खराब लाइफस्टाइल ही नहीं, खराब नींद भी कर सकती भी बन सकती है हृदय रोग का कारण

पूरे शरीर में ब्लड के बेहतर सर्कुलेशन के लिए जिम्मेदार हार्ट का हेल्दी रहना कितना जरूरी है ये हम सभी जानते है। लेकिन क्या आप जानते है कि आपकी खराब नींद हृदय रोग का कारण बन सकती है।
bad sleep linked to heart disease
खराब नींद भी आपके हृदय स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकती है।
संध्या सिंह Updated: 24 Dec 2023, 09:34 am IST
  • 145

आज कल हम जिस तरह के स्ट्रेस (stress) और लाइफ में व्यस्त है उसके कारण कई लोगों की नींद पूरी तरह से पूरी नहीं हो पाती है। कई लोग रात तर सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते है जिसके वे लेट सोते है और सुबह काम पर जाने के लिए जल्दी उठने की वजह से उनकी नींद पूरी नहीं हो पाती है। हमने अपना लाइफस्टाइल ऐसा बना लिया है जिसमें हमारे लिए सब चीज का समय है केवल स्वस्थ रहने का ही समय नहीं है।

हृदय संबंधी समस्याएं भारत में बीमारी और मृत्यु का एक प्रमुख कारण हैं। हालांकि हम ये पहले से ही जानते है कि खराब आहार, कम व्यायाम और धूम्रपान जैसे कारक हृदय को नुकसान पहुंचा सकते हैं, लेकिन खराब नींद भी आपके हृदय स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकती है।

day after sleepless night
यदि आप एक रात नहीं सोते है तो आपके रक्त में 100 से अधिक प्रोटीन में बदलाव होता है। चित्र-अडोबी स्टॉक

खराब नींद और हृदय रोग पर क्या कहती है रिसर्च

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल की एक स्टडी के मुताबिक सोने में परेशानी, सोते रहना और बहुत कम नींद महिलाओं में हाई ब्लड प्रेशर का कारण बन सकता है। हाइपरटेंशन के नवंबर 2023 के एक अध्ययन में 16 साल तक 66,122 महिलाओं के स्वास्थ्य पर नज़र रखी गई। जब 2001 में अध्ययन शुरू हुआ, तो महिलाओं की उम्र 25 से 42 वर्ष के बीच थी और उन्हें उच्च हाइपरटेंशन नहीं था।

इस अध्ययन मे पाया गाया कि जिन महिलाओं ने 7 से 8 घंटो की पूरी नींद ली उन्हे हाइपरटेंशन की समस्या नहीं थी। लेकिन जो महिलाएं 5 से 6 घंटे की नींद लेती थी या जिन्हें कोई नींद की समस्या थी उनमें हाइपरटेंशन की समस्या देखी गई।

इस अध्ययन के लेखक बताते है कि खराब नींद सीधे तौर पर हृदय रोग से नहीं जुड़ी है बल्कि खराब नींद तनाव और हाई ब्लड प्रेशर का कारण बन सकते है। जिससे आपको हार्ट की समस्या हो सकती है।

कैसे खराब नींद आपके हृदय को प्रभावित करती है (bad sleep link to heart disease)

हाइपरटेंशन का कारण बनता है

अपर्याप्त या खराब गुणवत्ता वाली नींद हाइपरटेंशन का कारण बन सकती है। समय के साथ, उच्च रक्तचाप हृदय और रक्त वाहिकाओं पर दबाव डाल सकता है, जिससे हृदय रोग, स्ट्रोक और अन्य हार्ट संबंधी समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है।

हृदय रोग का बढ़ता जोखिम

लगातार नींद की कमी या खराब नींद की क्वालिटी का खराब होना हृदय रोग के बढ़ते हुए जोखिम का कारण बन सकता है। इसमें कोरोनरी धमनी रोग, दिल का दौरा और हार्ट फेल जैसा समस्या हो सकती है।

jyada fal apko dil ki bimari de sakta hai

अपर्याप्त या खराब गुणवत्ता वाली नींद हाइपरटेंशन का कारण बन सकती है।
चित्र: शटरस्टॉक

सूजन का कारण बन सकती है

नींद की कमी से शरीर में सूजन बढ़ सकती है, जो हृदय रोग की समस्या का कारण बन सकती है। यह सूजन आपके हार्ट हेल्थ को भी प्रभावित कर सकती है। इससे आपका हार्ट पूरे शरीर में ठीक तरह से ब्लड नहीं पहुंचा पाएगा।

मेटाबॉलिक रूप में बदलाव

आपकी नींद भूख, मेटाबॉलिज्म और इंसुलिन में परिवर्न से संबंधित हार्मोन को रेगुलेट करने में काफी मदद करता है। नींद की कमी इन हार्मोनल असंतुलन का कारण बन सकती है। जिससे वजन बढ़ना, इंसुलिन में परिवर्तन और मधुमेह जैसी स्थितियों का खतरा बढ़ जाता है।

ये भी पढ़े- ये 5 संकेत बताते हैं की आपके शरीर में बढ़ गया है कोलेस्ट्रॉल का स्तर, भूलकर भी न करें इन्हें नजरअंदाज

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख