टाइफाइड के ठीक होने के बाद भी बनी रहती है कमजोरी, यहां जानिए इससे उबरने के उपाय

टाइफाइड इंटेस्टाइनल ट्रैक और रक्तप्रवाह के एक सामान्य बैक्टीरियल इंफेक्शन से होता है। यह ज्यादातर दूषित भोजन और पानी के कारण होता है और एक बार संक्रमित होने पर यह आपके शरीर पर भारी पड़ सकता है।
typhoid fever se kaise bache
भरपूर नींद लें और भारी एक्टिविटी से बचें जो आपकी ऊर्जा को और ख़त्म कर सकती हैं। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published: 3 Feb 2024, 15:30 pm IST
  • 123

टाइफाइड आमतौर पर व्यक्ति को बुखार, सिरदर्द, कमजोरी और पेट दर्द से प्रभावित करता है। इससे दस्त भी हो सकता है, इसलिए ताज़ा जूस का सेवन हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों और अन्य खराब उत्पादों को बाहर निकालने में मदद करता है। टाइफाइड का इंजेक्शन कुछ वर्षों तक बैक्टीरिया द्वारा संक्रमण को रोकने में मदद कर सकता है लेकिन फिर भी स्वस्थ और पौष्टिक भोजन खाना महत्वपूर्ण है जो स्वच्छ हो। अगर आपको टाइफाइड हुआ है और वो ठीक हो गया है तो उसके बाद भी शरीर में बहुत कमजोरी हो जाती है उस कमजोरी को आप जल्द से जल्द कैसे दूर कर सकते है।

टाइफाइड के कुछ लक्षण

संक्रमण दिखने में आमतौर पर एक सप्ताह या उससे अधिक समय लगता है, टाइफाइड के कुछ लक्षण हैं।

कमजोरी
ठंड लगना
पेट दर्द
बुखार
सिर दर्द
थकान
भूख में कमी
रैश
दस्त
कब्ज

Dengue fever ke lakshan
भरपूर नींद लें और भारी एक्टिविटी से बचें जो आपकी ऊर्जा को और ख़त्म कर सकती हैं। चित्र- अडोबी स्टॉक

टाइफाइड की कमजोरी से कैसे निपटें

सबसे पहले आराम करना है जरूरी

संक्रमण से लड़ने के शरीर के प्रयासों के कारण टाइफाइड बुखार अत्यधिक थकान और कमजोरी का कारण बन सकता है। आराम को प्राथमिकता देना और अपने शरीर को पूरी तरह से ठीक होने के लिए पूरी समय देना जरूरी है। भरपूर नींद लें और भारी एक्टिविटी से बचें जो आपकी ऊर्जा को और ख़त्म कर सकती हैं।

खुद को हाइड्रेटेड रखें

टाइफाइड के कारण होने वाला बुखार, उल्टी और दस्त से डिहाइड्रेशन हो सकता है, जिससे कमजोरी बढ़ सकती है। हाइड्रेशन का स्तर बनाए रखने के लिए खूब सारे तरल पदार्थ पिएं, जैसे पानी, इलेक्ट्रोलाइट या हर्बल चाय। प्रति दिन कम से कम 8-10 गिलास तरल पदार्थ का सेवन करने जरूर है, और कैफीनयुक्त या शर्करा युक्त पेय पदार्थों से बचें जो आपको और अधिक डिहाइड्रेट कर सकते हैं।

पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करें

टाइफाइड से बाहर निकलने के बाद ताकत का पुनर्निर्माण और प्रतिरक्षा प्रणाली का समर्थन करने के लिए उचित पोषण महत्वपूर्ण है। पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थों के सेवन पर ध्यान दें जो जरूरी विटामिन, खनिज और प्रोटीन प्रदान करते हैं। अपने आहार में भरपूर मात्रा में फल, सब्जियां, लीन प्रोटीन, साबुत अनाज और स्वस्थ वसा को शामिल करें। यदि आप गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल लक्षणों का अनुभव कर रहे हैं तो आसानी से पचने वाले खाद्य पदार्थों का विकल्प चुनें।

Malaria mein hota hai tej bukhaar
उतनी ही एक्टिविटी करें जितने की आपका शरीर अनुमति दोता है। चित्र : शटरस्टॉक

धीरे-धीरे शारीरिक गतिविधि करें

टाइफाइड बुखार जब बहुत तोज हो तो उस दौरान आराम जरूरी है, धीरे-धीरे हल्की शारीरिक गतिविधि को फिर से शुरू करने से कमजोरी से निपटने और रिकवरी करने में मदद मिल सकती है। छोटी सैर या स्ट्रेचिंग व्यायाम जैसी हल्की गतिविधियों से शुरुआत करें, जैसे-जैसे आपकी ताकत में सुधार होता है, धीरे-धीरे तीव्रता और समय बढ़ता जाता है। उतनी ही एक्टिविटी करें जितने की आपका शरीर अनुमति दोता है।

थोड़ा-थोड़ा और बार-बार भोजन करें

अपने पाचन तंत्र पर भारी पड़ने से बचने के लिए ज्यादा भोजन एक बार करने की बजाय, दिन भर में थोड़ा थोड़ा और अधिक बार भोजन करने का विकल्प चुने। यह दृष्टिकोण आपकी लगातार ऊर्जा स्तर बनाए रखने और भोजन के बाद पाचन से जुड़ी थकान को रोकने में मदद कर सकता है।

ये भी पढ़े- जिद्दी कब्ज के कारणों को जान लेंगे, तो आसान हो जाएगा उपचार, जानिए क्या है वें

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
  • 123
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख