हाइपरपिग्मेंटेशन की समस्या से छुटकारे के लिए अपनाएं मेरी मां के दिए ये 4 DIY एलोवेरा पैक

बाजार में मिलने वाले कई उत्पादों का आधार रासायनिक होता है, एलोवेरा नेचुरल है जो हाइपरपिग्मेंटेशन के इलाज में बिना साइड इफेक्ट के मदद कर सकता है

hyperpigmentation
पिगमेंटेशन का इलाज चावल के आटे से हो सकता है, चित्र : शटरस्टॉक
शालिनी पाण्डेय Published on: 19 September 2022, 21:30 pm IST
  • 111

हाइपरपिग्मेंटेशन त्वचा की एक सामान्य स्थिति है जो तब होती है जब त्वचा में अतिरिक्त मेलेनिन जमा हो जाता है। मेलेनिन वह पिगमेंट है जो आपकी त्वचा को रंग देता है। हालांकि यह आम तौर पर हानिकारक स्थिति नहीं है पर अनइवन स्किन टोन भद्दा लग सकता है और आपका लुक आपके कॉन्फिडेंस को।

जबकि त्वचा के रंग को हल्का करने के लिए बाजार में मिलने वाले कई उत्पादों का आधार रासायनिक होता है, एलोवेरा एकमात्र ऐसा प्राकृतिक पदार्थ है जो हाइपरपिग्मेंटेशन (Aloe vera for hyper pigmentation) के इलाज में बिना इसे भी साइड इफेक्ट के मदद कर सकता है। त्वचा पर काले धब्बे के विभिन्न कारण हो सकते हैं, जिनमें सूर्य की हानिकारक किरणों के संपर्क में आना, गर्भावस्था, दवाएं (जैसे कीमोथेरेपी की दवाएं), मुंहासे, हार्मोन संबंधी विकार, प्रदूषक और बहुत कुछ शामिल हैं।

चलिए जानें एलोवेरा शरीर को कैसे फायदा पहुंचाता है?

एलोवेरा को 1959 में एफडीए द्वारा त्वचा की जलन के लिए एक ओवर-द-काउंटर दवा के रूप में मान्यता मिली हुई है।
शुद्ध एलोवेरा जूस माउथवॉश के रूप में इस्तेमाल करने पर दांतों पर टैटार और प्लाक के निर्माण को कम कर सकता है।
एलोवेरा को प्रभावित क्षेत्र पर लगाने पर नासूर घावों के उपचार में तेजी लाने के लिए दिखाया गया है और नासूर घावों के कारण होने वाले दर्द को कम करता है।
एलोवेरा में एलोइन होता है, जो एक प्रसिद्ध रेचक है और कम मात्रा में लेने पर कब्ज को कम करने में मदद करता है।
एलोवेरा जूस पोषक तत्वों से भरपूर होता है और त्वचा के लिए लाभ प्रदान करता है, जैसे कि साफ त्वचा, एक्जिमा और सोरायसिस को कम करना।

क्या कहते हैं शोध

अध्ययनों से पता चला है कि एलोवेरा त्वचा की उम्र बढ़ने(aging) को धीमा कर देता है। यह कोलेजन उत्पादन को बढ़ाकर झुर्रियों को कम करने और त्वचा की लोच में सुधार करने में मदद करता है। एलोवेरा जेल में पॉलीसेकेराइड के कारण त्वचा की लालिमा को कम करने के लिए दिखाया गया है जो सूजन को कम करने में मदद करता है।

Skin ke liye aloevera hai faydemand
हाइपर पिगमेंटेशन के लिए एलोवेरा है फायदेमंद। चित्र:शटरस्टॉक

एलोवेरा का उपयोग कई बालों के उत्पादों में किया जाता है क्योंकि यह बालों के झड़ने में मदद करता है, और एलोवेरा को प्रभावित क्षेत्र पर रगड़ने से बालों को फिर से बढ़ने में मदद मिल सकती है।
एलोवेरा के मॉइस्चराइजिंग और उपचारात्मक गुणों के कारण कई मॉइस्चराइज़र, लोशन, फेशियल वॉश और साबुन एलोवेरा का उपयोग करते हैं। यह अपने जीवाणुरोधी गुणों के कारण मुंहासे को रोकने के लिए, त्वचा से गंदगी और तेल हटाने और दाग से बचने के लिए बेहतर तरीके से काम करने में मदद करता है।
यह सनबर्न के लक्षणों से राहत पाने और उपचार प्रक्रिया को तेज करने के लिए एक बेहतरीन उपाय है।
अध्ययनों से पता चला है कि एलोवेरा हाइपरपिग्मेंटेशन में भी मदद कर सकता है।

