ऑन एक्ने लोशन, जैल और क्रीम से दूर रहें, साथ ही घर पर बने पील ऑफ इस्तेमाल करें, बाजार में मौजूद ऐसे पील ऑफ का इस्तेमाल न करें जिनमें सैलिसिलिक एसिड या रेटिनोइड्स हो सकते हैं। सैलिसिलिक एसिड को ओरली लेने से बचें।

4 हेयर रिमूवर और मिनिमाइज़र

हेयर रिमूवर लोशन जो आपके बालों को रासायनिक रूप से आपकी बॉडी से हटाते हैं (डिपिलिटरी) या जो शेव के बीच के बालों को कम करते हैं का कम से कम उपयोग करें खासकर के तब जब आपको पहले भी हेयर मिनिमाइज़र या बाल हटाने वाली क्रीम से त्वचा की एलर्जी की प्रति हुई है, तो आपको गर्भावस्था के दौरान भी इन उत्पादों से बचना चाहिए।

इसके अलावा, कुछ महिलाओं की त्वचा गर्भावस्था के दौरान अतिरिक्त संवेदनशील हो जाती है, इसलिए आपको इन अवयवों पर प्रतिक्रिया हो सकती है, भले ही आपने पहले कभी नहीं किया हो। अपने पूरे पैर पर इसे इस्तेमाल करने से पहले, अपने घुटने के पीछे की त्वचा के एक छोटे से हिस्से पर  पैच परीक्षण करें और 24 घंटे प्रतीक्षा करें कि क्या प्रतिक्रिया होती है।

यह भी पढ़ें: एक्‍ने प्रोन स्किन के लिए ट्राय करें टमाटर के ये आसान फेस पैक और मुंहासों की छुट्टी कर दें

शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें