वैलनेस
स्टोर

गैस और एसिडिटी से परेशान हैं? इन घरेलू नुस्खों से घर पर ही करें इसका झटपट इलाज

Updated on: 10 December 2020, 12:10pm IST
त्योहार के समय आये दिन कहीं न कहीं दावत हो ही जाती है। ऐसे में गैस या एसिडिटी होना आम है। खुद को इस समस्या से दूर रखें, इन घरेलू नुस्खों की मदद से।
विदुषी शुक्‍ला
  • 70 Likes
लौकी की बर्फी का आनंद मधुमेह रोगी भी ले सकते हैं। चित्र- शटरस्टॉक।

दिवाली कुछ ही दिन दूर है और हमें यकीन है कि आपने दिवाली पार्टी की तैयारियां भी शुरु कर दी होंगी। भारतीय खानपान में अगर एक चीज प्रमुख रूप से इस्तेमाल होती है, तो वे हैं मसाले। त्योहार के समय ज्यादा तेल और मसालेदार खाना बनाना स्वाभाविक है। लेकिन इससे आपके पेट पर होने वाले प्रभाव के लिए आपको तैयार रहना भी जरूरी है। मसालेदार व्यंजन आसानी से एसिडिटी और गैस की समस्या पैदा कर सकते है।

चाहें यह आपके साथ हो या आपके मेहमानों के साथ, अपनी दिवाली पार्टी को एसिडिटी के कारण फीका न पड़ने दें। एसिडिटी से राहत के लिए इन घरेलू नुस्खों को जान लें, ताकि आपकी दिवाली पार्टी हर मायने में बेस्ट हो सके।

पाचन संबंधी समस्‍याओं में लेमनग्रास आराम दिलाती है। चित्र: शटरस्‍टॉक
एसिडिटी का शिकार? यहां हैं गैस और एसिडिटी से छुटकारा पाने के 5 उपाय। चित्र: शटरस्‍टॉक

1. ठंडा दूध

एसिडिटी के लिये ठंडा दूध सबसे कारगर उपाय है। इसके पीछे का कारण तो आपको अपने बच्चों को साइंस बुक में ही मिल जाएगा। असल में हमारे पेट में खाना पचाने के लिए एसिड होता है। दूध उस एसिड को न्यूट्रीलाईज कर देता है। अगर आप दूध पसन्द नहीं करतीं तो बिना मसाले वाला सादा छाछ भी आपको राहत दे सकता है।

गैस से राहत के लिए ठंडा दूध सबसे उपयोगी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

2. गुनगुना पानी

एसिडिटी होने पर एक गिलास गुनगुना पानी पिएं। अगर एसिडिटी माइल्ड होगी, तो इस नुस्खे से तुरंत आराम मिल जाएगा। असल में पानी आपके पेट के एसिड को डाइल्यूट यानी हल्का कर देता है। इससे आपको सीने में जलन, पेट दर्द और खट्टी डकारों में आराम मिलेगा। ठंडा पानी न पियें, क्योकि यह पाचन में रुकावट डाल सकता है।
अगर एक से दो गिलास पानी पीने के बाद भी दस मिनट तक आराम न मिले तो इनो या डाइजीन जैसी दवा का सहारा लें।

3. काला नमक, हींग और अजवाइन

गैस होने पर एक चुटकी हींग, एक चुटकी अजवाइन और आधा चम्मच काला नमक लें और उसे गुनगुने पानी की मदद से निगल लें। आपको इसे चबाना नहीं है, निगलना है। अरेबियन जर्नल ऑफ केमिस्ट्री में प्रकाशित शोध के अनुसार अजवाइन में एंटी एसिडिक प्रॉपर्टी होती हैं जो एसिड को कम करती है। साथ ही हींग और अजवाइन पाचन में सहायक होती हैं। इससे आपका खाना आसानी से पच जाएगा और आपको पेट दर्द में आराम मिलेगा।

अजवायन गैस के साथ-साथ पेट दर्द की समस्‍या से भी राहत दिलाती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

4. सौंफ

सौंफ का सेवन भी एसिडिटी में राहत देता है। आपने देखा होगा कि रेस्तरां इत्यादि में खाने के बाद सौंफ और मिश्री दी जाती है। अल्टरनेटिव मेडिसिन जर्नल में प्रकाशित लेख के अनुसार सौंफ की एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाचन को सुचारू बनाते हैं और गैस से आराम मिलता है।

इसके साथ ही इन बातों का भी रखें ध्यान-

1. ओवर ईटिंग से बचें। जब आपको पता है कि आपको अधिक मसालेदार भोजन से गैस की समस्या हो सकती है, तो उन फूड्स को अवॉयड करें।
2. खाने के बाद लेटे नहीं। साथ ही खाने के तुरंत बाद डांस भी ना करें। अगर आपको अक्सर गैस बनती है तो खाने के बाद 10 से 15 मिनट टहलें।
3. बहुत अधिक कॉफी ना पियें, यह भी गैस का कारण बन सकती है।
4. खट्टे फल जैसे संतरा, कीवी, नींबू इत्यादि को खाली पेट कभी न खाएं।
इन नुस्खों को याद रखें और अपनी दिवाली पार्टी को सबसे शानदार बनाएं।

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।