एलोवेरा हाइपरपिग्मेंटेशन में कैसे मदद करता है

कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि एलोवेरा जेल में रसायन विशेष रूप से: एलोइन और एलोसिन अतिरिक्त मेलेनिन कोशिकाओं को तोड़ते हैं और अतिरिक्त मेलेनिन के गठन को रोकते हैं।
यह दो चरणों वाली प्रक्रिया है। विशेष रूप से, एलोइन अतिरिक्त वर्णक जमा को तोड़ता है , और एलोसीन त्वचा को अधिक मेलेनिन जमा करने से रोकता है। इन दोनों प्रभावों के संयोजन से समय के साथ त्वचा का रंग हल्का हो जाता है।

एलोवेरा में पानी की भरपूर मात्रा होने के कारण यह त्वचा को हाइड्रेट करने में भी मदद करता है। इसमें सेलेनियम, जिंक और मैग्नीशियम जैसे एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो आपकी त्वचा को कठोर रसायनों, सूरज के संपर्क से होने वाले नुकसान और प्रदूषण से बचाने में मदद करते हैं। इस तरह एलोवेरा त्वचा को हाइड्रेटेड और मजबूत रखने के साथ ही सेल उत्पादन और टर्नओवर का काम भी करता है।

हाइपरपिग्मेंटेशन के लिए एलोवेरा का उपयोग करने के लिए अपनाएं ये तरीके

वैसे तो आप एलोवेरा का इस्तेमाल खुद ही कर सकती हैं, लेकिन इसके असर को बढ़ाने के कई तरीके हैं।

1 एलोवेरा, नींबू और शहद

एक चम्मच शहद, आधा नींबू और दो बड़े चम्मच एलोवेरा जेल को अच्छी तरह मिला लें
मिश्रण लेकर त्वचा पर लगाएं

lemon har skin par kam kare ye zaruri nahi
नींबू को एलोवेरा के साथ मिला कर लगाना हो सकता है फायदेमंद। चित्र: शटरस्टॉक

सूखने के बाद, पानी से अच्छी तरह धो लें
बेहतर परिणामों के लिए सप्ताह में एक से दो बार दोहराएं

2 एलोवेरा और नींबू

2 नींबू के रस के साथ चार बड़े चम्मच एलोवेरा जेल मिलाएं
लगाने से पहले त्वचा को अच्छी तरह धो लें
मिश्रण की एक पतली परत त्वचा पर फैलाएं
15 मिनट के लिए सूखने दें
बाद में इसे पानी से अच्छी तरह धो लें
इष्टतम परिणामों के लिए इस प्रक्रिया को प्रतिदिन दोहराएं

3 एलोवेरा और विटामिन ई

आधा चम्मच विटामिन ई को एक चम्मच एलोवेरा के साथ मिलाएं
मिश्रण लें और धीरे से त्वचा पर मालिश करें
इसे 30 मिनट के लिए लगा रहने दें
फिर पानी से अच्छी तरह धो लें
बेहतर परिणामों के लिए इस प्रक्रिया को सप्ताह में एक बार जरूर अपनाएं

4 एलोवेरा और शिया बटर

एक चम्मच एलोवेरा और एक चम्मच शिया बटर को अच्छी तरह मिला लें (आप शिया बटर की जगह एक चम्मच जैतून का तेल भी इस्तेमाल कर सकते हैं)
मिश्रण को त्वचा पर लगाएं
15 मिनट के लिए छोड़ दें
पानी से पूरी तरह धो लें
बेहतर परिणामों के लिए इस प्रक्रिया को सप्ताह में दो से तीन बार दोहराएं

ध्यान रहे

न रहे हर किसी की त्वचा अलग होती है, इसलिए वह चुनें जो आपके लिए सबसे अच्छा काम करे। कई बार एलोवेरा या बताए गए अन्य अवयवों से एलर्जी होना भी संभव है। इसलिए पैच टेस्ट ज़रूर करें और यदि दाने निकलते हैं या आपकी त्वचा में जलन होती है, तो इसका उपयोग बंद कर दें।

यह भी पढ़ें: लम्पी डीजीज से ग्रस्त हो रहीं हैं गाय, जानिए इन दिनों कितना सेफ है डेरी प्रोडक्ट का इस्तेमाल

  • 111
लेखक के बारे में
शालिनी पाण्डेय शालिनी पाण्डेय

स्वास्थ्य राशिफल

स्वस्थ जीवनशैली के लिए ज्योतिष विशेषज्ञों से जानिए अपना स्वास्थ्य राशिफल

सब्स्क्राइब
nextstory